इस दुनिया में शायद ही कोई ऐसा हो जिसे शहद पसंद ना हो। मीठा होने के कारण यह आपके फूड को तो टेस्‍टी बनाता ही है। साथ ही यह आर्टिफिशल स्‍वीटनर के मुकाबले बहुत बेहतर भी है। इन सभी के अलावा इसके कई फायदे भी है। शहद जिसे हनी के नाम से भी जानते हैं। वास्तव में, पौराणिक कथाओं में इसकी प्रमुखता को देखते हुए, इसे अक्सर देवताओं का अमृत कहा जाता है। 

हालांकि शहद में कई तरह के जरूरी पोषक तत्‍व पाए जाते है। लेकिन फिर भी शहद का इस्‍तेमाल संतुलित मात्रा में किया जाना चाहिए। क्‍योंकि इसमें फ्रुक्‍टोज की मात्रा (लगभग 53 प्रतिशत) बहुत ज्‍यादा होती है। एक चम्‍मच शहद में 4 ग्राम फ्रुक्‍टोज होता है, जिसका मतलब यह है कि यह इंसुनिन resistance जैसी स्थिति को बढ़ा सकता है। इसलिए जटिलताओं से बचने के लिए रोजाना 25 ग्राम से कम फ्रुक्‍टोज लेना चाहिए। 

यद्यपि कुछ मामलों में रॉ हनी (or unpasteurized honey) को पसंद किया जाता है, लेकिन कुछ विशेषज्ञ इसका विरोध करते हैं। कुछ अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि रॉ हनी फूड पॉजिनिंग का कारण बन सकता है। 

शहद और दालचीनी का  अकेले शहद लेने की तुलना में ज्‍यादा हेल्‍दी हो सकता है। चूंकि दालचीनी भी सूजन और कैंसर से लड़ सकती है, इसलिए इन दोनों के कॉम्बिनेशन से शहद के फायदे बहुत ज्‍यादा बढ़ जाते हैं। यह कॉम्बिनेशन हार्ट डिजीज के खतरे को भी कम करता है। लहसुन और शहद का कॉम्बिनेशन भी आपकी हेल्‍थ के लिए अच्‍छा होता है। बस आपको इतना करना है कि 2-3 लहसुन की कली को काटकर एक चम्‍मच शहद में मिलाकर लेना है।

इसे जरूर पढ़ेंं: इन ड्रिंक्स को पीने से आपको सर्दी में होगा गर्मी का अहसास

आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट वाजपेयी का कहना है कि ''शहद प्रकृति का अनमोल वरदान है जो आपको कई तरह की बीमारियों से बचाता है। शहद हर तरह की बिगड़ी (खराब) वायु को ठीक करता है, किडनी स्‍टोन को तोड़ता है, पुराने बलगम को खत्म करता है, लिवर को मजबूत करता है, बॉडी को डिटॉक्‍स करता है, महिलाओं का रुका हुआ मासिक-धर्म जारी करता है और दूध को बढ़ाता है। शहद हल्का होता है, पेट मे शहद जाते ही तुरंत पचकर ब्‍लड में मिल जाता है और शरीर में ताकत का देता है। शहद को जिस चीज के साथ लिया जाये उसी तरह के असर शहद में दिखाई देते है। जैसे गर्म चीज के साथ लें तो- गर्म प्रभाव और ठंडी चीज के साथ लेने से ठंडा असर दिखाई देता है। शहद में पोटैशियम होता है, जो रोग के कीटाणुओं का नाश करता है। कीटाणुओं से होने वाले रोग- जैसे आंतरिक बुखार (टायफायड) ब्रान्कोनिमानियां आदि अनेक रोगों के कीटाणु शहद से खत्म हो जाते हैं। इसमें बॉडी के लिए जरूरी मिनरल जैसे मैगनीज, आयरन, कॉपर, सिलिका, पोटैशियम, कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयोडीन, गन्धक, कैरोटिन और एण्टीसेप्टिक तत्व आदि पाये जाते हैं।'' 

शहद के प्रकार

  • Manuka
  • Blueberry
  • Orange blossom
  • Clover
  • Buckwheat
  • Wildflower
  • Alfalfa

