महिलाएं हमेशा ऐसे योग की तलाश में रहती हैं जिसे करने से वह खुद से जुड़ी कई समस्‍याओं को एक साथ दूर कर सकें। अगर आप भी ऐसी ही महिलाओं में से एक है तो इस आर्टिकल में बताए योग को रोजाना कुछ देर जरूर करें। जी हां हम पश्चिमोत्तानासन के बारे में बात कर रहे हैं। इस योगासन के फायदों और करने के तरीके के बारे मे हमें योगा मास्टर, फिलांथ्रोपिस्ट, धार्मिक गुरू और लाइफस्टाइल कोच ग्रैंड मास्टर अक्षर जी बता रहे हैं। 

उनका कहना है कि ''पश्चिमोत्तानासन का अभ्यास करते समय शरीर के पिछले हिस्से यानी रीढ़ की हड्डी में स्‍ट्रेच उत्पन्न होता है, इस कारण इस आसन को पश्चिमोत्तानासन कहा जाता है। यह एक शुरुआती स्तर का आसान आसन है। शरीर में लचीलापन लाने के लिए यह एक क्लासिक मुद्रा है। यह आसन आपकी संपूर्ण पीठ (रीढ़) से लेकर आपकी हैमस्ट्रिंग (जांघों के पीछे) तथा आपके काफ मसल्‍स को एक अच्छा स्‍ट्रेच देता है। इसे करने से महिलाओं की 10 समस्‍याओं को दूर किया जा सकता है।''

शारीरिक स्वास्थ्य लाभ

  1. लिवर, किडनी, ओवरीज और यूट्रस की कार्यक्षमता में सुधार लाता है।
  2. पेट की चर्बी को कम करता है।
  3. रीढ़ को स्ट्रेच करता है और लचीलापन लाता है।
  4. पाचन अंगों की कार्यक्षमता में सुधार करता है।
  5. रीढ़ की हड्डी में स्‍ट्रेच से युवा महिलाओं की हाइट बढ़ाने के लिए उपयोगी है।
  6. पेल्विक अंगों को टोन करता है।
  7. पीरियड्स को संतुलित करता है।
  8. मेनोपॉज और पीरियड्स की परेशानी के लक्षणों से राहत दिलाने में मदद करता है।
  9. इस आसन को विशेष रूप से महिलाओं को डिलीवरी के बाद भी करने की सलाह दी जाती है।
yoga for women health  inside

मानसिक स्वास्थ्य लाभ

  • यह एक तनाव निवारक योग है।
  • चिंता, क्रोध और चिड़चिड़ापन को दूर करता है।
  • मन को शांत रखता है।

पश्चिमोत्तानासन करने का सी तरीका

स्‍टेप-1 

सुखासन जैसे बैठने की स्थिति में शुरू करें। यहां से, अपने पैरों को आगे सीधा करके मिलाएं। पैर की उंगलियों को अपनी ओर मोड़ते हुए अपने पैरों को फ्लेक्स करें; यह आपके घुटने के कैप को खींच लेगा। आगे की ओर बढ़ते हुए अपने हाथों को अपने हिप्‍स के बगल में रखें। अपनी थाईज की मसल्‍स को एक्टिव करें और अपनी पीठ को सीधा करें।

स्‍टेप- 2

घुटनों को बिना मोड़े धीरे-धीरे अपनी उंगलियों को इंटरलॉक करके अपने पैर के बड़े अंगुठे को पकडे या आपके पैरों के किनारों या अपनी एड़ी को पकड़ने के लिए आगे बढ़ें।

स्‍टेप- 3

एक गहरी सांस के साथ चेस्‍ट और सिर को ऊपर उठाएं। अपने कंधों को अपने कानों से दूर रखें।

yoga for women health  inside

स्‍टेप-4

एक बड़ी सांस छोडते हुए, निचले पेट को अंदर खींचकर आगे की ओर झुकें और अपने पेट को अपनी जांघों पर दबाएं और अपने माथे को घुटनों पर रखें।

स्‍टेप- 5

कम से कम 5 सांसों के लिए रुकें। आसन से बाहर निकलने के लिए, अपनी बांहों को सीधा करते हुए अपने धड़ को ऊपर की ओर ले जाएं। सांस छोड़ें और अपने पैरों को छोड़ दें।

Recommended Video

सावधानी

आप खाली पेट पर इस मुद्रा का अभ्यास करें। क्योंकि यह मुद्रा पेट को संकुचित करती है। यदि आपकी बांहों, कूल्हों, टखनों या कंधों में किसी प्रकार की चोट या तकलीफ हैं तो इस आसन को न करें। यदि आप हैमस्ट्रिंग में किसी तरह की जकड़न महसूस कर रही हैं तो घुटनों के नीचे प्रॉप्स या बोलस्टर का उपयोग करें और बस वही तक करें, जो आप बिना दर्द के कर सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: बढ़ती उम्र को कहें अलविदा, 30 की उम्र में 20 का दिखने के लिए ये योग करें

इस योगासन को करके इन 10 समस्‍याओं से निजात पा सकती हैं। इसलिए इस योगासन को रोजाना कुछ देर जरूर करें। फिटनेस से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image Credit: Freepik.com