सर्दियों के मौसम का अपना एक आकर्षण है। गर्म चाय या कॉफ़ी, गर्म कपड़े और कंबल, सुबह का कोहरा और सूर्यास्त का जल्दी होना- हर किसी को सर्दी पसंद होती है। लेकिन इस मौसम के दौरान त्‍वचा में ड्राईनेस के साथ-साथ अकड़न महसूस होती हैं। शायद आपने भी सर्दियों के दौरान होने वाली अकड़न को नोटिस किया होगा। जी हां सर्दियों के दौरान ब्‍लड को हमारे हाथों और पैरों, जोड़ों और मांसपेशियों से हृदय और फेफड़ों जैसे महत्वपूर्ण अंगों तक पहुंचाया जाता है लेकिन हमारे जोड़ों और मांसपेशियों को आवश्यक गर्मी खोने के कारण वह टाइट और सिकुड़ जाते हैं। इसे विंटर स्टिफनेस कहा जाता है। अगर आपको भी ऐसा ही कुछ महसूस होता है तो परेशान होने की जरूरत नहीं क्‍योंकि योगा मास्टर, फिलांथ्रोपिस्ट, धार्मिक गुरू और लाइफस्टाइल कोच ग्रैंड मास्टर अक्षर इस समस्‍या से छुटकारा दिलाने वाले 5 योगासन के बारे में बता रहे हैं।

अश्व संचालन आसन

ashwa sanchalan asana inside

इस आसन को करने से शरीर में लचीलापन आता है, कमर दर्द से छुटकारा मिलता है और पैरों और हाथों की एक्सरसाइज होती है जिनसे दर्द दूर होता है। सुबह उठते ही इस आसन को करने से आलस दूर होता है।

इसे जरूर पढ़ें:अकड़ी हुई पीठ को ठीक करने का ये है असरदार तरीका, बिपाशा बसु ने शेयर की तकनीक

अश्व संचालन आसन करने का तरीका

  • अधोमुख श्वानासन से शुरूआत करें। 
  • फिर सांस अंदर लें और अपने दाहिने पैर को अपनी हथेलियों के बीच में लाएं। 
  • घुटने फर्श के समानांतर और टखने के ठीक ऊपर होने चाहिए। 
  • बाएं पैर और घुटने फर्श पर होने चाहिए, पैर की उंगलियां बाहर की ओर होनी चाहिए। 
  • आगे की ओर देखें और सीधे रहें। आसन में टिके रहने की कोशिश करें। 
  • दाएं पैर को पीछे ले जाएं और बाएं पैर से दोहराएं।

ड्वी-कोण आसन

dwi konasana inside

इस आसन को सुबह के समय करने से सर्दियों में होने अकड़न को दूर किया जा सकता है।

ड्वी-कोण आसन करने का तरीका

  • इस आसन को सीधे खड़े होकर शुरू करें। 
  • हथेलियों को पीठ के पीछे रखें, हथेलियां ऊपर की ओर होनी चाहिए। 
  • सांस छोड़ें और हिप्‍स की ओर से आगे झुकें। 
  • पीठ को फर्श के समानांतर रखने की कोशिश करें और बाहों को भी ऊपर उठाएं।

बद्ध-कोण आसन

baddha konasana yoga inside

इस आसन को करने से पूरे शरीर में ब्‍लड सर्कुलेशन सुधारने में मदद मिलती है जिससे शरीर में लचीलापन आता है और अकड़न की समस्‍या दूर होती है।

बद्ध-कोण आसन करने का तरीका

  • अपने पैरों को आगे बढ़ाकर बैठने से शुरू करें। 
  • धीरे-धीरे अपने पैरों को मोड़ें और अपने पैरों को एक साथ लाएं ताकि आप के तलवे छू रहे हों। 
  • इसे अपने पेल्वि‍क के करीब लाएं। दोनों घुटनों को ज़मीन पर रखने की कोशिश करें। 
  • सांस छोड़ें और आगे की ओर झुकें। अपने माथे को जमीन से छूने की कोशिश करें।

Recommended Video

उभय पाद अंगुष्ठ आसन

ubhaya padangushthasana inside

उभय पाद अंगुष्ठ आसन को करने से भी सर्दियों में सुबह के समय होने वाली अकड़न को दूर करने के साथ पीठ को मजबूत बनाया जा सकता है।

उभय पाद अंगुष्ठ आसन करने का तरीका

  • अपने पैरों को आगे बढ़ाकर बैठने से इस आसन की शुरुआत करें। 
  • अपने पैरों को अपने घुटनों पर मोड़ें और अपने पैरों के बड़े उंगलियों को पकड़ें। 
  • धीरे-धीरे अपने पैरों को ऊपर उठाएं और अपने कूल्हों पर अपने शरीर के वजन को संतुलित करें। 
  • घुटनों को सीधा रखने की कोशिश करें और कुछ सेकंड के लिए आसन में रहें।

अर्ध बद्ध पद्म पश्मिोत्तानासन

ardha baddha padma paschimottanasana inside

यह आसन जोड़ों का लचीलापन बढ़ाता है खासतौर पर इसे करने से घुटनों और हिप्‍स के जोड़ों का लचीलापन बढ़ता है। यह पीठ की मसल्‍स में स्‍ट्रेच लाता है और रीढ़ की नसों में ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है। इसके अलावा इससे कंधों और पिंडलियों में स्‍ट्रेच और मजबूती आती है।

इसे जरूर पढ़ें:सुबह पीठ में अकड़न महसूस होती है तो दीपिका सिंह का बताया ये आसान उपाय करें

अर्ध बद्ध पद्म पश्मिोत्तानासन करने का तरीका

  • दोनों पैरों को आगे की तरफ करके बैठे। 
  • दाहिने पैर को मोड़ें और दाहिने पैर को बाईं जांघ पर अर्ध्य पद्मासन में रखें। 
  • दाहिने हाथ को पीठ के पीछे से लाएं और दाहिने पैर के बड़े अंगूठे को पकड़ें।
  • बाएं हाथ से बाएं पैर के बड़े अंगूठे को पकड़ें। 
  • सांस छोड़ें और जितना हो सके आगे की ओर झुकें। 
  • आसन जारी करें और बाएं पैर के साथ भी प्रयास करें।

इन योगासन को करके आप भी सुबह के समय शरीर में होने वाली अकड़न को दूर कर सकती हैं। फिटनेस से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।