• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

नारियल दूध और बादाम के दूध में से कौन सा है अधिक हेल्दी

अगर आप नारियल दूध और बादाम के दूध में अंतर जानना चाहती हैं तो एक बार पढ़ें यह लेख।
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial
Published -19 Jul 2022, 15:00 ISTUpdated -19 Jul 2022, 16:02 IST
Next
Article
coconut milk and almond milk difference

दूध हर किसी की डाइट का हिस्सा होना ही चाहिए। कैल्शियम रिच दूध हड्डियों की मजबूती से लेकर शारीरिक विकास में मददगार होता है। चाहे बच्चा हो या बड़ा, हर किसी को दूध का सेवन अवश्य रखना चाहिए। हालांकि, हर व्यक्ति चाहकर भी दूध का सेवन नहीं कर पाता है। दरअसल, कुछ लोग लैक्टोज इनटॉलरेंस होते हैं, जिसके कारण अगर वह दूध का सेवन करते हैं तो इससे उन्हें एलर्जी सहित अन्य कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होने की संभावना बढ़ जाती हैं।

expret ritu puri quote on milk

ऐसे में दूध के कुछ स्वास्थ्यकर विकल्पों का तलाश करने की सलाह दी जाती है और व्यक्ति के दिमाग में नारियल के दूध या बादाम के दूध का सेवन करने का ख्याल आता है। हालांकि, अगर आप इन दोनों में से किसी एक को अपनी डाइट का हिस्सा बनाना चाहती हैं तो आपको इनके बीच के अंतर के बारे में भी पता होना चाहिए।

तो चलिए आज इस लेख में सेंट्रल गवर्नमेंट हॉस्पिटल के ईएसआईसी अस्पताल की डाइटीशियन रितु पुरी आपको नारियल दूध और बादाम के दूध के बीच के अंतर के बारे में बता रही हैं-

नारियल दूध में होती है अधिक कैलोरी 

coconut milk

अगर नारियल दूध और बादाम के दूध की आपस में तुलना की जाए तो नारियल के दूधमें कैलोरी कंटेंट अधिक होता है। नारियल का दूध कैलोरी से भरपूर होता है। जहां 100 ग्राम बादाम का दूध लेने से आपको करीबन 17 कैलोरी मिलती है। वहीं, 100 ग्राम नारियल के दूध से आपको 154-230 कैलोरी मिल सकती है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि दूध कितना गाढ़ा है। गाढ़ा दूध कैलोरी और फैट में अधिक होता है।

इसे जरूर पढ़ें- अपनी डाइट में शामिल करें नारियल का दूध, कब्ज समेत इन रोगों से भी रहेंगी सुरक्षित

पोटेशियम व कैल्शियम कंटेंट

calcium in almond milk

पोटेशियम व कैल्शियम दो ऐसे पोषक तत्व हैं, जो व्यक्ति के शरीर की कार्यप्रणाली को सुचारू रूप से चलाने में मददगार होते हैं। लेकिन अगर इन दोनों मिल्क की तुलना की जाए तो बादाम के दूध में पोटेशियम व कैल्शियम कंटेंट अधिक पाया जाता है। पोटेशियम व कैल्शियम नारियल के दूध में भी होता है, लेकिन इसकी मात्रा काफी कम होती है। ऐसे में अगर किसी व्यक्ति की हड्डियां कमजोर हैं या फिर किसी को ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या है तो उसके लिए बादाम के दूध का सेवन करना अधिक लाभदायक साबित होगा। 

Recommended Video

सोडियम और दूध

milk and sodium

यूं तो बादाम के दूध में पोटेशियम और कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा होती है, लेकिन इसमें सोडियम भी अधिक पाया जाता है। हालांकि, शरीर के अधिक सोडियम का सेवन नुकसानदायक हो सकता है। सोडियम की अधिकता हार्ट से लेकर बीपी, बॉडी वाटर रिंटेशन की समस्या को बढ़ा सकता है। इस लिहाज से अगर देखा जाए तो ऐसे में नारियल के दूध का सेवन करना अधिक अच्छा ऑप्शन साबित हो सकता है।

अन्य फायदे

milk benefits

बादाम का दूध कोलेस्ट्रॉल फ्री होता है और इसमें मौजूद फैट हार्ट को हेल्दी बनाते हैं। इसके अलावा, बादाम के दूध में विटामिन ई की मात्रा अधिक होती है, जो एक एंटीऑक्सिडेंट है जो फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से लड़ता है। इसे वेट लॉस के लिए भी अच्छा माना जाता है।

वहीं, नारियल का दूध पाचन तंत्र को पोषण देने में सहायक होता है, आंत के स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद करता है। इसमें एसिड भी होता है जो ऊर्जा और इलेक्ट्रोलाइट्स के लिए अच्छा होता है जो आपके शरीर को फिर से एनर्जेटिक बनाने में मदद करता है।

इसे जरूर पढ़ें- बादाम के दूध के फायदे तो आपने कई बार सुने होंगे, लेकिन आज जानिए इसके कुछ नुकसान


इस तरह कहा जा सकता है कि बादाम के दूध और नारियल के दूध दोनों के अपने फायदे हैं और आपको किस दूध का सेवन करना चाहिए, यह मुख्य रूप से आपकी हेल्थ कंडीशन पर निर्भर करता है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।