हम सभी को खाना पसंद होता है, खासतौर पर जंक फूड।
जी हां जब भी हम फ्री होती हैं तो जंक फूड फूड खाना बहुत अच्‍छा लगता है।
शायद यह हमारा favorite pastime बन गया है।
जब हम यंग होती हैं तब इस बात को लेकर हमें कभी परवाह नहीं होती हैं कि कौन सा फूड हमारी बॉडी को नुकसान पहुंचा सकती है और कौन सा फायदेमंद हैं। लेकिन जैसे-जैस उम्र बढ़ने लगती है, हम अपने खाने पर नजर रखने लगती हैं। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि उम्र के साथ हमें हेल्‍थ प्रॉब्‍लम होनी शुरू हो जाती है। High cholesterol एक ऐसी हेल्‍थ प्रॉब्‍लम है जो आमतौर पर ऑयल और जंक फूड खाने से होने लगती है। High Cholesterol Food खाने के बाद हमें क्‍या करना चाहिए, हमें सबसे पहले यह जानना बहुत जरूरी हैं कि वास्‍तव में कोलेस्‍ट्रॉल क्‍या है और यह हमारी बॉडी पर कैसे असर डालता है।

cholesterol level health

Image Courtesy: Twitter (@LivingBetter50)

क्‍या है कोलेस्‍ट्रॉल

कोलेस्ट्रॉल एक फैटी एसिड है जो liver में उत्पन्न होता है और कई शारीरिक काम के लिए जरूरी है। हालांकि, असंतुलित होने पर, यह हमारी बॉडी के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। बहुत से महिलाओं को मानना हैं कि कोलेस्ट्रॉल हेल्‍थ के लिए बुरा है, लेकिन आयुर्वेद का दृष्टिकोण थोड़ा अलग है।

Read more: कोलेस्‍ट्रॉल कम करने के लिए आजमाएं ये 9 Tips

आयुर्वेद में कोलेस्ट्रॉल को एक महत्वपूर्ण तत्व माना जाता है जो हमारी बॉडी में संचार चैनलों का supports और lubricate करता है। यह बॉडी के लिए बुरा नहीं है, लेकिन केवल अमा की उपस्थिति के कारण इसका हानिकारक प्रभाव हो सकता है। अमा कुछ भी नहीं है लेकिन metabolic leftovers जो टाक्सिन के रूप में फैट टिश्‍युओं में जमा होते हैं।

आमतौर पर, अमा एक चिपचिपा, अशुद्ध-गंध, waste end product है जो indigestion के कारण बनता है। लेकिन, अगर यह सिस्टम में बहुत लंबे समय के लिए मौजूद है और ठीक से शुद्ध नहीं है, तो यह amavisha बनाता है। जब इसकी मात्रा सीमा से अधिक हो जाती है, तो यह बॉडी के टिश्‍युओं (dhatus) और अपशिष्ट उत्पादों (malas) को फैलाने और रोकना शुरू कर देता है। जब अमीविशा फैट टिश्‍युओं को रोकता है, तो यह high blood pressure, high cholesterol, और अन्य हार्ट डिजीज जैसी प्रॉब्‍लम्‍स हो सकती है।

cholesterol and junk food

अपने कोलेस्‍ट्रॉल के लेवल को कम करना सबसे महत्‍वपूर्ण बाता है जिसे पर आपको फोकस करना चाहिए, और आप इसे हेल्‍दी डाइट और हेल्‍दी लाइफस्‍टाइल अपना कर सकती हैं। अगर आप ऐसे फूड खाती हैं जिससे आपका कोलेस्‍ट्रॉल लेवल बढ़ता है तो कुछ आयुर्वेदिक उपायों को अपनाकर आप अपनी बॉडी पर इससे होने वाले बुरे असर को कम कर सकती हैं।

1. थोड़ी देर एक्‍सरसाइज करें

भारी और ऑयली डाइट खाने के बाद, intense exercise नहीं करनी चाहिए। बल्कि वॉक के लिए जाना बेहतर होता है। यह एक्‍सट्रा कैलोरी जलाने के लिए हेल्‍प करता है।

2. गर्म या गुनगुना पानी लें

1 या 2 गिलास गर्म पानी को पीने से ऑयली फूड को आसानी से बाहर निकालने में हेल्‍प मिलती है। इसके अलावा यह आपके लीवर, पेट और आंतों को हेल्‍दी रखता है और उन्‍हें होने वाले नुकसान से बचाता है।

3. भोजन के तुरंत बाद सोने से बचें

खाने और सोने के समय के बीच में कम से कम दो से तीन घंटे का अंतर होना चाहिए। लेकिन अगर आप खाने के तुरंत बाद सोने चली जाती हैं तो आपकी एनर्जी इस्‍तेमाल नहीं होती है और यह बॉडी में फैट के रूप में जमा हो जाता है।

junk and health food

4. ऑयली फूड खाने के बाद ठंडा खाने से बचें

ऑयली फूड खाने के बाद आप कुछ भी ठंडा खाने से बचना चाहिए। क्‍योंकि ऑयली फूड खाने के बाद ठंडा जैसे आइस‍क्रीम खाने से लीवर, पेट और आंतों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इसलिए हैवी डाइट के बाद ठंडा खाने से बचें।

5. ये आयुर्वेदिक उपचार करें

कुछ आयुर्वेदिक घरेलू उपाय हैं जो ऑयली फूड के बुरे असर को खत्म करने में हेल्‍प करते हैं।

त्रिफला

थोड़े गर्म पानी के साथ त्रिफला पाउडर की एक चम्‍मच, गौमूत्र और थोड़ा सा शहद दिन में दो बार लेने से इस ऑयली फूड्स के असर को कम करने में हेल्‍प करता है।

गुग्गुलु

गग्गुलू एक जड़ी बूटी है जो कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करने और high cholesterol डाइट के खराब असर को कम करने में हेल्‍प करती है। यह आपको आसानी से गोलियों के रूप में बाजार में मिल जाएगी है। हालांकि, उन्हें लेने से पहले एक डॉक्टर से परामर्श करना बेहतर होता है।

काली मिर्च

लंबे समय से काली मिर्च का इस्‍तेमाल फैट को कम करने और लीवर को उत्‍तेजित करने में हेल्‍प करता है। चूंकि यह गर्म और मसालेदार होता है, इसलिए आपको तीन से चार दिनों तक शहद के साथ दिन में दो बार काली मिर्च की दो चुटकी लेनी चाहिए।

शहद

आयुर्वेद के अनुसार, शहद ऑयली फूड के लिए सबसे अच्छे antidotes में से एक है।

गौमूत्र

गौमूत्र भी ऑयली फूड्स के लिए बहुत अच्‍छा antidotes है। और साथ ही यह मोटापे के लिए best home remedies में से एक है।

उम्‍मीद हैं कि इन टिप्‍स की हेल्‍प से आप अपनी बॉडी में high cholesterol diet के प्रभाव को कम कर पायेगी।

Read more: प्रोटीन लेने से पहले ये जान लें, कहीं आप गलत प्रोटीन तो नहीं ले रहीं