सिरदर्द के पीछे कई वजह हो सकती हैं, कई बार बहुत देर तक कंम्यूटर के सामने काम करने की वजह से भी दर्द शुरू होने लगता है। कभी-कभी यह दर्द सहनीय होता है, लेकिन जब असहनीय होने लगे तो दवाइयां खानी पड़ जाती हैं। हालांकि अगर यह समस्या अक्सर होती है तो शुरुआत में दवाइयों की जगह इन देसी तरीक़ों को आजमा सकती हैं। दर्द के तेज होने से पहले आप इसे आसानी से ठीक कर सकती हैं। खास बात है कि यह हर्ब आपको आसानी से मिल जाएंगे।

आपको बता दें कि सिरदर्द के लिए दवाइयों का सेवन बहुत कम लोग करते हैं। वहीं अक्सर लोग सिरदर्द ठीक करने के लिए इन नेचुरल हर्ब का इस्तेमाल करते रहते हैं, ऐसे में अगर आपने यह ट्राई नहीं किया है तो एक बार जरूर करें। तो चलिए जानते हैं इन नेचुरल हर्ब का इस्तेमाल किस तरह से किया जा सकता है।

मेहंदी के पत्ते

henna plant

मेहंदी के पत्तों का इस्तेमाल अमूमन बालों की खूबसूरती बढ़ाने के लिए किया जाता है, लेकिन इसके पत्तों के इस्तेमाल से सिरदर्द को भी ठीक किया जा सकता है। कई लोग रातभर के लिए मेहंदी के पत्तों को पानी में भिगोकर रख देते हैं और अगली सुबह इसे छान कर पी लेते हैं। अगर आप पीना नहीं चाहती हैं तो मेहंदी के पत्तों को पीस कर इसके पेस्ट को अपने सिर पर लगा लें। इससे आपको न सिर्फ ठंडक पहुंचेगी बल्कि सिरदर्द की समस्या भी दूर हो जाएगी।

नीम के पत्ते

neem leaves

नीम के पत्ते औषधीय गुणों के लिए जाने जाते हैं। पेट की बीमारी हो या फिर घाव अक्सर इन पत्तों का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में नीम का तेल सिरदर्द के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। घर पर आप आसानी से नीम का तेल बना सकती हैं। इसके लिए आपको नीम के पत्तों को नारियल तेल में डुबोकर कुछ वक़्त तक धूप में स्टोर करना होगा। अब इस तेल से अपने सिर की मालिश करें। आप चाहें तो मार्केट से भी नीम ऑयल खरीद कर उसका इस्तेमाल कर सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: गर्मियों में किस तरह से खाएं फल? एक्सपर्ट से जानें किन फ्रूट्स को नहीं खाना चाहिए दूध के साथ

एलोवेरा जेल

aloe vera gel

कई महिलाओं के ब्यूटी केयर रूटीन का अहम हिस्सा होता है एलोवेरा। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स दर्द और सूजन जैसी समस्याओं को दूर करने के लिए सहायक माने जाते हैं। इसके लिए फ्रेश एलोवेरा के पत्तों की जेल को अपने माथे पर लगाए रखें। इसके अलावा आप चाहें तो फ्रेश एलोवेरा जेल में दो बूंद लौंग का तेल और एक चुटकी हल्दी मिक्स कर दें। अब इस पेस्ट को अपने माथे पर करीबन 20 मिनट तक लगाए रखें, इससे ठंडक का एहसास होगा और आप हल्का महसूस करेंगी।

 

Recommended Video

पिपरमिंट ऑयल या फिर पत्ते

peppermint uses

पिपरमिंट में एंटीबैक्टीरियल, एंटीसेप्टिक, और पेनकिलर आदि गुण होते हैं जो कई बीमारियों के लिए फ़ायदेमंद माने जाते हैं। तनाव या फिर मौसम में बदलाव होने की वजह से सिरदर्द हो रहा है तो पिपरमिंट के पत्तों को पीसकर अपने माथे पर लगाएं। आप चाहें तो पिपरमिंट ऑयल का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। पिपरमिंट के पत्ते या ऑयल का इस्तेमाल करते हुए मात्रा का ध्यान जरूर रखें। सिरदर्द के अलावा यह अन्य किसी हिस्से में हो रहे दर्द से निजात दिलाने में भी मदद करता है। इसके लिए आपको पिपरमिंट ऑयल से मसाज करनी होगी।

इसे भी पढ़ें: चेहरे और गर्दन के फैट के लिए ये 3 एक्‍सरसाइज रोजाना करें

विलो बार्क

willow bark

विलो बार्क हर्ब का इस्तेमाल एस्प्रिन सप्लिमेंट में भी किया जाता है। यह सिरदर्द से निजात दिलाने के लिए सहायक माना जाता है। कई लोग उसकी छाल या फिर पत्तियों का इस्तेमाल चाय बनाने या फिर अन्य चीजों को बनाने के लिए करते हैं। अगर आप रिलैक्स होने के लिए कैमोमाइल, या फिर तुलसी के पत्तों को मिलाकर चाय बना रही हैं तो उसमें विलो बार्क का भी इस्तेमाल करें। इससे आपको सिरदर्द से भी राहत मिलेगी।

 

यह आर्टिकल आपको अच्‍छा लगा हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें। साथ ही इसी तरह और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।