इनमें से, मनुका शहद को सबसे अच्छा माना जाता है। और मनुका शहद के फायदों के बारे में हम आपको पहले भी बता चुके हैं। आइए जानें कि शहद आपको कौन-कौन सी बीमारियों से बचाने मं हेल्‍प करता है।

honey for blood pressure

ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल करें

2011 में प्रकाशित एक अध्ययन ने सुझाव दिया कि शहद के हाई ब्‍लड प्रेशर के खिलाफ एक सुरक्षात्मक प्रभाव है। अतिरिक्त कैलोरी से चूहों में वांछनीय प्रभाव देखा गया। एक और मलेशियाई अध्ययन भी इसी तरह के निष्कर्ष सामने आए थे।

कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल करें

एक अध्ययन में, 30 दिनों के लिए 70 ग्राम शहद का सेवन करने वाले लोगों में कोलेस्ट्रॉल के स्तर में 3 प्रतिशत की कमी देखी गई। एक अन्य अध्ययन में 8 प्रतिशत की कमी देखी गई। दिलचस्प बात यह है कि शहद को अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर में भी वृद्धि हुई। एक अन्य बीबीसी रिपोर्ट के अनुसार, शहद कोलेस्ट्रॉल से लड़ता है। शहद में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट free रे‍डिकल्‍स के डैमेज से बॉडी की रक्षा करते हैं।

कोल्‍ड और कफ का इलाज

शोध से पता चलता है कि शहद एक प्रभावी cough suppressant हो सकता है। एक अध्ययन में, रात में खांसी को कम करने और बच्चों में नींद में सुधार करने के लिए शहद को कारगर पाया गया था। अध्ययन में यह भी कहा गया है कि शहद dextromethorphan के रूप में प्रभावी होता है, जो cough suppressants का सामान्य घटक है। गर्म पानी के साथ नींबू लेने से कोल्‍ड को दूर करने में हेल्‍प मिलती है।

घाव और जले का इलाज

शहद के एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण कुछ बैक्टीरिया की वृद्धि को रोकते हैं और इसलिए यह घावों, कटे और जले हुए स्थानों पर तथा खरोंच पर लगाया जाता है।

वजन कम करें

शहद वजन कम करने में एक अहम भूमिका निभाता है। इससे बिना किसी नुकसान के वजन को आसानी से कम किया जा सकता है। यह मेटाबॉलिज़्म को बढ़ाता है जिससे बॉडी का एक्‍सट्रा फैट बर्न होता है। इसके लिए बस आपको सुबह खाली पेट नींबू पानी में शहद मिलाकर सेवन करना हैं।

honey for weight loss

इम्‍यूनिटी बढ़ाए

शहद, विशेष रूप से मनुका शहद, में methylglyoxal अधिक होता है, जो कि शहद की antibacterial activity के लिए जिम्मेदार होता है। यह compound इम्‍यूनिटी को बढ़ाने में हेल्‍प करता है। यह compound cytokines के उत्‍पादन को उत्‍तेजित करता है जो immune responses को व्यवस्थित करने के लिए आपके immune cells द्वारा गुप्त संदेश भेजता हैं।

टॉन्सिलिटिस का इलाज

डेटा बताता है कि मनुका शहद टॉन्सिलिटिस के लिए एक आशाजनक उपाय है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि इसमें methylglyoxal content बहुत ज्‍यादा होता है जो Streptococcus bacterium नामक बैक्‍टीरिया को मारता है, यह टॉन्सिलिटिस के लिए ज़िम्मेदार है। शहद के साथ गर्म पानी टॉन्सिलिटिस के लिए अच्छा इलाज हो सकता है।

दिल के लिए अच्‍छा    

ब्‍लड को साफ करने यानी रक्त शुद्धि के लिए भी शहद का सेवन करना चाहिए। दिल को मजबूत करने, हृदय को सुचारू रूप से कार्य करने और हृदय संबंधी रोगों से बचने के लिए प्रतिदिन शहद खाना अच्छा रहता है। इसके अलावा शहद में एंटीऑक्सीडेंट हार्ट की रक्षा करते हैं।

आंखों के लिए लाभकारी

औषधीय गुणों से भरपूर शहद का उपयोग अनेक बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। शहद खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है और मोतियाबिंद जैसी बीमारियों को भी शहद से दूर किया जा सकता है।

