तन और मन को दुरुस्‍त रखने के लिए योग बहुत फायदेमंद होता है। इसलिए हम समय-समय पर आपको योग के बारे में जानकारी देते रहते हैं। आज हम आपको सर्वांगासन के बारे में बता रहे हैं। जी हां सर्वांगासन कई स्वास्थ्य लाभों से भरपूर योग में से एक है। यह संपूर्ण शरीर प्रशिक्षण का दृष्टिकोण है।

सर्वांगासन संस्कृत शब्द 'सर्व' से बना है जिसका अर्थ है 'संपूर्ण', 'अंग' का अर्थ है 'शरीर के अंग' और 'आसन' का अर्थ है 'मुद्रा' जिसका अर्थ है कि यह एक एकल योग मुद्रा है जो शरीर के हर हिस्से पर काम करती है। 

यह उन कुछ योगासनों में से एक है जो सिर से पैर तक पूरे शरीर पर काम करती है। अगर आप सर्वांगासन के स्वास्थ्य लाभों के बारे में जान जाएंगी तो आप इस योग मुद्रा को हर दिन करना पसंद करेंगी, क्योंकि यह आपके शरीर के सभी आंतरिक अंगों को मजबूत और हेल्‍दी रखता है। इसे शोल्डर पोज भी कहा जाता है।

सर्वांगासन ब्‍लड सर्कुलेशन को नियंत्रित करता है, हेल्‍दी थायरॉयड ग्रंथि को बनाए रखता है, कब्ज का इलाज करता है, बालों का झड़ना कम करता है, तनाव का लेवल कम करता है, नींद की गुणवत्ता में सुधार करता है, वजन को मैनेज करता है, स्वस्थ हार्मोनल संतुलन को बढ़ावा देता है, वेरिकोज वेन्‍स को कम करता है और ऐसे ही कई फायदों के बारे में हम इस आर्टिकल में चर्चा करेंगे। इसे करने के तरीके और फायदों के बारे योग गुरू नेहा जी रही हैं। योगा गुरु नेहा, द योग गुरु तथा वुमेन हेल्‍थ रिसर्च फाउंडेशन (ट्रस्‍ट) की संस्‍थापक हैं।

सर्वांगासन करने का तरीका

sarvangasana benefits for heart

  • आराम से पीठ के बल लेट जाएं।
  • सांस छोड़ते हुए कमर को जमीन से ऊपर उठाते हुए अपने दोनों पैरों को ऊपर उठाएं।
  • शरीर को अतिरिक्त सहारा देने के लिए अपने हाथों को लें और उन्हें अपनी पीठ के नीचे रखें।
  • अपने पैरों, कमर और पीठ को एक सीध में ले आएं।
  • अपने पूरे शरीर को एक सीध में लाने के लिए अपने धड़ को आसमान की ओर तानें।
  • इस समय आपका शरीर जमीन से सीधा होगा। 
  • पूरे शरीर के वजन को अपनी बाहों के सहारे कंधों से ऊपर उठाना चाहिए।
  • 10 सेकेंड के लिए इस पोजीशन में अपने शरीर को पकड़ना शुरू करें।
  • अब धीरे-धीरे अपने पैरों को घुटनों से मोड़ें और धीरे-धीरे अपने शरीर को शुरुआती पोजीशन में लाएं।
  • कुछ सेकेंड के लिए आराम करें और इस योग मुद्रा को 3-4 बार करने का प्रयास करें।

सर्वांगासन के फायदे

वेरिकोज वेन्‍स को करता है कम 

sarvangasana benefits by expert

वेरिकोज वेन्‍स बढ़ी, सूजी और मुड़ी हुई वेन्‍स होती हैं जो गतिहीन जीवन शैली, वजन बढ़ने, लंबे समय तक खड़े रहने और प्रेग्‍नेंसी के कारण होती हैं। यह पैरों की सूजन को कम करने में भी मदद करता है। सर्वांगासन विपरीत गुरुत्वाकर्षण खिंचाव के कारण विपरीत दिशा में ब्‍लड फ्लो बनाकर प्रेशर को मुक्त करने में मदद करता है। 

इस योग का नियमित अभ्यास करने से आपको उन बढ़ी हुई और सूजी हुई वेन्‍स से छुटकारा मिल जाएगा जो अधूरे ब्‍लड फ्लो के कारण होती हैं।

यूट्रस के लिए फायदेमंद

यह आसन यूट्रस और रिप्रोडक्टिव सिस्‍टम के लिए बहुत अच्‍छा होता है। जब इसे करते हुए पैर ऊपर की ओर जाते हैं तब ब्‍लड की सप्‍लाई पूरी पेल्विक एरिया में आ जाती है। इससे सिस्‍ट और पीसीओडी की शिकायत में बहुत अच्‍छा होता है। 

Recommended Video

हार्ट के लिए अच्‍छा

सर्वांगासन दिल से संबंधित बीमारियों के लिए बहुत अच्‍छा होता है। अपनी उलटी स्थिति के कारण आपके दिल को उन अंगों को ऑक्सीजन युक्त ब्‍लड प्रदान करने के लिए कम काम करना पड़ता है, जिन तक पहुंचना मुश्किल था, जो हार्ट पर तनाव को दूर करने में मदद करता है।

लेकिन जिन लोगों की हार्ट की सर्जरी हुई है या जिन्‍हें हाईबीपी की समस्‍या है, उन लोगों को इसे करने से बचना चाहिए। मन घबराना, जी मिचलाना और हार्ट रेट के बढ़ जाने पर इसे करने से बचना चाहिए। अन्‍यथा यह हार्ट की मसल्‍स को मजबूत बनाता है और ब्‍लड की सप्‍लाई सही तरीके से आपके हार्ट तक जाती है।

sarvangasana benefits for stress

थायरॉयड ग्‍लैंड के लिए अच्‍छा

हेल्‍दी थायरॉयड ग्‍लैंड हेल्‍दी जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा है। यह ग्‍लैंड तीन हार्मोन उत्पन्न करती है जैसे टी3, टी4 और टीएसएच। ये हार्मोन शरीर के मेटाबॉलिज्‍म, ग्रोथ और परिपक्वता को अनुकूलित करने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं। सर्वांगासन करने से आपका थायरॉयड ग्‍लैंड हेल्‍दी और पौष्टिक ब्‍लड से भर जाता है जो इस महत्वपूर्ण ग्‍लैंड की हेल्‍दी कार्यक्षमता में मदद करता है।

इसे जरूर पढ़ें:लंबी उम्र के लिए महिलाएं रोजाना करें ये 4 योग

तनाव दूर करने में मददगार

सर्वांगासन तनाव को दूर करने में रामबाण की तरह काम करता है। जी हां, यह योग आपको हेल्‍दी थायरॉयड ग्‍लैंड उपहार में देता है जो रक्तप्रवाह में एंडोर्फिन जारी करके शरीर के तनाव के लेवल को कम करती है।

इसके अलावा, जिन लोगों को दिमाग में बहुत ज्‍यादा नेगेटिव विचार आते हैं, हर समय दिमाग या शरीर थका हुआ महसूस होता है और सुबह उठते ही आलस महसूस होता है, उन लोगों के लिए यह आसन बहुत अच्‍छा होता है। 

आप भी रोजाना इस योगासन को करके यह सारे फायदे पा सकती हैं। लेकिन शुरुआत में इसे किसी एक्‍सपर्ट की निगरानी में ही करें। फिटनेस से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image Credit: Freepik.com