क्या आप छठी इंद्री के बारे में जानती हैं? हम में से अधिकांश 5 सामान्य इंद्रियों यानि स्वाद, दृष्टि, गंध, स्पर्श और श्रवण के बारे में जानते हैं। लेकिन छठी इंद्री के बारे में ज्‍यादातर लोग अंजान हैं। छठी इंद्री मूल रूप से एक इंसान की किसी चीज़ को महसूस करने की क्षमता है जो वास्तव में वहां नहीं होती है। उदाहरण के लिए, आपको वास्तव में कुछ होने से पहले ही उसका अनुभव होता है या, आप कुछ सपना देखते हैं और यह सच हो जाता है। यह तब है जब आप अपनी छठी इंद्री का उपयोग कर रहे होते हैं।

छठी इंद्री क्या है?

छठी इंद्री आपके लिए एक मार्गदर्शक की तरह है, इससे आपके लिए सही और गलत के बीच चयन करना आसान हो जाता है। छठी इंद्री अन्य सभी इंद्रियों का एक कॉम्बिनेशन है जो आपके लिए एक मजबूत शक्ति बन जाती है। हर कोई छठी इंद्री के साथ पैदा होता है, हालांकि हम में से बहुत से लोग यह नहीं जानते हैं कि यह कैसे काम करती है। एक अच्छी छठी इंद्रिय होने से हमें निर्णय लेने में अधिक आश्वस्त होने में मदद मिलती है।

इसे जरूर पढ़ें: मेडिटेशन से मिलती है शांति, घर में इस तरह बनाएं मेडिटेशन रूम

 sixth sense inside

यह आपकी छठी इंद्री है जो आपको कुछ भी योजना बनाने या बड़ा कदम आगे बढ़ाने से पहले उन अच्छी और बुरी भावनाओं को प्राप्त करने में मदद करती है। आपने लोगों की कहानियां सुनी होंगी कि उन्होंने पिछले दिनों एक ट्रेन टिकट या फ्लाइट टिकट को केवल इसलिए रद्द कर दिया क्योंकि वे इसके बारे में अच्छा या सही महसूस नहीं कर रहे थे और बाद में उन्हें पता चला कि जिस ट्रेन या विमान में वह जाने वाले थे, वह दुर्घटनाग्रस्त हो गया। यह छठी इंद्री है जो लोगों को इन भावनाओं को प्राप्त करती है और उनके जीवन को किसी भी नुकसान से रोकती है।

छठी इंद्री में कैसे सुधार करें?

जैसा कि मैंने पहले कहा था, हम सभी के पास छठी इंद्री होती है, लेकिन हम अपने चारों ओर के शोर के कारण इससे जुड़ नहीं पाते हैं। अपनी 6 वीं इंद्री के साथ जुड़ने का पहला कदम शांति से कुछ समय निकालकर अपने अंदर की बात को समझना है। इसके अलावा आप नीचे दिए तरीकों से इसे आसानी से जागृत कर सकती हैं।

मेडिटेशन

meditation inside

यह आपकी छठी इंद्री को जागृत करने का सबसे आसान तरीका है। मेडिटेशन दिमाग को शांत करता है और जब आपको काम करने के लिए छठी इंद्री की जरूरत होती है यह आपके साथ होती है। जब आप मेडिटेशन करती हैं तो आपका मन अधिक शांत और रिलैक्‍स महसूस करता है। इससे आपको अपने अंदर की आवाज सुनने में मदद मिलती है। अगर लंबे समय तक नहीं कर सकती हैं तो आपको रोजाना कम से कम 10 मिनट तक मेडिटेशन करना चाहिए।

सपनों को लिखें

ऐसे दिन हैं जब आप कुछ असामान्य सपना देखते हैं और बस इसे अनदेखा करते हैं। हालांकि, ये सपने आपके जीवन में जल्द ही होने वाली किसी चीज़ के संकेत हो सकते हैं। सपने आपके अवचेतन मन में खेलते हैं जब आप सोते हैं और वे सामान्य रूप से आपके जीवन से जुड़े होते हैं। अगली सुबह आप जो सपना देखते हैं उसे अवश्य लिखें, इससे आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि आपके दिमाग में क्या चल रहा है और यह आपके अंतर्ज्ञान को भी मजबूत बनाता है।

त्राटक

tarak inside

यह आपकी छठी इंद्री को जागृत करने का एक और आसान तरीका है। कोई भी वस्तु एक मोमबत्ती, गेंद या एक दीपक लें और जब तक आप बिना पलक झपकाएं इसे देख सकती हैं तब तक देखें। रोज इसका अभ्यास करने से आपकी छठी इंद्री को बढ़ाने में मदद मिलती है।

वाइब्स को महसूस करना शुरू करें

आपको अपने मन की अनदेखी करने से रोकने की आवश्यकता है। कई बार ऐसा भी हो सकता है कि आपको लगता है कि कुछ गलत है या आप जिस व्यक्ति से बात कर रहे हैं उसके इरादे गलत हैं। अगर आप इस तरह का कोई भी खतरा महसूस करते हैं तो उसके अनुसार कार्य करें और अपने दिमाग द्वारा आपको दिए गए ऐसे अलर्ट को कभी भी अनदेखा न करें।

Recommended Video

प्रकृति के नजदीक जाएं

हम सभी अपने कामों में इतना बिजी हो जाते हैं कि प्रकृति की सुंदरता का आनंद लेने के लिए कुछ समय बिताना हमारे लिए वास्तव में मुश्किल हो जाता है। बस प्रकृति के साथ होना, बगीचे में घूमना और सुंदर फूलों को देखना, पक्षियों को चहकते हुए सुनना हमें खुद से जुड़ने का मौका देता है।

इसे जरूर पढ़ें: मेडिटेशन करने में कठिनाई आ रही है तो अपनाएं ये टिप्स

प्राणायाम

प्राणायाम एक और एक्टिविटी है जो आपको छठी इंद्री को जागृत करने में मदद करती है। जब आप प्राणायाम करती हैं तो हवा ब्रेन तक पहुंचती है और यह आपकी छठी इंद्री को मजबूत करने में सहायक होता है।

अपनी छठी इंद्री को मजबूत करने के लिए इन टिप्‍स को फॉलो करें। ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com