हैंडस्टैंड यानि शीर्षासन ज्‍यादातर लोगों को बहुत मुश्किल योग लगता हैं। महिलाएं इसे करने से बहुत डरती हैं क्‍योंकि उन्‍हें चोट लगने का डर सताता रहता है तो कुछ महिलाओं को शरीर को अपने सिर पर बैलेंस करना बहुत मुश्किल लगता है। लेकिन क्‍या आप जानती है कि इसे करने के कितने फायदे हैं। जिसे करने में अच्‍छे-अच्‍छों के पसीने निकलने लगते हैं। बॉलीवुड की बहुत सारी एक्‍ट्रेसेस जैसे आलिया भट्ट, करीना कपूर खान, सुष्मिता सेन, मलाइका अरोड़ा, सोनक्षी सिन्‍हा से लेकर जैकलीन तक खुद को फिट रखने के लिए शाीर्षासन करती हैं। शीर्षासन करना आपके लिए कितना फायदेमंद हो सकता है यह बात तो आपको इन एक्‍ट्रेसेस को देखकर ही पता चल गया होगा। आइए शीर्षासन के फायदों के बारे में जानें।

योगासनों में सबसे अच्‍छा आसन शीर्षासन माना जाता है। इससे करने से आप अच्‍छी फिगर पाने के साथ-साथ कई बीमारियों से भी बची रह सकती हैं। और यह आसन आपके बालों और चेहरे के लिए भी बहुत अचछा होता है। जी हां शीर्षासन से ब्‍लड सर्कुलेशन ठीक होता है, ब्रेन में ब्लड का फ्लो बढ़ने से दिमाग तेज होता है, ग्रंथियों की प्रक्रिया ठीक रहती है और साथ ही डायजेशन भी ठीक रहता है। शीर्षासन करने से चेहरे में चमक बरकरार रहती है और आपके बाल भी तेजी से बढ़ते हैं। शीर्षासन में सिर या हाथों के बल अलग-अलग कोणों में बॉडी को उल्टा किया जा सकता है। इस योग में पूरी बॉडी का बैलेंस सिर या हाथों पर टिका होता है। सिर के बल किए जाने के कारण इस आसन को शीर्षासन कहते हैं। लेकिन इसे करने के लिए शुरुआत में किसी एक्‍सपर्ट की देखरेख में करना बहुत जरूरी है क्‍योंकि शुरुआत में बैलेंस बनाने में थोड़ी परेशानी होती है। और बैलेंस नहीं बनाने की स्थिति में गिरने से गर्दन में चोट लग सकती है।

इसे जरूर पढ़ें: महिलाएं ये '1 एक्‍सरसाइज' करेंगी तो वजन होगा कम और हड्डियां बनेंगी मजबूत

 
 
 
View this post on Instagram

upside down,inside out!!!🤪

A post shared by Deepika Padukone (@deepikapadukone) onJul 11, 2018 at 4:04am PDT

1. तनाव से राहत दिलाएं

हैंडस्टैंड को कूलिंग आसन कहा जाता है क्योंकि यह आपका ध्यान अंदर की ओर खींचने में हेल्‍प करता है। यह पोज चिंता, तनाव या भय को दूर करने में बहुत मददगार होता है। तनाव से राहत पाने के लिए शीर्षासन, लंबी और धीमी सांस के साथ करना एक बेहतरीन नुस्खा है।

2. फोकस बढ़ाने में मददगार

जब आप सिर के बल उलटा होते हैं तो आपके ब्रेन में ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है। यह आपके फोकस और मेंटल कामों को बेहतर बनाने में हेल्‍प करता है। तनाव और चिंता को दूर करने के साथ, ये आसन आपके ब्रेन को तेज और स्पष्ट रखता है।

3. कंधों और बाजुओ को मजबूत बनाएं

एड्रिनलकरते समय आप अपने बाजुओं की मदद से जमीन पर खड़े होते हैं। ऐसा करने से आपकी बाजुएं, कंधे और गर्दन मजबूत होते हैं। आपकी ऊपरी बॉडी में ताकत और धीरज को बेहतर बनाने में शीर्षासन सबसे अच्‍छा आसन है।

4. डाइजेशन में सुधार

यह आसन आपके डाइजेशन के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है। जी हां जब आप एक शीर्षासन करते हैं, तो आप अपने पाचन अंगों पर गुरुत्वाकर्षण के प्रभाव को उलटने की अनुमति देते हैं, ऐसा करने से फंसी गैसों को छोड़ने और सभी अंगों में ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार करने में मदद मिलती है। इससे शरीर द्वारा पोषक का अवशोषण भी बढ़ता है।

5. एड्रिनल ग्‍लैंड साफ करने में मददगार

जब आप आसन करते समय उल्‍टा होते हैं, ये आपके छोटे एड्रिनल ग्‍लैंड को निचोड़ता है जो तनाव हार्मोन के उत्पादन के लिए जिम्मेदार होते हैं। और एड्रिनल ग्‍लैंड के साफ होने से तनाव भी कम होता है।

6. कोर मसल्‍स को मजबूत करें

शीर्षासन में कुछ देर रुकने से, आप अपने पैरों को पकड़ने के लिए अपनी मुख्य ताकत पर भरोसा करते हैं और पूरे पोज में अपना बैलेंस बनाए रखते हैं। एक मजबूत कोर आपको योग करते समय चोट लगने की कम संभावना बनाता है।

इसे जरूर पढ़ें: महिलाओं के लिए वरदान हैं ये 4 एक्‍सरसाइज, मोटापा तेजी से होगा छूमंतर

7. बालों और त्‍वचा के लिए अच्‍छा

शीर्षासन करने से आप सिर के बल खड़े होते हैं जिससे आपका ब्‍लड सर्कुलेशन चेहरे और बालों की तरफ ज्यादा होता है। जी हां उल्टा खड़े होने की स्थिति में ताजा पोषण और ऑक्सीजन चेहरे की तरफ संचारित होते हैं जिससे स्किन ग्‍लोइंग हो जाती है। शीर्षासन से सिर नीचे की ओर मुड़ जाता है जिससे चेहरे में चमक आती है और वह ग्‍लो करने लगता है। इससे सिर की ओर पोषण और ब्‍लड का फ्लो इस प्रकार से होता है कि सिर पर सफेद बाल अपने आप ही काले होने लग जाते हैं।
तो देर किस बात की अगर आप भी ये 7 फायदे चाहती हैं तो आज से ही शीर्षासन को अपने रुटीन में शामिल करें।