• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

झाइयों के कारण दिखती हैं बूढ़ी तो करें ये 2 उपाय, 1 महीने में दिखेगी बेदाग त्‍वचा

Pigmentation Remedies: अगर झाइयों के कारण चेहरा डल दिखाई देता है तो इस आर्टिकल में बताए 2 नुस्‍खों को जरूर ट्राई करें।  
author-profile
Published -10 Aug 2022, 15:59 ISTUpdated -10 Aug 2022, 16:23 IST
Next
Article
pigmentation on face remedies by expert

Verified by Himalayan Siddha, Akshar

Pigmentation on Face: झाइयों के कई कारण और विभिन्न रूप हैं। कुछ आनुवंशिकी और वंशानुगत कारकों के कारण होती हैं जबकि अन्य प्रदूषण, हार्मोनल असंतुलन, जीवनशैली से कारकों आदि के कारण हो सकते हैं।

ये समस्‍याओं के कारण रंग और त्वचा की झाइयों में बदलाव होते हैं। डल त्वचा, मुंहासे और अन्य जटिल समस्याओं के कारण अलग-अलग हो सकते हैं। यदि आप त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए मदद मांग रही हैं, तो योग आपके रंग के लिए नवीनीकरण और स्वास्थ्य का एक अद्भुत स्रोत है। 

आज हम आपको 2 ऐसी मुद्रा के बारे में बता रहे हैं जिसे रोजाना करने से आप चेहरे की झाइयों और साथ ही त्‍वचा की अन्‍य समस्‍याओं से छुटकारा पा सकती हैं। इन मुद्राओं के बारे में हमें योग मास्टर, स्पिरिचुअल गुरु और लाइफस्टाइल कोच, ग्रैंड मास्टर अक्षर जी बता रहे हैं। आइए इन स्‍पेशल मुद्राओं के बारे में आर्टिकल के माध्‍यम से विस्‍तार से जानें।

कैसे काम करती हैं मुद्राएं?

गहरी और धीमी सांस लेने वाली मुद्राएं ऑक्सीजन युक्त ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाती हैं, जो त्वचा की बाहरी परतों तक पहुंचने पर कोशिकाओं को पोषण देती हैं और कमजोर या डेड स्किन को हटा देती हैं। यह एक अध्ययन में देखा गया है कि मुद्रा अभ्यास तनाव को कम कर सकता है जिसके कारण त्वचा के इम्‍यून सिस्‍टम में वृद्धि होती है।

मुद्राएं शरीर के अंदर प्राण को लगभग हर कोशिका और उसके कामकाज के लिए जिम्मेदार बनाती हैं। यह त्वचा सहित शरीर के हर हिस्से को जोड़ने वाली एनर्जी का एक सर्किट बनाता है और फिर त्वचा को हल्का करने के लिए प्राण (महत्वपूर्ण जीवन-शक्ति) को नियंत्रित करता है।

वरुण मुद्रा

varun mudra for skin

  • इसे करने के लिए पद्मासन या अर्धपद्मासन में बैठे जाएं। 
  • इस मुद्रा को करने के लिए हमें चटाई या कपड़े पर आरामदायक स्थिति में होना चाहिए।
  • आंखें बंद कर सकती हैं क्योंकि इससे अधिक एकाग्रता सुनिश्चित होती है।
  • अंगूठे और छोटी उंगली के किनारों को आपस में मिला लें।

फायदे

  • त्‍वचा से जुड़ी समस्‍याओं को दूर करती है।   
  • आंखों में ड्राईनेस दूर होती है। 
  • खट्टी डकारों से राहत मिलती है। 
  • कब्ज से छुटकारा दिलाती है।

सूर्य मुद्रा

how to do surya mudra

  • इसे करने के लिए सुखासन या पद्मासन जैसे ध्यान आसन में बैठ जाएं। 
  • अपनी पीठ सीधी रखें।
  • अनामिका को मोड़ें और अंगूठे के सिरे को नाखून के ठीक ऊपर क्रीज पर रखें।
  • बाकी उंगलियों को सीधा करें।
  • इसे दोनों हाथों से करें और हथेलियों के पिछले हिस्से को घुटनों पर रखें।
  • आंखें बंद करें और ध्यान अपनी सांसों पर लगाएं। 

सावधानियां-इस मुद्रा का बहुत लंबे समय तक अभ्यास करने से शरीर में अनुचित गर्मी पैदा हो सकती है।

फायदे

  • यह मुद्रा एकाग्रता विकसित करती है।
  • सकारात्मक स्पंदन उत्पन्न करती है और नकारात्मक विचारों को कम करती है।
  • स्मरण शक्ति में सुधार करती है और बुद्धि भागफल को बढ़ाती है।
  • अनिद्रा, डायबिटीज और तनाव का इलाज करती है और ब्‍लड प्रेशर को संतुलित करती है।

आप भी इन मुद्राओं को करके चेहरे की झाइयों को कम कर सकती हैं। उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें, साथ ही कमेंट भी करें। योग मुद्राओं से जुड़े ऐसे ही और आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से। 

 Image Credit: Shutterstock 

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।