योग एक ऐसा मार्ग है जो व्यक्ति को स्वस्थ शरीर और स्वस्थ मन की ओर ले जाता है। अच्छे स्वास्थ्य को प्राप्त करने के लिए ये दो मुख्य कारक हैं। एक मजबूत, लचीला शरीर और एक स्वस्थ दिमाग आपके अस्तित्व के दो सबसे महत्वपूर्ण पहलू हैं। योग का अभ्यास अभ्यासी को इन उपकरणों से लैस करता है और किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करना संभव बनाता है। जीवन को पूर्ण रूप से अनुभव करने के लिए योग को अपने दैनिक अभ्यास का हिस्सा बनाएं।

आज हम आपको कुछ ऐसे योगासन के बारे में बता रहे हैं जिन्‍हें करने से आप स्‍वस्‍थ जीवन जी सकती हैं। इन योगासन के बारे में हमें योगा मास्टर, फिलांथ्रोपिस्ट, धार्मिक गुरू और लाइफस्टाइल कोच ग्रैंड मास्टर अक्षर जी बता रहे हैं।

हस्त उत्तानासन

hastha utanasana for health

  • इसे करने के लिए सीधी खड़ी हो जाएं और अपनी बाहों को ऊपर उठाएं।
  • थोड़ा सा आर्च बनाने के लिए अपने सिर, गर्दन और पीठ के ऊपरी हिस्से को थोड़ा झुकाएं।
  • सुनिश्चित करें कि जब आप ऊपरी शरीर को पीछे की ओर झुकाती हैं, तब आपकी बाहें आपके कानों के पास होनी चाहिए।
  • अपनी निगाह को आकाश की ओर केंद्रित करें।

समकोण आसन (समान कोण मुद्रा)

samkonasana for health

  • इसे समस्तीति में खड़ी होकर शुरुआत करें।
  • अपनी बाहों को सीधा ऊपर उठाएं।
  • अपनी हथेलियों को मिलाएं और उंगलियों को ऊपर उठाएं।
  • धीरे-धीरे अपने ऊपरी शरीर को अपने श्रोणि पर आगे की ओर झुकाएं।
  • अपने ऊपरी शरीर को तब तक नीचे करें जब तक वह जमीन के समानांतर न हो जाए।
  • अपने घुटनों को सीधा रखने की कोशिश करें
  • सुनिश्चित करें कि आपकी रीढ़ सीधी है।
  • अपनी टकटकी को आगे की ओर केंद्रित करें।
  • बाईं ओर भी ऐसा ही दोहराएं।

पद्मासन (कमल मुद्रा)

padmasana for health

  • अर्ध पद्मासन में अपने दाहिने पैर को अपनी बाईं जांघ के ऊपर रखकर बैठें।
  • अपना बायां पैर उठाएं और इसे अपनी दाहिनी जांघ पर ऊपर की ओर रखें।
  • अपने पैरों को कूल्हों के करीब स्‍ट्रेच करें।
  • अपने घुटनों को फर्श पर गिराएं।
  • हथेलियों को अपने घुटनों पर ऊपर की ओर रखें।
  • दूसरे पैर से दोहराएं।

संतुलन आसन (प्लैंक पोज)

santolanasana health

  • पेट के बल लेटें। 
  • अपनी हथेलियों को कंधों के नीचे रखें और ऊपरी शरीर, पेल्विक और घुटनों को ऊपर उठाएं।
  • अपने पैर की उंगलियों से फर्श को पकड़ें।
  • घुटनों को सीधा करें।
  • सुनिश्चित करें कि आपके घुटने, पेल्विक और रीढ़ एक सीध में हो। 
  • आपकी कलाइयां आपके कंधों के नीचे होनी चाहिए और आपकी बाहें सीधी होनी चाहिए।

Recommended Video

वशिष्ठ आसन (साइड प्लैंक पोज)

vasishtasana for health

  • संतुलन आसन (प्लैंक) से शुरुआत करें।
  • अपनी बाईं हथेली को पर मजबूती से रखते हुए, अपने दाहिने हाथ को फर्श से हटा दें।
  • अपने पूरे शरीर को दाहिनी ओर मोड़ें और अपने दाहिने पैर को फर्श से उठाकर अपने बाएं पैर के ऊपर रखें।
  • अपनी दाहिनी भुजा को ऊपर उठाएं और उंगलियों को आकाश की ओर रखें।
  • सुनिश्चित करें कि आपके दोनों घुटने, एड़ी और पैर एक दूसरे के संपर्क में हैं।
  • सुनिश्चित करें कि दोनों हाथ और कंधे एक सीधी रेखा में हों।
  • अपना सिर घुमाएं और अपने दाहिने हाथ को देखें।

योग में आसन, प्राणायाम, ध्यान, मुद्रा, जप आदि जैसी कई अलग-अलग तकनीकें शामिल हैं। इनकी मदद से आप आसन और सांस के माध्यम से अपने शरीर को प्रशिक्षित कर सकते हैं। ध्यान और प्राणायाम भी आपको संरेखण में लाते हैं। 

योग एक पारंपरिक विज्ञान है जो मन, शरीर और आत्मा को जोड़ता और संरेखित करता है। चाहे आप शुरुआती हों या मध्यवर्ती और अग्रिम स्तर पर, योग में सभी के लिए कुछ न कुछ है। 

आप भी रोजाना इन योगासन को करके स्‍वस्‍थ जीवन जी सकती हैं। फिटनेस से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।