सुबह की धूप में बैठना हेल्‍थ के लिए बहुत फायदेमंद होता है। सूरज की किरणों से हमारी शरीर को एनर्जी मिलती है जो शरीर के विकास के लिए बहुत जरूरी है। सूर्य की किरणों में विटामिन डी होता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाता है। इसलिए चिकित्सक भी धूप सेंकने की सलाह देते हैं। लेकिन धूप सेंकने के अलावा कुछ देर सूर्य को निहारें भी। जी हां हम सूर्य त्राटक के बारे में बात कर रहे हैं।

एक कहावत है कि "जिस घर में सूर्य का प्रकाश नही आता वहां बीमारिया आती है" सूर्य के प्रकाश में सात रंगों की मौजूदगी, इंद्रधनुष कहलाती है। ये सात रंग के प्रकाश या किरणें बॉडी के चक्रों को बैलेंस करते है। बॉडी की इम्यूनिटी बढाते है और बीमारी व नेगेटिव एनर्जी से सुरक्षा प्रदान करते है और सूर्य त्राटक करने से आपको यह सारे फायदे मिल सकते हैं।

त्राटक का अर्थ है किसी भी चीज को बिना पलक झपकाएं एकटक देखना। सूर्य की शक्ति के सामने सभी प्रकार की नेगेटिव एनर्जी या नुकसान पहुंचाने वाली शक्तियां नष्ट हो जाती है। सूर्य त्राटक से व्यक्ति इन्हीं शक्तियों को अपने अंदर प्रवाहित करता है। सूर्य त्राटक से आंखों को बहुत फायदा होता है। त्वचा संबंधी बीमारियां दूर होती है, हड्डियों को फायदा होता है, इम्यूनिटी मजबूत होती है और चेहरे पर ग्लो आता है।

इसे जरूर पढ़ें: सर्दियों में सिर्फ 20 मिनट धूप में बैठें, दूर भाग जाएगी बहुत सारी बीमारियां 

sun gazing benefits ()

क्‍या है सूर्य त्राटक

बिना पलक झपकाए खुली आंखों से उगते हुए सूरज को देखने को सूर्य त्राटक कहते है। ऐसा करने से आंखों की रोशनी बढ़ती हैं, आंखों संबंधी रोगों को ठीक किया जा सकता है। डिप्रेशन दूर होता है, याददाश्त और फोकस पॉवर बढ़ाने में हेल्‍प मिलती है। मन शांत रहता है। जिन लोगों का मन अशांत रहता है उनके लिए ये बहुत फायदेमंद होता है। एक टीवी चैनल पर रामदेव बाबा को मैंने यह कहते हुए सुना था। रामदेव बाबा का कहना हैं कि जो सुबह उठने के बाद सूर्य का त्राटक करते हैं उनकी आंखों की रोशनी 100 साल तक अच्छी रहती हैं। ऐसे लोगों को डिमेंशिया की शिकायत नहीं होती है, जो आज के समय में सबसे आम समस्‍या बन गई हैं और इस समस्‍या के होने पर ब्रेन सिकुड़ने लगता है। साथ ही सूर्य त्राटक करने से भूख कंट्रोल करने में हेल्प मिलती है और आपको एनर्जी का अहसास होता है।''

sun gazing benefits for eyes

रामदेव बाबा का कहना हैं कि ''जिन देशों में सूर्य उदय नहीं होता है, उन देशों में लोगों को डिप्रेशन से बचाने के लिए बड़े-बड़े बल्ब लगाने पड़ते हैं। क्योंकि सूर्य की किरणें उदासी दूर कर हमें खुशी का अहसास कराते हैं।'' लेकिन अगर सूर्य की रोशनी तेज हो तो सूर्य त्राटक नहीं करना चाहिए क्‍योंकि इससे आपकी आंखों को नुकसान हो सकता है। यानि आपको सूर्य त्राटक सिर्फ उगते हुए सूर्य को देखकर ही करना हैं।

Recommended Video

सूर्य त्राटक करने का तरीका

  • इसमें उगते हुए सूरज को 10 सेकंड तक देखना होता है। इसे योग में त्राटक कहते हैं।
  • आप चाहे तो बाद में इस समय को बढ़ाकर 30 सेकंड तक कर सकती हैं।
  • त्राटक करने के बाद थोड़ी देर आंखें बंद रखनी होती है।
  • यानि 10 सेकेंड तक खुली आंखों से सूर्य को निहारिये फिर आंखों को बंद करके 2 मिनट तक निहारें।
  • आंखें बंद करने के बाद भी आपको सूर्य और उसके इंद्रधनुष रंग दिखेंगे।  
  • फिर धीरे-धीरे आंखों को मलते हुए अपनी आंखों को खोलिए।
  • आप चाहे तो सूर्य को पानी के प्रतिबिंब में देखकर भी त्राटक कर सकती हैं। त्राटक करने के बाद आंखों को पानी से जरूर धो लें।  

इसे जरूर पढ़ें: सूर्य को रोजाना जल चढ़ाने से बन जाएंगे आपके बिगड़े काम और सेहत भी रहेगी अच्‍छी

sun gazing benefits for energy

सूर्य त्राटक के फायदे

  • सूर्य त्राटक से शक्ति मिलती है और अधिक क्रियाशील महसूस होता हैं। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि इस दौरान हार्मोन का स्राव होता है।
  • सूर्य त्राटक करने से ब्रेन और बॉडी दोनों को पोषण मिलता है। सूर्य की तरफ देखने से खाने की इच्‍छा कम होती है जिससे वजन घटता है। यह मन और इंद्रियों को काबू कर लेता है जिससे अधिक खाने की इच्‍छा नहीं रहती है।
  • सूर्य की तरफ निहारने से आंखों को सुकून मिलता है। यह आंखों को सुकून पहुंचाने वाली एक्‍सरसाइज की तरह काम करती है।
  • जैसा की हम आपको बात चुके हैं कि सूर्य त्राटक से इंद्रियां वश में होती है जिसका मनोवैज्ञ‍ानिक असर होता है। सुबह उठकर खुली हवा में सूर्य को निहारने से व्‍यक्ति के ब्रेन में पॉजिटीव विचार आते हैं। यह तनाव भी दूर करता है और आपको एक्टिव भी रखता है।
All image courtesy: Pxhere.com