हम इंडियन को चावल खाना इतना बहुत पसंद होता है कि इनके बिना हमारा खाना पूरा ही नहीं होता है। जी हां रोजाना इसे खाने में शामिल करना हमारी आवश्‍यकता नहीं है बल्कि अधिकांश भारतीयों की प्राथमिकता है। लेकिन वजन घटाने की बात आने पर चावल पर हर किसी की अपनी राय होती है। हालांकि कुछ महिलाएं तो वजन घटाने के दौरान इसे पूरी तरह से अपनी डाइट से अलग कर देते हैं, जबकि कुछ इसे हफ्ते में कई बार खाती हैं। लेकिन शोध के अनुसार, अगर आप सही तरीके और सही समय पर इसे खाती हैं तो इसका आपकी बैली पर कोई असर नहीं पड़ता है।

जी हां चावलों में आमतौर पर सिंपल कार्ब्स पाए जाते हैं, जिसके कारण यह आसानी से पच जाते हैं। ऐसे में आपको जल्दी-जल्दी भूख लगती है। माना जाता है कि चावल आपका वजन बढाते हैं लेकिन क्या आप जानती हैं कि डाइटिंग के दौरान भी इनका सेवन बेहद आसानी से किया जा सकता है। बस आपको इसे सही तरीके से खाना आना चाहिए। अगर आप इसे सही तरीके से खाते हैं तो फिर इसे खाकर भी आप अपना वजन आसानी से घटा सकती हैं।

weight loss rice  ()

सही समय

अध्ययन के अनुसार, दोपहर के भोजन के लिए चावल खाना सबसे अच्छा समय है। ऐसा दो कारकों से है सबसे पहले, दिन के दौरान, हमारा मेटाबॉलिज्‍म तेज होता है और हमारी बॉडी सभी हैवी हेल्‍दी फूड्स को पचाने में हेल्‍प करती है।

नाश्ते के बाद का समय ऐसा होता है जब आपको भूख लगती है और अगले 8-10 घंटे तक चलने के लिए एनर्जी की आवश्यकता होती है।

इसे जरूर पढ़ें: क्या रोटी और ब्राउन ब्रेड एक बराबर है?

दूसरा कारण, दिन के समय भी आपकी productivity सबसे ज्‍यादा बिजी होती है। आपको इस एनर्जी को सही तरीके से ईंधन भरने की आवश्यकता होती है। हमारी एनर्जी को बढ़ाने के लिए चावल में मौजूद कार्ब्‍स बॉडी के लिए जरूरी होता है।

ब्राउन चावल बनाम सफेद चावल

चावल हेल्‍दी है। इसमें कोई राय नहीं हैं। सफेद चावल और ब्राउन चावल के बीच का केवल इतना ही अंतर है कि बाद में भारी होता है और पचाने में समय लगते है। इसके अलावा, सफेद या भूरे रंग के खाने से कोई ज्‍यादा अंतर नहीं होता है और दोनों का सेवन किया जा सकता है।

weight loss rice  ()

डाइटिंग के दौरान चावलों को उबालकर खाना ही बेहतर रहता है। इससे इनका स्टार्च निकल जाता है। चावल उबालते समय आप अधिक पानी की मात्रा लें, जिसके कारण जब आप उसे छानेंगे तो अतिरिक्त पानी के साथ स्टार्च भी आसानी से निकल जाएगा। वजन घटाने के लिए आप सफेद चावलों के स्थान पर ब्राउन राइस का इस्तेमाल करें। हालांकि चावल में प्रोटीन होता है, लेकिन फिर भी आप प्रोटीन के लिए सिर्फ चावलों पर ही निर्भर ना रहें। दरअसल, जब आप पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन लेते हैं तो आपका वजन तेजी से गिरता है।

वजन घटाना और चावल

अक्सर महिलाएं जब वजन घटा रही होती हैं तो चावल खाना छोड़ देती हैं। लेकिन क्या आप जानती हैं आप चावल खाकर भी अपना वजन घटा सकती हैं। जी हां, हाल ही में आई रिसर्च के अनुसार, आप चावल खाकर भी वजन कर सकती हैं।

क्या कहती है रिसर्च

रिसर्च के मुताबिक, सफेद चावल के बजाय यदि आप ब्राउन राइस खाएंगी तो वजन घटाने में मदद मिलेगी। इतना ही नहीं, ब्राउन राइस डायट में शामिल करने के बाद आपको बस 30 मिनट तेज चलना होगा। स्टडी में पाया गया कि रोजाना डाइट में फाइबर बढ़ाने से आप 100 कैलोरी तक कम कर सकती हैं।

मैसाचुसेट्स में टफ्ट्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने रिसर्च करने के दौरान दो ग्रुप्स बनाएं। इन दोनों ग्रुप्स के लोगों को बराबर एनर्जी वाली डायट दी गई। लेकिन इन दोनों ग्रुप्स के लोगों में फर्क इतना था कि इनका ग्रेन का सोर्स अलग था। एक ग्रुप को होलग्रेन जैसे ब्राउन राइस और होल व्हीट दिया गया। जबकि दूसरे ग्रुप को सफेद चावल और रिफाइंड व्हाइट फ्लोर दिया गया। इसके साथ ही इन दो ग्रुप्स में एक ग्रुप को हाई फाइबर डाइट दी गई और दूसरे ग्रुप को लोग फाइबर।

weight loss rice  ()

रिसर्च के नतीजे

रिसर्च के नतीजों में पाया गया कि जो लोग होल ग्रेन खा रहे थे उनका मेटाबॉलिज्म फास्‍ट हो गया था और कैलोरी बहुत बर्न की थी इन्होंने साथ ही देखा गया कि डाइजेस्टिव सिस्टम ने भी कम ही कैलेारी एब्जॉर्व की थी। रिसर्च में वेट, मेटाबॉलिक रेट, ब्लड ग्लूकोज, कैलोरी, हंगर को नोट किया गया। रिसर्च में देखा गया कि हंगर और डाइट सेटिफेक्शजन में दोनों ग्रुप्स में कोई डिफरेंस नहीं था।

इसे जरूर पढ़ें: रोटी और चावल एक साथ क्यों नहीं खाने चाहिए?

रिसर्च में ये भी पाया गया कि होल ग्रेन के साथ हाई फाइबर डायट 85 ग्राम महिलाओं के लिए और 113 ग्राम पुरुषों के लिए लेने से 100 कैलोरी तक कम हो सकती है और सप्ताह में 700 कैलोरी तक कम हो सकती है। इससे मेटाबॉलिक रेट बहुत बढ़ जाता है और डायजेस्टिव सिस्टम कम से कम कैलोरी एब्जॉर्व करता है।

इस स्‍टडी से ये बात साबित होती है कि वजन घटाने, वेट कंट्रोल करने और वेट मैनेज करने के लिए होल ग्रेंस और फाइबर बहुत फायदेमंद है।