नवदुर्गा की पूजा शुरू होने वाली है। इन नौ दिनों के लिए घर में न केवल कलश की स्थापना करते हैं बल्कि मां दुर्गा की भक्ति में व्रत भी रखते हैं। जी हां नवरात्रि में अधिकांश महिलाएं पूरे नौ दिन व्रत रखती हैं। व्रत रखने को आमतौर पर श्रद्धा और भक्त‍ि से ही जोड़कर देखा जाता है। लेकिन कुछ महिलाएं ऐसी भी हैं जो ये सोचकर व्रत रखती हैं कि इसी बहाने उनका वजन कम हो जाएगा। लेकिन कम ही महिलाओं को इस बारे में जानकारी हैं कि नवरात्रि व्रत करना आपकी हेल्‍थ के लिए कई तरीके से फायदेमंद हो सकता है। इससे न केवल आपकी बॉडी अच्‍छे से डिटॉक्‍स हो जाती है बल्कि आपकी इम्‍यूनिटी भी बढ़ती है और साथ ही आपकी स्किन ग्‍लोइंग हो जाती है। आइए Exercise physiologist निशा वर्मा से जानें कि नवरात्रि व्रत आपके लिए किस तरह से फायदेमंद हो सकता है।

इसे जरूर पढ़ें: नवरात्र के 9 दिनों में माता के कौन से रूप को कौन सा भोग लगाया जाता है?

navratri fast weight loss inside

वजन होता है कम

व्रत रखने के दौरान फैट बर्निंग प्रोसेस तेज हो जाता है। जिससे फैट तेजी से गलना शुरू हो जाता है। साथ ही फैट सेल्स लैप्ट‍िन नाम का हॉर्मोन स्राव होता हैं। जी हां व्रत के दौरान कम कैलोरी मिलने से लैप्ट‍िन की सक्रियता पर असर पड़ता है और वजन कम होता है। नवरात्रि में व्रत के दौरान आप अन्य दिनों की अपेक्षा कम कैलोरी लेती हैं। ऐसे में आपको सालभर की अपेक्षा इन नौ दिनों में अतिरिक्त कैलोरी बर्न करने में आसानी होगी। सही डाइट से नौ दिनों में आप अपना वजन काफी कम कर सकती हैं।

बढ़ती है इम्‍यूनिटी

व्रत रखने से इम्‍यूनिटी बढ़ती है। इसके साथ ही कोलाइटिस, कब्‍ज, सिरदर्द, थकान जैसी समस्‍याओं के होने की आशंका भी कम हो जाती है। यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ कैलिफोर्निया के विशेषज्ञों की मानें तो कैंसर के मरीजों के लिए व्रत रखना बहुत फायदेमंद होता है। खासतौर पर उन मरीजों के लिए जो कीमोथेरेपी ले रहे हैं। 

navratri fast for glowing skin inside

स्किन होती है ग्‍लोइंग

नौ दिनों के व्रत में आपकी लाइफस्‍टाइल और डाइट व्यवस्थित होने से हेल्‍थ के साथ-साथ आपकी सुंदरता भी बढ़ती है। फलों, सूखे मेवों के सेवन से आपकी स्किन पर भी फर्क नजर आने लगता है और बाल भी बेहतर होने लगते है। जी हां व्रत के दौरान आप फलाहार के अलावा खाने-पीने पर अधिक ध्यान नहीं देते, जबकि लिक्विड डाइट ज्‍यादा लेती हैं। इस तरह से आपकी बॉडी में पानी की कमी भी पूरी होती है और स्किन हाइड्रेट रहती है।

इसे जरूर पढ़ें: जानिए, नवरात्रि में क्या खाना चाहिए और किन चीजों से करना चाहिए परहेज

Recommended Video

स्‍ट्रेस होता है कम

आज के समय में स्‍ट्रेस एक बहुत बड़ी प्रॉब्लम है। इससे कई अन्‍य तरह की बीमारियां हो सकती है। व्रत करने से स्‍ट्रेस में कमी आती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि दिमाग शांत रहता है। व्रत में हम तामसिक भोजन का सेवन नहीं करते हैं जिसकी वजह से दिमाग में शांति का भाव उत्पन्न होता है। व्रत करने से डिप्रेशन और मस्त‍िष्क से जुड़ी कई समस्याओं में फायदा होता है।

navratri fast for detox inside

बॉडी डिटॉक्‍स करें

व्रत करने से शरीर के भीतर मौजूद टॉक्सिन साफ हो जाते हैं। इसके साथ ही डाइजेस्टिव सिस्‍टम भी पहले से बेहतर हो जाती है। जरूरी नहीं है कि जब कोई धार्मिक मौका हो तो ही आप व्रत करें। बॉडी की अंदरुनी गंदगी को साफ करने और डाइजेस्टिव सिस्‍टम को बेहतर बनाने के लिए आप कभी भी सुविधानुसार व्रत कर सकती हैं। इसके अलावा लीवर और पेट को थोड़ा आराम मिल जाता है जो सेहत के लिए अच्‍छा रहता है।



व्रत के दौरान कुछ आवश्यक पोषक तत्वों को लेना जरूरी है वरना व्रत करना आपके लिए तकलीफदेह हो सकता है। व्रत के बाद आप जब भी कुछ खाएं, कोशिश करें कि वो पौष्ट‍िक हो न कि फैट से भरा हुआ, वरना वजन घटने के बजाय बढ़ जाएगा।
All Image Courtesy: Pxhere.com