सौंफ के बारे में सब जानते हैं, लेकिन मोटी सौंफ से होने वाले स्वास्थ्य लाभों के बारे में कम ही लोगों को जानकारी होती है। मोटी सौंफ न सिर्फ मुंह का स्वाद बढ़ाने के लिए, बल्कि होम रेमेडी की तरह भी इस्तेमाल में लाई जाती है। वैद्य हरिकृष्ण पांडे के अनुसार, 'पेट में दर्द, कब्ज और अपच की समस्या के लिए मोटी सौंफ का सेवन करना हितकर होता है। इसके औषधीय गुणों से महिलाओं को होने वाले मासिक धर्म भी आराम मिलता है। इतना ही नहीं इसका सेवन करने से मूड में भी सुधार होता है।' मोटी सौंफ स्वास्थ्य के लिए किस तरह हितकर है, आइए इस लेख में जानें।

मोटी सौंफ क्या है?

इसे अंग्रेजी में एनीस सीड्स कहा जाता है और इसका पौधा मोटी सौंफ की तरह ही होता है, जिसकी खेती पिछले 4000 सालों से ईजिप्ट में की जा रही है। यह स्वाद में थोड़ा-थोड़ा मुलेठी की तरह लगती है और इसे ब्रेथ फ्रेशनर की तरह इस्तेमाल किया जाता है। यह सामान्य सौंफ से आकार और रंग में अलग होती है। इसका रंग ब्राइट ऑलिव -ग्रीन और ग्रे-ब्राउन हो सकता है और आकार में यह थोड़ी बड़ी और मोटी होती है।

पाचन तंत्र में सुधार 

anise fennel helps in digestion

सौंफ का सेवन करने से अपच की समस्या दूर होती है और इसके औषधीय गुण पेट की सूजन और पेट फूलने की समस्या से निजात दिलाते हैं। कब्ज और आंत के विकारों से जूझ रहे व्यक्ति को मोटी सौंफ का सेवन अवश्य करना चाहिए। इसे रात भर एक ग्लास पानी में भिगोकर रखें और फिर सुबह उठते ही छानकर इसे पीना हितकर होता है।

मासिक धर्म के दर्द से राहत

मेंस्ट्रुएशन शुरू होने से पहले और उसके दौरान महिलाओं को पेट के निचले हिस्से में अक्सर दर्द रहता है, मोटी सौंफ का सेवन उस दर्द में राहत प्रदान कर सकता है। इतना ही नहीं, मेनोपॉज और अनियमित माहवारी की समस्या में भी इसका सेवन लाभकारी होता है। पेट में दर्द या अनियमित माहवारी में रोजाना सुबह खाली पेट एक छोटा चम्मच मोटी सौंफ और गुनगुने पानी पीने से फायदा मिलता है। आप मिश्री और सौंफ का चूर्ण बनाकर, सोने से पहले 3 ग्राम चूर्ण गुनगुने पानी के साथ लें।

इसे भी पढ़ें :Expert Tips: शरीर में दिख रहें हैं ये 7 बदलाव, तो मतलब फिट हैं आप

ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करे

anise fennel control blood sugar level

इसमें एंटी-डायबिटिक कंपाउंड्स होते हैं, जो ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित कर सकते हैं। इसके साथ ही, उसमें फाइटोकेमिकल्स नामक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं, जो तत्व शरीर में इंसुलिन रेजिस्टेंस को कम करता है और शरीर में इंसुलिन की मात्रा को बढ़ाता है। भोजन के बाद एक छोटा चम्मच मोटी सौंफ का सेवन हितकर होगा। आप सामान्य चाय की जगह इसकी चाय बनाकर भी पी सकते हैं।

इसे भी पढ़ें :Expert Tips: जानें क्‍या होता है 'Eating Disorder' और उसके लक्षण

नींद न आने की समस्या होती है दूर

कुछ लोगों को रात में अक्सर नींद न आने की समस्या देखी गई है, लेकिन मोटी सौंफ का सेवन करने से इनसोमनिया नींद न आने की समस्या से राहत मिल सकती है। गर्म पानी के साथ सौंफ का चूर्ण लेने से आपका मेंटल स्ट्रेस कम होता है और थकान में भी कमी आती है। यह मूड को ठीक कर आपकी इस समस्या से राहत दिला सकता है। इतना ही नहीं इसमें शामिल मुख्य घटक एनेथोल में सूजन-रोधी गुण होते हैं, जो दर्द और सूजन में आराम पहुंचाते हैं।

Recommended Video

किसी भी नई चीज का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें और यदि आपको किसी तरह की एलर्जी है, तो इसका सेवन न करें। उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। स्वास्थ्य से जुड़े ऐसे आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

Image Credit: freepik