क्‍या आपने कभी त्‍वचा के नीचे दिखने वाली ब्‍लू वेन्‍स पर गौर किया है। अगर हां तो हम आपको बता दें कि ये वेन्‍स कभी-कभी तकलीफदेह भी हो सकती हैं। जी हां यह आपकी सुंदरता को कम करने के साथ-साथ समस्‍या का कारण भी बन सकती हैं। पैरों पर त्वचा की सतह के नीचे इन वेन्‍स के अंदर वॉल्स लगे होते हैं, जब यह कमजोर हो जाते हैं तब ब्लड का सर्कुलेशन रूक जाता है, जिसे वैरिकोज वेन्स कहा जाता है। 

इस समस्या से सबसे अधिक प्रभावित वेन्‍स महिलाओं के पैरों में होती हैं। यह शरीर में ब्लड सर्कुलेशन में होने वाली समस्याओं को दर्शाती हैं और कभी-कभी यह गंभीर समस्या का रूप ले लेती हैं। लेकिन आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि बॉलीवुड एक्‍ट्रेस शीबा ने अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से कुछ योगासन शेयर किए हैं जिनकी मदद से आप इस समस्‍या को प्रभावी रूप से कम कर सकती हैं। वीडियो शेयर करते हुए उन्‍होंने कैप्‍शन में लिखा है, ''वैरिकोज वेन्‍स के इलाज में योग बहुत प्रभावी है। यह दर्द को कम करने में मदद करता है और निवारक भी है। लेकिन किसी भी योग को शुरू करने से पहले आपको किसी एक्‍सपर्ट से सलाह जरूर लेनी चाहिए।'' आइए वैरिकोज वेन्‍स के लिए शीबा द्वारा बताए कुछ योगासन के बारे में जानते हैं।

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Sheeba Akashdeep Sabir (@simplysheeba)

ताड़ासन

tadasana yoga inside

ताड़ासन आपके स्केलेटन को संरेखित करने का काम करता है और इसे अपने तटस्थ रुख में वापस लाता है।

इसे जरूर पढ़ें:रश्मि देसाई की तरह ये 2 योगासन आप भी करें और पाएं ग्‍लोइंग स्किन और फिट बॉडी

करने का तरीका

  • ताड़ासन करने के लिए सीधी खड़ी हो जाएं।
  • आपके दोनों पैर पास में होने चाहिए। 
  • फिर सांस लेते हुए दोनों हाथों को उठाइए। 
  • हथेलियों को आसमान की तरफ कीजिए। 
  • फिर सांस लेते हुए दोनों हाथों को ऊपर की तरफ ले जाकर इनको उंगलियों के जरिये लॉक कर दीजिए।
  • फिर पैरों के पंजों पर खड़ी हो जायें, ध्‍यान रहे आपका संतुलन सही होना चाहिए।

मत्स्यासन

matsyasana inside

मत्स्यासन को मछली मुद्रा के नाम से भी जाना जाता है। यह वैरिकोज वेन्‍स के उपचार के लिए सबसे अच्छे योगों में से एक है। यह सामूहिक रूप से कई प्रणालियों पर काम करता है। यह आपके पैरों और टांगों में स्‍ट्रेच लाता है और तनाव और ऐंठन से राहत देता है। आपके पैर शिथिल होते हैं और पूरे शरीर में ब्‍लड फ्लो कंट्रोल होता है।

करने का तरीका

  • मत्स्यासन करने के लिए सबसे पहले जमीन पर दोनों पैरों को मोड़ कर बैठ जाएं। 
  • इसके बाद पीछे की ओर झुक कर लेट जाएं। 
  • इतना करने के बाद अपने पैरों के दोनों अंगूठों को अपने हाथों से पकड़े। 
  • पीठ को ऊपर की ओर उठाएं।

बालासन

balasana inside

यह आसन पूरे शरीर में ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ावा देने के लिए भी जाना जाता है। यह वैरिकाज़ वेन्‍स में ब्‍लड के ठहराव को रोकता है।

