ग्‍लोइंग त्‍वचा पाने में मदद करने के लिए 3 योगासनों का एक वीडियो शेयर करने के बाद मलाइका अरोड़ा ने अब एक और वीडियो शेयर किया है जिसमें उन्‍हें अनुलोम-विलोम करते हुए देखा जा सकता है। इसमें उन्‍होंने बताया है कि COVID-19 के इस डराते समय में किसी की फेफड़ों की क्षमता में सुधार करने में मदद करने के लिए अनुलोम विलोम प्राणायाम (अल्टरनेटिव नॉस्ट्रिल ब्रीदिंग तकनीक) कैसे करें। 

फिटनेस फ्रीक मलाइका अरोड़ा सोशल मीडिया के माध्यम से फैन्‍स के साथ जुड़ी रहती हैं और उन्‍हें इंस्‍पायर करने के लिए फिटनेस और योग के वीडियोज और फोटोज शेयर करती रहती हैं। इसके अलावा हर हफ्ते वह विभिन्न योग आसनों और एक्‍सरसाइज रूटीन के वीडियो शेयर करती हैं जो किसी को खुद को हेल्‍दी रखने में मदद करते हैं, खासकर COVID-19 महामारी के ऐसे अभूतपूर्व समय के दौरान।

इम्‍यूनिटी बढ़ता है अनुलोम-विलोम

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Malaika Arora (@malaikaaroraofficial)

जबकि पूरा देश कोरोनोवायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है, हर किसी के लिए दैनिक जीवन में "प्राणायाम" के महत्व को उजागर करने के लिए मंगलवार को बॉलीवुड की फिटनेस फ्रीक मलाइका ने इंस्टाग्राम के माध्‍यम से फैन्‍स के साथ वीडियो शेयर किया है। अपने साप्ताहिक "#MalaikasMoveOfTheWeek" पोस्ट में, मलाइका ने एक "फेफड़े की क्षमता" में सुधार करने और किसी की भी इम्‍यूनिटी को बढ़ाने के लिए रोजाना अनुलोम विलोम का अभ्यास करने पर जोर दिया। उन्‍होंने दैनिक जीवन में इसके महत्व पर प्रकाश डाला है, जो घातक वायरस के बढ़ते शिकार के कारण लोगों के लिए करना बेहद जरूरी है।

इसे जरूर पढ़ें: 'अनुलोम-विलोम' रोजाना 10 मिनट करने से महिलाओं को मिलेंगे ये 10 फायदे

फेफड़ों की क्षमता में करता है सुधार

उन्‍होंने कैप्‍शन में लिखा, "इन कठिन समयों के दौरान, प्राणायाम को हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा बनाना बहुत महत्वपूर्ण है। प्राणायाम, अनुलोम विलोम (अल्टरनेटिव नॉस्ट्रिल ब्रीदिंग तकनीक) का एक सरल रूप है जो इम्‍यूनिटी को बढ़ाने में मदद करता है और आपके फेफड़ों की क्षमता में सुधार करता है।''

मलाइका ने यह भी शेयर किया कि प्राणायाम का अभ्यास कितनी बार किया जा सकता है और कहा, ''खाना खाने के कम से कम पहले और बाद में दो घंटे के अंतराल पर अनुलोम विलोम का 6 राउंड लगातार करना चाहिए। आप 21 राउंड तक जा सकते हैं।'' आइए इसे करने के तरीके और अन्‍य फायदों के बारे में विस्‍तार से जानें।

Recommended Video

अनुलोम-विलोम करने का तरीका

anulom vilom benefits

  • क्रॉस-लेग्ड स्थिति में बैठकर इसकी शुरुआत करें। 
  • अपने हाथों को घुटनों पर रखें और आंखें बंद करें। 
  • अब दाहिने अंगूठे को दाहिने नथुने पर रखें और इसे बंद करें। 
  • 4 गिनती के लिए बाएं नथुने से गहराई से सांस लें।
  • अब बाईं अनामिका से बाईं नासिका को बंद करें और इसे 2 सेकंड के लिए रोकें। 
  • इस चरण में, आप अपने दोनों नथुने बंद होने के साथ अपनी सांस रोक रहे हैं। 
  • दाहिने नथुने से दाहिने अंगूठे को हटा दें और दाहिने नथुने के माध्यम से गहराई से सांस छोड़ें।
  • अपनी बाईं नथुने पर अनामिका को जारी रखने के लिए 4 काउंट के लिए दाहिने नथुने से श्वास लें। 
  • फिर दोनों नथुने को 2 सेकंड के लिए बंद करें और बाईं नथुने से गहराई से सांस छोड़ें। 
  • इस प्रक्रिया को 5 मिनट तक दोहराएं। इसे करते समय अपनी सांस पर ध्यान केंद्रित करें।

अनुलोम-विलोम के फायदे

malaika arora anulom vilom

  • इम्‍यूनिटी में सुधारकरने में मददगार। 
  • याददाश्त को बढ़ाएं।
  • श्वसन और हृदय स्वास्थ्य में सुधार करता है। 
  • ब्‍लड प्रेशर को विनियमित करता है। 
  • नींद में सुधार करता है। 
  • तनाव को कम करने में मदद करता है।

आप भी इम्‍यूनिटी को बढ़ाने और फेफड़ों को मजबूत बनाने के साथ-साथ यह सभी फायदे पाने के लिए रोजाना कुछ देर अनुलोम-विलोम जरूर करें। फिटनेस से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।