कई महिलाओं को पीरियड्स के दौरान बहुत ज्‍यादा दर्द और ऐंठन का अनुभव होता है जो उनके मूड और हेल्‍थ दोनों को प्रभावित करता है। कुछ महिलाओं को तो इस दौरान पेट फूलने की शिकायत भी होती है। इन समस्‍याओं से छुटकारा पाने का सबसे अच्‍छा तरीका फिजिकल एक्टिविटी है लेकिन पीरियड्स के दौरान योग और एक्‍सरसाइज न करने की सलाह दी जाती है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि कुछ योगासन पीरियड्स के फ्लो में बाधा उत्‍पन्न नहीं करते हैं और थकावट को दूर करने में मदद करते हैं। जी हां एक महिला को पीरियड्स में योग करने से पूरी तरह से बचना चाहिए, इस मिथ को तोड़ते हुए सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर ने हाल ही में अयंगर योग अनुक्रम से आसान योगासन शेयर किए हैं जो महिलाओं को अपने पीरियड्स को पेन फ्री बनाने और रिलैक्‍स महसूस करने के लिए इस दौरान जरूर करना चाहिए। इस आर्टिकल में उन आसनों की लिस्‍ट दी गई है जिनकी उन्‍होंने सिफारिश की थी।

सुप्त बुद्ध कोणासन

yogaposes for periods INSIDE

आप इस मुद्रा को 3-5 मिनट तक कर सकती हैं। सा‍थ ही इससे आपके पेल्विक एरिया और हिप्‍स में लचीलापन बढ़ता है। इसके अलावा यह आपके शरीर में ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाकर आपके एनर्जी लेवल को बढ़ाता है।

इसे जरूर पढ़ें: पीरियड पेन को दूर भगाने के लिए रुजुता दिवेकर के बताए ये 3 योगासन करें

अधोमुख वीरासन

इस योग को पीरियड्स के दौरान करने के लिए घुटनों के बीच एक गोल तकिया लंबा करके लगाएं। ऐसा 2-3 मिनट तक करें। आप रुजुता दिवेकर द्वारा शेयर की फोटो को देखकर योग को आसानी से कर सकती हैं।

बद्ध कोणासन

इस आसन को करते समय बैक सपोर्ट के लिए दीवार और गोल तकिए का इस्तेमाल करें। ऐसा 2-3 मिनट तक करें।

उपविष्ठ कोणासन

अपनी पूरी पीठ को सपोर्ट देने के लिए एक गोल तकिए या दीवार का इस्‍तेमाल करें और रीढ़ को ऊपर उठाने के लिए एक मुड़े हुए कंबल पर बैठें। हाथों को अपनी तरफ रखना बेहतर होता है। इस योगासन को 2-3 मिनट तक करने की सलाह दी जाती है।

अधोमुख उपविष्ठ कोणासन

फर्श के आगे झुकने की बजाय, चेयर को पैरों के बीच रखें। जब आप सांस छोड़ते हैं तो चेयर के साइड बार को पकड़ें और अपने माथे को चेयर पर आराम से रखें।  ऐसा 2-3 मिनट तक करें।

जानुशीर्षासन

 
 
 
View this post on Instagram

It’s important to stretch and flex the muscles often, to prepare the body, safeguarding our bodies from injuries and for the activities we take on. It could be cleaning and decluttering the house, or preparing for the daily fitness routine. I love this one, the Janu Sirshasana. It increases flexibility in the spine, abdomen, and back muscles, while strengthening the stomach muscles. It also improves the function of the intestines and boosts the digestion process. The best part is that I can practice it any time, anywhere. Try it and the more you practice the better you get... How did you start your day today? @shilpashettyapp . . . . . #MondayMotivation #SwasthRahoMastRaho #WorkoutAtHome #FitIndia #GetFit2020 #StayHomeStayHealthy #yoga

A post shared by Shilpa Shetty Kundra (@theshilpashetty) onJun 1, 2020 at 1:30am PDT

आप इस योगासन को ठीक उसी तरह से कर सकती हैं जैसे इंस्‍टाग्राम के इस वीडियो में शिल्‍पा कर रही हैं लेकिन चेयर या बोल्ट के साथ। घुटने को छूने के लिए आगे झुकने की बजाय, अपने माथे को चेयर या बोल्ट पर आराम से रखें। इसे दोनों तरफ से 1-2 मिनट करें।

पश्चिमोत्तानासन

अपने घुटनों को छूने के लिए आगे झुकने के बजाय, अपने पिंडली पर लंबा करके एक बोल्ट रखें और उस पर अपने माथे को रखें। ऐसा 2-3 मिनट तक करें।

सुप्त पादांगुष्ठासन

इस आसन को भी रुजुता द्वारा शेयर की गई फोटो को देखकर करें। आपको बस इतना करना है कि इसे सपोर्ट देने के लिए बोल्ट पर पैर को आराम से रखना है।

सेतुबंध सर्वांगासन

पीरियड्स होने पर आसन के इस विकल्प को आजमाएं। 3-5 मिनट तक करें।

 

शवासन

yogaposes for periods INSIDE

शवासन करने के लिए आपको अपनी पीठ के बल लेटने और रिलैक्‍स करने की आवश्यकता होती है। लेकिन इसे अलग करने के लिए, अपने पैरों को चेयर या बोल्ट पर रखकर झुकें। 

यह योगासन शरीर को रिलैक्‍स और पीरियड्स में होने वाले पेन और ऐंठन से राहत देने में मदद करते हैं। यह रिप्रोडक्टिव हेल्‍थ को बेहतर बनाने में भी मदद करते हैं। अयंगर योग अनुक्रम के अनुसार, यहां पीरियड्स के दौरान योग करने के टिप्स दिए गए हैं-

इसे जरूर पढ़ें: दवाओं को भूल जाएं, पीरियड्स पेन को रोकेंगे ये 5 आसान उपाय

पीरियड्स के दौरान योग करने के टिप्‍स

  • एनर्जी की बचत करें और खुद को थकाएं नहीं।
  • पीरियड्स में योग नर्वस सिस्‍टम को शांत और हार्मोनल संतुलन लाने के लिए किए जाते हैं। 
  • तनाव और उत्तेजना से बचें। यह आपके भीतर के स्व से जुड़ने का समय है।
  • उन आसनों का अभ्यास करें जो पेट के निचले हिस्से को खोलते हैं।
  • जहां भी संभव हो सिर को सहारा देकर रखें।
  • इस समय कोई भी उल्‍टा, बैकबेंड, आर्म बैलेंसिंग, तेज या पेट के आसन करने से बचें। सपोर्ट के लिए दीवार और तकिए का इस्‍तेमाल करें।

अब तो आपको समझ में आ गया होगा कि पीरियड्स में योग करना बुरा नहीं अच्‍छा होता है। इन योगासन और टिप्‍स को अपनाकर आप भी पीरियड्स में होने वाले पेन से छुटकारा पा सकती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।