चलना हमारी सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है ये तो सभी को पता है, लेकिन चलने से आखिर हमारे शरीर में क्या बदलाव होते हैं इनके बारे में शायद आपको न पता हों। दरअसल, चलना सेहत के लिए इसलिए अच्छा माना जाता है क्योंकि इससे शरीर की पूरी हेल्थ पर असर पड़ता है। ये सिर्फ पैरों की एक्सरसाइज नहीं है बल्कि इससे काफी हद तक आपके दिमाग तक पर असर पड़ सकता है। 

बाकी किसी भी एक्सरसाइज की तुलना में चलने से हमें थकान कम होती है और हम रिलैक्स ज्यादा कर पाते हैं। ये दिखने में भले ही आसान होती है, लेकिन ये वजन कम करने के लिए बहुत बेहतर है। ये आपकी पूरी हेल्थ पर असर कर सकती है। तो चलिए आज थोड़ा वॉकिंग के बारे में जान लें। 

चलने को लेकर क्या कहती है रिसर्च?

National Center for Biotechnology Information (NCBI) ने अमेरिकी अर्थराइटिस फाउंडेशन के वॉक प्रोग्राम पर रिसर्च की और बताया कि 30 मिनट वॉकिंग कितनी फायदेमंद हो सकती है। अर्थराइटिस फाउंडेशन के अनुसार 30 मिनट की मॉडरेट वॉकिंग से मसल्स की स्टिफनेस, दर्द, जलन और ज्वाइंट्स पर इसका असर कम हो सकता है। 

daily walk benefits

चलना हम बचपन में सीखते हैं, लेकिन बड़े होते-होते चलने के फायदों को भूल जाते हैं। अब धीरे-धीरे कर बच्चों का चलना भी कम हो रहा है और ये सही तरीका नहीं है। इससे चाइल्ड ओबेसिटी की समस्या भी बढ़ रही है और लोगों को पैरों से जुड़ी समस्याएं भी शुरू हो रही हैं। 

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- गर्दन और पीठ के फैट से खराब हो गया है बॉडी शेप तो सिर्फ 10 मिनट करें ये एक्सरसाइज

क्या होते हैं 30 मिनट वॉक करने के फायदे?

अगर आप दिन में रोज़ाना 30 मिनट चलते हैं तो आपको ये सारे फायदे हो सकते हैं-

  • दिन में कम से कम 30 मिनट चलने से Alzheimer’s बीमारी का खतरा कम होता है। चलने से एंडोर्फिन्स रिलीज होते हैं जिससे तनाव दूर होता है। ये आपकी पूरी हेल्थ पर असर करता है। 
  • इससे glaucoma जैसी आंखों की समस्या से रिलैक्सेशन मिल सकता है। तेज़ दौड़ने से कैलोरी ज्यादा कम हो सकती है, लेकिन चलने से भी आंखों का स्ट्रेस कम होता है। 
  • चलना एक एरोबिक एक्सरसाइज है और इसका मतलब ये है कि ये आपके ऑक्सीजन फ्लो को ठीक करती है। शरीर में अगर ऑक्सीजन फ्लो सही रहेगा तो इससे टॉक्सिन और वेस्ट प्रोडक्ट्स ज्यादा बेहतर तरीके से हट पाएंगे। 
  • ये हमारे लंग्स के लिए भी बहुत असरदार हो सकती है। 
  • कुछ रिसर्च का मानना है कि चलना शरीर को डायबिटीज से बचाने के लिए ज्यादा अच्छा साबित हो सकता है। 
  • दिन में 10,000 कदम चलना जिम वर्कआउट की तरह ही माना जाता है। अगर आप पावर वॉक करेंगे तो ये जिम के कार्डियो रूटीन जैसा ही होगा। 
  • जोड़ों की समस्या को चलना कम कर सकता है। अगर आपकी बोन डेन्सिटी कम है तो ये लगातार चलना फ्रैक्चर के खतरे को कम कर सकता है। 
  • अगर किसी को बैक पेन जैसी समस्या है तो ये बहुत अच्छी एक्सरसाइज हो सकती है।  
daily walking and effects

इसे जरूर पढ़ें-  10 किलो तक कम करना है वजन तो एक्सपर्ट के बताए ये योगा आसन करेंगे मदद 

चलने के लिए आपको FIT फॉर्मूला का ध्यान रखना चाहिए। F मतलब फ्रीक्वेंसी यानि कितनी बार आप चलते हैं, I मतलब इंटेंसिटी यानि कितना तेज़ आप चलते हैं और T मतलब टाइम यानि कितनी देर के लिए आप चलते हैं।  

अपने एक्सरसाइज रूटीन को फॉलो करते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।