इंसान का शरीर चलने के लिए बना है और हम सभी को रोजाना किसी न किसी तरह से चलते रहना चाहिए। हम सभी एक मशीन की तरह हैं जिन्हें फिजिकली एक्टिव होना चाहिए और अगर ऐसा नहीं होगा तो हमारा विकास भी रुक जाएगा। बच्चों के लिए तो ये बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि अगर वो फिजिकली एक्टिव नहीं रहेंगे तो उनकी हड्डियां भी डेवलप नहीं होंगी। 

बच्चों के लिए मसल्स, ज्वाइंट्स, बोन हेल्थ सब कुछ डेवलप करने के लिए ये जरूरी है कि हम उन्हें फिजिकली एक्टिव बनाएं। अगर ऐसा नहीं हुआ तो मोटापा, चाइल्ड डायबिटीज जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं। ये बच्चों के सोने और जागने के रूटीन को लेकर भी जरूरी है। पर आजकल की लाइफस्टाइल ने बच्चों को फिजिकली एक्टिव नहीं रहने दिया है। 

हमने Aster RV हॉस्पिटल बेंगलुरु की चीफ फिजियोथेरेपिस्ट पलक डेंगला से बात की और ये जानने की कोशिश की कि आखिर बच्चों को फिजिकली एक्टिव बनाने में किस तरह के टिप्स फॉलो किए जाएं। 

इसे जरूर पढ़ें- बच्‍चा एक्‍सरसाइज करने से कतराता है तो ये 5 मजेदार तरीके अपनाएं

बच्चों के लिए मददगार होंगे ये टिप्स-

बच्चों को किस तरह से फिजिकली एक्टिव बनाना है वो आपको तय करना है, लेकिन किसी भी हालत में बच्चों पर प्रेशर डालने की कोशिश ना करें। 

1. फन टाइम के हिसाब से एक्सरसाइज तय करें-

आपको इस तरह से एक्सरसाइज करनी है जैसे आप फन टाइम बिता रहे हों। अपने बच्चे को उसके पसंद का स्पोर्ट ढूंढने में मदद करें और ध्यान रखें कि ये आपको बच्चे को ये समझना है कि इसमें उसे मज़ा आ रहा है। आप अपने पूरे परिवार को भी शामिल कर सकती हैं। 

child and activities

2. बच्चे की उम्र का ध्यान रखें-

बहुत छोटे बच्चों से बहुत कुछ नहीं करवाया जा सकता है। आपको कोई ऐसी एक्टिविटी चुननी होगी जो आपके बच्चे की उम्र के हिसाब से हो। अपने छोटे बच्चे को समय दें और जिस हिसाब से सुविधाजनक लगे वो करें। (बच्चों को करवाएं ये एक्सरसाइज)  

3. सुरक्षित माहौल रखें- 

आपके लिए ये जरूरी है कि आप अपने बच्चों को सुरक्षित माहौल दें। अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो बच्चा खेलने से डरेगा। अगर वो खेलते हुए गिरता है या उसे चोट लगती है तो भी उसे समझाने की कोशिश करें कि ये उसके खेल का ही हिस्सा है। कोशिश करें कि उसे ऐसे माहौल का आदि बनाएं जहां बहुत गंभीर चोट लगने की गुंजाइश ना हो।  

physical activity of children

4. अलग-अलग खिलौने रखें- 

बच्चे को अलग-अलग खिलौने दिखाएं। उसके खेलने के लिए गेंद, रस्सी कूदने के लिए रस्सी, अन्य एक्टिविटी करने के लिए खिलौने होने चाहिए।   

5. बच्चों के लिए अच्छा उदाहरण रखें- 

आपको बच्चों के लिए सही उदाहरण पेश करना है। आपको ये ध्यान रखना है कि जो माता-पिता करते हैं वही बच्चे भी करते हैं और ऐसे में अगर आप थोड़ा फिजिकल एक्टिविटी बढ़ाने की कोशिश करेंगे तो आपका बच्चा भी बढ़ाएगा। आपको उसे आदत डालने के लिए खुद भी फिजिकली एक्टिव होना होगा।  

इसे जरूर पढ़ें- एक्सरसाइज से पहले करें ये 4 वार्मअप, मिलेंगे सुपर फायदे 

Recommended Video

6. बच्चों को दें गिफ्ट- 

बच्चों को अच्छे से गेम्स खेलने और फिजिकली एक्टिव रहने पर गिफ्ट्स देने की कोशिश करें। फिजिकली एक्टिव रहने से जुड़े गिफ्ट्स जैसे रोलर ब्लैड्स, साइकल, आइस स्केट, बॉल आदि काफी मददगार साबित हो सकते हैं। बच्चा इन्हें इस्तेमाल करने की कोशिश करेगा और इसी वजह से वो ज्यादा फिजिकली एक्टिव होगा।  

 

7. स्क्रीन टाइम कम करें- 

आपको बच्चे को किसी भी तरह की स्क्रीन का इस्तेमाल ज्यादा नहीं करने देना है। आपको स्क्रीन टाइम कम ही करना होगा क्योंकि अगर बच्चा टीवी, वीडियो गेम्स, फोन आदि में मन लगा लेगा तो वो आगे नहीं खेलेगा। थोड़ा समय परिवार के साथ भी बिताने दें और बात भी करें। उसके साथ खेलने जाना भी उतना ही जरूरी है।  

ये सारे तरीके बच्चों को फिजिकली एक्टिव बनाने में मदद कर सकते हैं और साथ ही साथ बच्चे की हेल्थ भी सुधार सकते हैं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।