करने का तरीका

  • इस आसन को करने के लिए अपनी एड़ियों पर बैठ जाएं। 
  • एड़ी पर हिप्‍स को रखें। अपनी हथेलियों को जमीन पर रखें। 
  • आगे की ओर झुककर माथे को जमीन पर लगाएं। 
  • हाथों को या तो शरीर के दोनों तरफ रखें या हथेली को आगे की ओर फैला दें। 
  • पोजीशन को बनाए रखें। 
  • धीरे से उठकर एड़ी पर बैठ जाएं और रीढ़ की हड्डी को धीरे-धीरे सीधा करें और रिलैक्‍स करें।

वज्रासन

vajrasana inside

यह आसन घुटनों, हिप्‍स, थाइज, टखनों को स्‍ट्रेच देने में मदद करता है।

करने का तरीका

  • वज्रासन करने के लिए घुटनों के बल जमीन पर बैठ जाएं।
  • दोनों पैरों के अंगूठों को साथ में मिलाएं और एड़ियों को अलग रखें।
  • हिप्‍स को एड़ियों पर टिकाएं। साथ ही हथेलियां को घुटनों पर रख दें।
  • पीठ और सिर को सीधा रखें। ध्यान रखें कि इस दौरान दोनों घुटने आपस में मिले होने चाहिए।
  • नॉर्मल तरीके से सांस लेते रहें। इस पोजीशन में जब तक संभव हो, बैठने की कोशिश करें।

शीर्षासन

sirsasana inside

शीर्षासन को सभी आसनों का राजा कहा जाता है। यह आसन अपने कई स्वास्थ्य लाभों के कारण बहुत फेमस है। यह ब्‍लड सर्कुलेशन को गति देता है और यह सुनिश्चित करता है कि ब्रेन पर्याप्त रूप से ऑक्सीजन युक्त ब्‍लड प्राप्त करें।

करने का तरीका

  • इसे करने के लिए वज्रासन में बैठ जाएं।
  • दोनों हाथों की अंगुलियों को इंटरलॉक कर लें।
  • अंगुलियों को इंटरलॉक करने के बाद हथेली को कटोरी के आकार में रखकर, धीरे से सिर को झुकाकर हथेली पर रखें।
  • इसके बाद धीरे-धीरे दोनों पैरों को ऊपर उठाएं और एकदम सीधा रखें। 
  • शरीर को एकदम सीधा रखें और बैलेंस को अच्‍छी तरह बनाए रखें। 
  • इस पोजिशन में 15 से 20 सेकंड तक रहें।
  • अब धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए, पैरों को नीचे जमीन पर वापस ले आएं।
  • शुरुआत में पैरों को उठाने के लिए दीवार का सहारा लें।

Recommended Video

विपरीत करणी 

viparita karani inside

यह आसन आपके पैरों को बेहद आराम देता है। यह ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है और विषाक्त पदार्थों और अन्य उत्पादों को बाहर निकालता है। पैरों से स्‍ट्रेस को रिलीज करता है और प्रेशर को कम करता है। यह वैरिकोज वेन्‍स के कारणों में बहुत मदद करता है।

इसे जरूर पढ़ें:सलमान खान की एक्‍ट्रेस शीबा ने बताया डायबिटीज कंट्रोल करने का सबसे आसान तरीका

करने का तरीका

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल लेट जाएं।
  • अपने हिप्‍स को दीवार के करीब रखें। 
  • अब धीरे-धीरे दोनों पैरों को दीवार के सहारे ऊपर उठाएं। 
  • इस पोजीशन में कम से कम 5 मिनट के लिए रुकें।
  • पोजीशन से बाहर आने के लिए, पहले घुटनों को मोड़ें और खुद को दीवार से दूर धकेलें।

शीबा के बताए इन योगासन को करके आप भी वैरिकोज वेन्‍स की समस्‍या से बच सकती हैं। फिटनेस से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।