त्‍वचा को पोषण दें

शहद में मौजूद एंटीबैक्टीरियल और नमी प्रदान करने वाले गुण दाग-धब्‍बों को दूर कर त्‍वचा में नई जान भर देते हैं। चेहरे की ड्राईनेस दूर करने के लिए शहद, मलाई और बेसन का उबटन लगाना चाहिए। इससे चेहरे पर चमक आ जाती है।

Recommended Video

कैंसर से लड़ने में मददगार

शहद में phenolic यौगिकों में एंटीकैंसर गुण पाए जाते है जो विभिन्न प्रकार के कैंसर को रोकने में हेल्‍प करता हैं। इसके अलावा शहद में anti-inflammatory गुण भी होते है जो कैंसर को रोकने के लिए सबसे अच्छा माना जाता है। शहद बॉडी की इम्‍यूनिटी को भी व्यवस्थित करता है जो इसे कैंसर उपचार में और प्रभावी बनाने के लिए हेल्‍प करती है। शहद में antiproliferative गुण होते हैं जो कैंसर से आगे बढ़ने से रोकते हैं।

tooth pain health

ओरल हेल्‍थ के लिए अच्‍छा

शहद को पानी में मिलाकर कुल्ले करने से मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं। शहद दांत के दर्द को दूर करने में भी हेल्‍प करता है। दांत में दर्द होने पर कॉटन पैड को शहद में भिगोकर दर्द वाली जगह पर रखने से कुछ ही देर में दांत दर्द से राहत मिलती है।

हीमोग्लोबिन बढ़ाए

शहद हीमोग्लोबिन बढ़ाने में मदद करता है। इसके नियमित सेवन से रक्त शुद्ध होता है और एनीमिया भी दूर हो जाती है। इसमें विटमिन बी और विटमिन सी के साथ एंटीऑक्सीडेंट तत्व भी पाए जाते हैं, जो हमारी इम्‍यूनिटी को बढाने में सहायक होते हैं।

कब्ज दूर करें

पेट की लगभग सभी प्रकार की समस्याh जैसे सूजन, एसिड रिफ्लेक्स, अपच, कब्ज, अल्सर या irritable bowel सिंड्रोम आदि के लिए मनुका शहद बहुत लाभकारी होता है। पेट की समस्याओं को दूर करने के लिए आप गर्म पानी के एक कप में एक चम्मच शहद डालकर लें।

बूस्‍ट एनर्जी 

शुद्ध शहद में कुछ मात्रा में एंजाइम, प्रोटीन, मिनरल और अमीनो एसिड होते हैं - जो किसी व्यक्ति के संपूर्ण एनर्जी लेवल में योगदान कर सकते हैं। इसके अलावा, शहद में artificial sweeteners के मुकाबले अधिक एनर्जी (और स्वस्थ) देता हैं। एक अध्ययन ने यह भी दिखाया है कि physical exercise के दौरान energy levels को फिर से भरने के लिए शर्करा के स्थान पर शहद का प्रभावी ढंग से उपयोग किया जा सकता है।

सांस की बीमारियों में फायदेमंद

विशेषज्ञों के अनुसार दुनियाभर में बनने वाले विभिन्न तरह के शहद allergy, कोलेस्ट्रॉल और सांस से जुड़ी बीमारियों समेत अनेक बीमारियों को ठीक करने में लाभदायक होते हैं। इसके साथ ही शहद अच्‍छे antibiotic भी होते है।

honey for asthma health

चिंता से राहत

चूंकि शहद बेहतर नींद को बढ़ावा देता है, यह अनिद्रा के लिए एक अच्छा इलाज है - जो चिंता के लक्षणों में से एक है। अनुसंधान के अनुसार, सोते समय से पहले शहद के साथ गर्म चाय पीने से चिंता से राहत मिल सकती है।

इसे जरूर पढ़ें: शहद के ही नहीं मनुका शहद के भी है अनगिनत health benefits, जानें

चेहरे पर लाये निखार

शहद का सेवन झाइयां और मुंहासे को दूर कर चेहरे पर कांति लाता है। आप गुलाब जल, नींबू और शहद मिलाकर भी चेहरे पर लगा सकते हैं।

शहद में विटामिन ए, बी, सी, आयरन, कैल्शियम, सोडियम फास्फोरस, आयोडीन पाए जाते हैं। रोजाना शहद खाने बॉडी में शक्ति, स्फूर्ति, और ताजगी पैदाकर रोगों से लड़ने की शक्ति भी बढ़ाता है।