• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

योग और प्राणायाम में क्या है अंतर? जानें इसके फायदे भी

आपने कई बार योग या प्राणायाम किया होगा, लेकिन क्या आपको पता है कि इन दोनों में क्या फर्क है? अगर नहीं तो पढ़ें यह लेख।  
author-profile
Published -23 Sep 2022, 16:43 ISTUpdated -23 Sep 2022, 16:55 IST
Next
Article
difference between yoga and pranayama

भारत में योग करने की परंपरा बहुत पुरानी है, जिसे लोग अपनी दिनचर्या शामिल करते आए हैं। मगर लाइफस्टाइल इतनी खराब हो गई है कि योग हमारे जीवन का एक अहम हिस्सा बन गया है क्योंकि योग करने से न सिर्फ शरीर का शेप बरकरार रहता है बल्कि मन को शांति भी मिलती है। 

हालांकि, आजकल लोग बिजी शेड्यूल होने की वजह से एक्सरसाइज करने की बजाय योग या प्राणायाम को प्राथमिकता देने लगे हैं, लेकिन कई लोगों को ये लगता है कि योग और प्राणायाम एक ही होते हैं, तो आपको बता दें कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। 

यह दोनों एक-दूसरे से काफी अलग हैं और इनके फायदे भी काफी अलग होते हैं। तो आइए जानते हैं कि योग और प्राणायाम में क्या अंतर है।  

क्या है योग? 

What is Yoga

योग एक शारीरिक व्यायाम है जिसमें प्रवाह के क्रम से जुड़े आसन शामिल हैं। योग का शाब्दिक अर्थ है जुड़ना या जोड़ना होता है। योग आमतौर पर सांस लेने के व्यायाम के साथ होता है और विश्राम लेटने और ध्यान के साथ समाप्त होता है। (गर्मी में वर्कआउट करते समय ना करें ये लापरवाही)

इसे ज़रूर पढ़ें- Health Tips: रोजाना करेंगी ये 2 प्राणायाम तो वजन होगा कम और स्किन करेगी ग्‍लो

क्या है प्राणायाम? 

What is Pranayam

प्राणायाम श्वास पर ध्यान केंद्रित करने के योग अभ्यास को संदर्भित करता है। प्राणायाम का मूल अर्थ जीवन ऊर्जा को ऊपर उठाना है। प्राणायाम प्रमुख हिन्दू धार्मिक ग्रंथों में अपना स्थान पाता है, जिसमें भगवद गीता और पतंजलि के योगसूत्र शामिल हैं। प्राणायाम का अभ्यास हठ योग ग्रंथों में श्वास के पूर्ण निलंबन को संदर्भित करता है। 

दोनों में बेसिक अंतर 

Yoga aur Pranayam Difference

  • योग शब्द का अर्थ जुड़ना या जोड़ना होता है। वहीं,  प्राणायाम शब्द का अर्थ है श्वास का योग होता है। 
  • योग एक प्रकार का व्यायाम है, जो शरीर को लचीला बनाने का काम करता है। वहीं, प्राणायाम कुछ अभ्यासों के माध्यम से श्वास का नियम है।
  • योग आमतौर पर प्राणायाम को सफल बनाता है। वहीं, प्राणायाम योगासन के बाद किया जाता है। 
  • योग अस्थमा जैसी बीमारियों को ठीक करने में मदद करता है। वहीं, प्राणायाम हृदय गति और रक्तचाप को नियंत्रित करनेमें मदद करता है।

योग और प्राणायाम के फायदे 

Benefits of  Yoga aur Pranayama

हालांकि, योग औरप्राणायाम के फायदे भी आपके शारीरिक स्वास्थ्य पर निर्भर करते हैं। उम्मीद है कि आपको ये जानकारी पसंद आई होगी। अगर आपको ये लेख पसंद आया हो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। साथ ही जुड़ी रहें हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (@Freepik) 

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।