बेली फैट या जिद्दी चेहरे का फैट कम करना कई लोगों के लिए बहुत मुश्किल हो जाता है। खास तौर पर पेट का फैट तो बहुत ही ज्यादा खतरनाक होता है। ये नुकसानदेह होने के साथ-साथ आपकी फिजीक को भी खराब करता है। इस तरह के फैट को वाइसिरल फैट कहा जाता है जो हार्ट और डायबिटीज जैसी समस्याओं के लिए भी जिम्मेदार होता है। ऐसे में अगर आपको लगता है कि किसी कारण से आपका ये फैट कम नहीं हो रहा है तो कुछ लाइफस्टाइल में बदलाव आपकी इस समस्या को हल कर सकते हैं। अगर आप एक्सरसाइज करती हैं या वेट लॉस के लिए कुछ खास टिप्स अपना रही हैं तो ये टिप्स अपना कर आप दुगनी तेज़ी से जिद्दी फैट को कम कर सकती हैं।  

ये तरीके कई साइंटिफिक रिसर्च के आधार पर हैं और इससे यकीनन फायदा होगा।  

1. सही फायबर अपनी डायट में शामिल करें 

एक स्टडी जिसमें 1100 वयस्कों के ऊपर रिसर्च 5 सालों तक की गई थी उसमें सामने आया कि अगर 10 ग्राम सॉल्यूबल फायबर (जो शरीर में घुल जाए) अपने खाने में शामिल किया जाएगा तो पेट का बढ़ना 3.7% तक कम हो सकता है।  

ऐसे में आप अपनी डायट में बदलाव करें और आप सॉल्यूबल फायबर जैसे अलसी के बीज, ब्रसल स्प्राउट्स, एवोकाडो, ब्लैकबेरी आदि सब कुछ अपनी डायट में शामिल कर सकती हैं।  

face and belly fat loss stubborn fat

इसे जरूर पढ़ें- Plank exercise के ये तीन फायदे जानिए, जो आपको रखेंगे fit 

2. ट्रांस फैट को कहें ना 

इस बात को लेकर भी 6 साल तक बंदरों पर स्टडी की गई थी कि आखिर ट्रांस फैट से कितना वजन बढ़ता है। तो सामने आया कि ट्रांस फैट से लगातार 33% वजन बढ़ने की और खास तौर पर बेली फैट बढ़ने की संभावना होती है। ऐसे में अगर आप अपना वजन कम करना चाहती हैं तो ट्रांस फैट को कम खाएं।  

ट्रांस फैट ये सोयाबीन तेल में भी होता है, केक, फ्रोजन फास्ट फूड जैसे पिज्जा और बर्गर, अन्य बेक किए हुए सामान में, क्रीम वाली कॉफी में आदि ये सब कुछ होता है। इसलिए बेहतर है कि इसे अपनी डायट से कम कर दें। 

fat loss for hopefull people

3. शराब और सिगरेट को ना 

ये तो कई रिसर्च में सामने आया है कि शराब और सिगरेट की वजह से फैट बढ़ता है। जिस समय एक्सरसाइज या वेट लॉस के लिए किसी रूटीन को फॉलो कर रही हों उस समय आप किसी भी हाल में शराब और सिगरेट का सेवन या तो कम करें या तो बिलकुल न करें। 

4. ज्यादा प्रोटीन वाली डायट फॉलो करें 

वजन कंट्रोल करने के लिए प्रोटीन काफी जरूरी होता है। हाई प्रोटीन वाला खाना खाने से पेट फुल होने की फीलिंग जल्दी आती है और इसी के साथ, भूख भी कम होती है। प्रोटीन मेटाबॉलिक रेट भी बढ़ाता है और मसल्स का वजन कम करता है जिससे वेट लॉस होता है।  

एक्सरसाइज करते समय अच्छी प्रोटीन डायट लें जैसे मीट, मछली, अंडे, पनीर, बीन्स आदि को अपनी डायट में शामिल करें, लेकिन किसी भी चीज़ को बहुत ज्यादा न लें।  

5. स्ट्रेस लेवल का ध्यान रखें 

स्ट्रेस लेवल कम रखें इससे बेली फैट बहुत ज्यादा बढ़ता है। रिसर्च बताती हैं कि स्ट्रेस से डायट बढ़ती है और हमारी भूख कंट्रोल में नहीं आती, इसलिए ज्यादा फैट बढ़ता है।  

स्ट्रेस ईटिंग डिसऑर्डर बाकायदा एक बीमारी भी है जहां व्यक्ति स्ट्रेस होने पर जरूरत से ज्यादा खाना खाने लग जाता है। आप ज्यादा शांत रहने की कोशिश करें। चाहें तो खुद को शांत रखने वाली ग्रीन टी का भी सेवन कर सकती हैं। ऐसे में समस्या कम होगी। 

इसे जरूर पढ़ें- आंखों से जुड़ी हर समस्या के लिए ये 4 योगा करेंगे मदद, खत्म होगा स्ट्रेस और नजर होगी तेज़

6. खाना बनाने के तेल में छुपा राज

एक स्टडी में ये बात सामने आई थी कि वो व्यक्ति जो नारियल का तेल अपनी डायट में शामिल करते हैं उनकी कमर का साइज 1.1 इंच तक कम हो गया और उन्हें किसी तरह की डायट या एक्सरसाइज भी नहीं करनी पड़ी। 

सोयाबीन का तेल या ऐसे तेल आपकी डायट का हिस्सा है उसे आप नारियल के तेल से बदल सकती हैं। अगर वो नहीं खा सकतीं तो ऑलिव ऑयल ले लें जिससे फायदा होगा। अगर वो नहीं कर सकतीं तो दो चम्मच नारियल का तेल (प्योर नारियल का खाने वाला तेल न कि बालों में लगाने वाला) अपनी डायट में किसी तरह से शामिल कर लें। 

7. कार्डियो के साथ वेट ट्रेनिंग भी जरूरी

कार्डियो से वजन कम होता है ये सही है, लेकिन इसी के साथ वजन कम करने के लिए वेट ट्रेनिंग भी जरूरी होती है। एक स्टडी में ये बात सामने आई थी कि ओवरवेट टीनएजर्स जिन्हें वेट ट्रेनिंग और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करवाई गई उनका वाइसिरल फैट जल्दी कम हुआ। 

तो अगर आप कार्डियो कर रही हैं तो उसके साथ कुछ वेट ट्रेनिंग भी करें। ये जरूरी है। 

All Image Credit: Freepik