Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    हार्ट अटैक से पहले महिलाओं में दिखने लगते हैं ये 7 लक्षण, एक्‍सपर्ट से जानें

    एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट, मुम्बई के वरिष्ठ कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्‍टर संतोष कुमार डोरा हमें बता रहे हैं कि हार्ट अटैक से पहले महिलाओं में कौन से लक्षण दिख...
    author-profile
    Updated at - 2020-03-12,10:52 IST
    Next
    Article
    heart health women MAIN

    जब हार्ट में ऑक्‍सीजन युक्‍त ब्‍लड का फ्लो अचानक कम हो जाता है, तब हार्ट अटैक होता है। हार्ट अटैक के सबसे सामान्य लक्षणों में सीने में दर्द,‌ सीने पर किसी तरह का दबाव महसूस होना या एक मिनट से अधिक समय के लिए होनेवाली अहसजता का शुमार रहता है। जहां कुछ महिलाओं में इस तरह के लक्षण देखे जाते हैं, वहीं सीने में दर्द से वाले लक्षणों की बात की जाए तो ये पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में अधिक पाए जाते हैं। 

    सीने में होने वाले आम दर्द की बजाय सीने‌ में तीव्र दर्द (एनजाइना) से ग्रसित महिलाए सांस लेने में तकलीफ़, पेट में असहजता, चक्कर आने, पसीना आने, हाथ में दर्द, गर्दन में दर्द जैसी शिकायतों से पीड़ित हो सकती है। पुरुषों के मुक़ाबले महिलाओं को अमूमन इस तरह के लक्षणों का आभास आराम करते वक्त या फिर सोने के दौरान अधिक होता है। कई बार ऐसा भी हो सकता है कि महिलाओं में इस तरह के लक्षण दिखाई ही न दें। हृदय संबंधी बीमारी से मौत का शिकार होनेवाली दो-तिहाई महिलाएं ऐसी होती हैं, जिनमें पहले किसी तरह का कोई लक्षण नहीं पाया जाता है। हार्ट अटैक से पहले महिलाओं में कौन से लक्षण दिखाई देने लगते हैं इस बारे में हमें एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट, मुम्बई के वरिष्ठ कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्‍टर संतोष कुमार डोरा बता रहे हैं।

    इसे जरूर पढ़ें: महिलाओं के लिए #silentkiller है हार्ट अटैक

    back pain health INSIDE

    महिलाओं में हार्ट अटैक से जुड़े कुछ लक्षण

    • गर्दन, जबड़े, कंधे, पीठ की ऊपरी तरफ़ अथवा पेट में तकलीफ़
    • सांस लेने में तकलीफ़
    • एक या दोनों हाथों में दर्द 
    • जी मचलना अथवा उल्टियां होना 
    • पसीना आना
    • चक्कर आना 
    • असामान्य रूप से थकावट 
    • अपचन

    ये तमाम लक्षण असामान्य हैं और इन्हें सीने में होनेवाले तीव्र दर्द की तरह आसानी से नहीं पहचाना जा सकता है। यही वजह है कि महिलाएं इन लक्षणों को समय रहते नहीं पहचान पाती हैं। ऐसे में ज़्यादातर महिलाएं हृदय को भारी क्षति पहुंचने के बाद इमर्जेंसी मामलों के तौर पर सामने आती हैं।

    sad women health INSIDE

    महिलाओं में हार्ट संबंधी बीमारियों का कारण

    महिलाओं में हार्ट संबंधी बीमारियों की मुख्य वजहों में तनाव, बीमारी से संबंधित पारिवारिक इतिहास का होना और रजोनिवृति शामिल है। रजनोनिवृति के बाद महिलाओं में हार्ट संबंधी बीमारियों की आशंका बढ़ जाती है।

    इसे जरूर पढ़ें: जवानी में अजमाएंगी ये तरीके तो 80 साल तक जिएंगी जिंदगी जानिए एक्सपर्ट से

    heart health women INSIDE

    दुनियाभर में हार्ट संबंधी बीमारियां महिलाओं की मौत का एक बड़ा कारण साबित होती है, लेकिन ख़ुशी की बात यह है कि इस बीमारी से बचाव संभव है। उल्लेखनीय है कि अगर महिलाओं को अपनी ज़िंदगी के हर पड़ाव पर हार्ट संबंधी बीमारियों के अनूठे लक्षणों और इसके ख़तरों के बारे में जानकारी हो जाए, तो वे हार्ट संबंधी रोगों से आसानी से बच सकती हैं।

    Image Credit: thesun.co.uk, narayanahealth.org & chicagohealthonline.com

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।