मलाइका अरोड़ा बेशक आजकल फिल्‍मों में दिखाई नहीं देती है, लेकिन अपनी फिटनेस को लेकर हमेशा चर्चा में रहती है। इस उम्र में भी वह इतनी फिट है कि लगभग हर महिला उनकी जैसी फिट बॉडी चाहती है। जी हां मलाइका का नाम बॉलीवुड की सबसे फिट एक्‍ट्रेसेस में लिया जाता है। वह अपनी फिटनेस को लेकर कोई भी समझौता नहीं करती है और रोजाना योग और वर्कआउट करती है। इतना ही नहीं मलाइका सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव है और फैंस को इंस्‍पायर करने के लिए अक्‍सर अपनी फिटनेस के वीडियो और फोटोज शेयर करती रहती है। हाल ही उन्‍होंने अपने इंस्‍टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में मलाइका को सूरज की रोशनी में खड़े होकर विटामिन डी लेते हुए देखा जा सकता है। सूरज की रोशनी के नीचे खड़े होकर विटामिन डी लेना, उनकी रोज सुबह की आदत है जिसे वह अपनी फिटनेस और हेल्‍थ के लिए बेहद जरूरी मानती है। मलाइका ने इस वीडियो के कैप्शन में लिखा, ''विटामिन थेरेपी, घर पर रहें और सुरक्षित रहें!''

इसे जरूर पढ़ें: विटामिन- D की कमी होने पर हमारा शरीर देने लगता है ये 5 संकेत, कभी न करें इग्नोर

 
 
 
View this post on Instagram

#vitamindtherapy#stayhomestaysafe

A post shared by Malaika Arora (@malaikaaroraofficial) onMay 27, 2020 at 9:38pm PDT

विटामिन डी महिलाओं की हेल्‍थ के लिए कितना जरूरी होता है? और यह कैसे उन्‍हें फायदा पहुंचाता है? इसके स्रोत क्‍या है? और कितना लेना चाहिए? इस बारे में जानने के लिए हमने एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट, सीनियर इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट, डॉक्‍टर तिलक सुवर्णा से बात की तब उन्‍होंने हमें इस बारे में विस्‍तार से बताया। 

विटामिन डी महिला के हेल्‍थ के लिए क्यों जरूरी है?

कई स्त्रीरोग संबंधी समस्‍याओं पर विटामिन डी का महत्वपूर्ण प्रभाव होता है अर्थात् पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम (पीसीओडी), एंडोमेट्रियोसिस, डिसमेनोरिया, इनफर्टिलिटी, और ओवरियन और ब्रेस्‍ट कैंसर। प्रेग्‍नेंसी और डिलीवरी के दौरान, महिलाओं को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उसे पर्याप्त विटामिन डी मिलें क्‍योंकि मां और बच्‍चे दोनों की हेल्‍थ के लिए अच्‍छा होता है। बॉडी में विटामिन डी की कमी प्रेग्‍नेंसी के दौरान बहुत आम हैं, जिससे प्रीक्लेम्पसिया और जेस्टेशनल डायबिटीज मेलिटस की समस्‍या हो सकती है।

एक महिला के लिए कितना विटामिन डी जरूरी है?

आवश्यक विटामिन डी उम्र, धूप के संपर्क और कैल्शियम का सेवन जैसे कारकों पर निर्भर करता है। हालांकि, आजकल हम बहुत कम धूप में बैठते है और बहुत कम कैल्शियम का सेवन करते है, जबकि विटामिन डी की 600-700 आईयू (इंटरनेशनल यूनिट) / डे,  9-70 की उम्र के लिए पर्याप्त माना जाता है। 70 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं के लिए, लगभग 800 IU/डे की जरूरत होती है।

expert pic

महिला के शरीर के लिए विटामिन डी कैसे काम करता है?

विटामिन डी हमारे शरीर के लिए कई तरह से फायदेमंद होता हैं। यह बोन मेटाबॉलिज्‍म में एक महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है, कैल्शियम और फास्फोरस के इंटेस्टिनल अवशोषण में मदद करके, हड्डियों को हेल्‍दी बनाने में मदद करता है। विटामिन डी में इम्यूनोमॉड्यूलेटरी और एंटीइंफ्लेमेटरी और गुण होते है जो सेल ग्रोथ विनियमन में मदद करते हैं और इम्‍यून फंक्‍शन में सुधार करता है।

विटामिन डी बहुत कम होने पर क्या होगा?

विटामिन डी के लो लेवल से ऑस्टियोमलेशिया (नरम या कमजोर हड्डियां) फॉल्स या फ्रैक्चर के जोखिम के साथ-साथ हड्डी से संबंधित कुछ स्थितियों में वृद्धि जैसे ऑस्टियोपोरोसिस और आर्थराइटिस हो सकती है।  विटामिन डी और ग्लूकोज मेटाबॉलिज्‍म के बीच संबंध रहा है, विटामिन डी की कमी को कम करने वाले इंसुलिन से जुड़े अध्ययन दिखाते हैं स्राव डायबिटीज मेलिटस के खतरे को बढ़ाता है। यह हार्ट डिजीज और कैंसर के लिए बढ़ते जोखिम से भी जुड़ा है।

vitamin d food

महिला की शरीर में विटामिन डी कम होने के क्‍या लक्षण हैं?

आमतौर पर देखे जाने वाले लक्षणों में थकान, हड्डी और मसल्‍स में दर्द, अक्सर बीमार पड़ना, बालों का झड़ना, मूड में बदलाव और डिप्रेशन आदि शामिल है।

इसे जरूर पढ़ें: विटामिन डी से भरपूर ये 5 फूड्स महिलाओं की हड्डियों को उम्र भर बनाए रखेंगे मजबूत

विटामिन डी के स्रोत क्‍या हैं?

विटामिन डी दो प्रकार के डी 2 और डी 3 होते है। दोनों विटामिन कुछ फूड्स जैसे अंडे की जर्दी, पनीर, और वसायुक्त मछली जैसे ट्यूना, सालमन और सार्डिन आदि शामिल हैं। प्‍लाट बेस फूड के रूप में मशरूम विटामिन डी का एकमात्र प्राकृतिक स्रोत है, जिसमें सबसे अधिक मात्रा में होता है। हालांकि, ये विकल्प सीमित हैं और इस प्रकार, अधिकांश लोग विटामिन डी फोर्टिफाइड फूड्स जैसे दूध, अनाज, आदि के माध्यम से प्राप्‍त करते हैं। विटामिन डी 3 आपको सूरज की रोशनी के संपर्क में आने से आसानी से मिल सकता है।

malika arora health inside

क्या विटामिन डी बालों और त्वचा के लिए अच्छा है?

जी हां, विटामिन डी हमारी स्किन और बालों के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है। चूंकि विटामिन डी सेल ग्रोथ में एक बड़ी भूमिका निभाता है, इसलिए यह त्वचा को बनाए रखने में मदद करता है और बालों के रोम के विकास को उत्तेजित करके स्वस्थ बाल। इसके अलावा इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते है, जो मुंहासे से जुड़े इंफ्लेमेटरी गुणों को दबाने में सहायक है।

अब तो आपको समझ में आ गया होगा कि विटामिन डी हमारी हेल्‍थ के लिए कितना अच्‍छा होता है। इसलिए आपको भी मलाइका की तरह रोजाना सुबह की धूप में कुछ देर बैठकर विटामिन डी जरूर लेना चाहिए। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़े रहें।