आपने बहुत-से लोगों को शरीर पर रंग-बिरंगे टेप लगाए हुए देखा होगा और आपने केटी टेप शब्द के बारे में भी सुना होगा, लेकिन क्या आप यह नहीं जानते कि इसका उपयोग किस लिए और क्यों किया जाता है? तो आप परेशान न हो क्योंकि हम आपको बताने वाले हैं कि यह टेप क्या होता है और इसके क्या फायदे हैं। साथ ही, इसी विषय को लेकर हमने एक्सपर्ट डॉक्टर हितेश खुराना से बात की। आपको बता दें कि डॉक्टर हितेश खुराना कायरोप्रैक्टिक, एर्गोनोमिक विशेषज्ञ और वरिष्ठ फिजियोथेरेपिस्ट हैं। इन्होंने हमें विस्तार से बताया कि काइनेसियोलॉजी टेपिंग फिजियोथेरेपी क्या है? और यह किन समस्याओं के लिए उपयोगी है, जो हम आपके साथ इस लेख के माध्यम से साझा कर रहे हैं।  

क्या है केटी टेप? 

dr hitesh

केटी टेप का आविष्कार 1970 में किया गया था, जिसे अंग्रेजी में 'kinesiology' और हिंदी में काइनेसियोलॉजी के नाम से जाना जाता है। इस विषय को लेकर डॉक्टर हितेश खुराना कहते हैं कि काइनेसियोलॉजी टेपिंग फिजियोथेरेपी किसी भी तरह के दर्द के उपचार में सबसे प्रभावी तरीकों में से एक है, जहां जल्दी स्वास्थ्य और फिटनेस में सुधार लाने के लिए बहुत अच्छा है। केटी टेप जोड़ों, मांसपेशियों और जॉइंट पर लगाया जाता है। इसके अलावा, इसका उपयोग विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं और खेल चोटों के इलाज के लिए भी किया जाता है।

एक्सपर्ट आगे कहते हैं कि केटी टेप एक चिकित्सीय टेप है, जिसका उपयोग दर्द और सूजन को कम करने के लिए किया जाता है। इसमें एक तरफ ऐक्रेलिक चिपकने के साथ एक लोचदार कपास की पट्टी होती है। साथ ही, यह टेप ऐसे फाइबर से बने होते हैं, जो अपनी असली लंबाई के मुकाबले 140% तक खींच सकते हैं। 

केटी टेप कैसे लगाएं? 

how to apply kt

केटी टेप का इस्तेमाल शारीरिक समस्याओं के आधार पर अलग-अलग होता है जैसे मांसपेशियों को आराम देने के लिए नीली और काली पट्टियों का उपयोग किया जाता है, जबकि गुलाबी और पीले रंग के टेप का उपयोग अन्य समस्याओं के लिए किया जाता है। इसके अलावा, आपको बता दें कि केटी टेप X, Y, I के आकार के होते है, जिसे मांसपेशियों के आसपास या प्रभावित स्थान पर लगाया जाता है। अगर आपके घुटनों में दर्द है, तो आप इस तरह से यह टेप लगाएं.. 

सबसे पहले टेप को बाजार से खरीदकर लाएं। फिर घुटनों के बीच का हिस्सा छोड़ कर उसके आसपास के हिस्से में यह टेप लगा दें। ध्यान रखें कि त्वचा साफ-सुथरी, सूखी, बाल रहित हो। अगर आपको जलन का एहसास हो, तो आप इसका इस्तेमाल नहीं करें। 

इसे ज़रूर पढ़ें- 40 साल की महिलाएं रिद्धिमा कपूर की तरह करेंगी योग, दिखेंगी यंग और फिट

केटी टेप के लाभ

benefits

यह टेप शरीर में रक्त परिसंचरण (Blood Circulation) और लसीका प्रवाह (Lymphatic system) को बढ़ाकर मदद करता है। लसीका प्रणाली में मुख्य रूप से पानी, प्रोटीन, बैक्टीरिया और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं। एक स्ट्रॉन्ग लसीका तंत्र सूजन और द्रव निर्माण को कम करने के लिए मददगार है।

  • मांसपेशियों को सहारा देने का काम करता है। 
  • काइनेस्टेटिक मांसपेशियों और जोड़ों में सुधार होता है। 
  • ओवरस्ट्रेच्ड मसल्स को कम करने में सहायक है। 
  • शरीर को गति प्रदान करें। 
  • दर्द और सूजन को कम करता है। 

    Recommended Video

केटी टेप का उपयोग 

यह टेप कई शारीरिक समस्याओं के समाधान के लिए उपयोगी है। इसके अलावा, इसका उपयोग खेल चोटों के इलाज के लिए भी किया जाता है

  • हर्नियेटेड डिस्क
  • साइटिका
  • प्लांटर फैस्कीटिस
  • टखने की मोच
  • घुटने का दर्द
  • टेनिस एल्बो
  • शोल्डर इम्पिंगमेंट
  • एथलीटों के लिए 

इसके अलावा, मांसपेशियों की टोन बदलने, मुद्रा में सुधार करने और शरीर में लसीका द्रव परिसंचरण को बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। 

नोट- केटी टेप को इस्तेमाल से पहले आप डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। 

इसे ज़रूर पढ़ें- मोटापे से परेशान महिलाएं ये आयुर्वेदिक हर्ब्‍स आजमाएं

लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें, साथ ही ऐसी अन्य जानकारी पाने के लिए जुड़े रहें हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (@Freepik and Google)