आपने बड़े शेफ और खाने-पीने के शौकीन लोगों से पार्सले के बारे में सुना होगा। अधिकतर लोगों का ये मानना होता है कि पार्सले यानी धनिया, लेकिन ये गलत है। इसकी शक्ल भले ही धनिया से मिलती है, लेकिन ये बहुत ही अलग हर्ब है जिसका इस्तेमाल हमेशा खाने में फ्लेवर देने के लिए और कुछ दवाओं के लिए किया जाता है। भारत में हमें जिस चीज़ के बारे में ज्यादा पता नहीं होता है उस चीज़ को लेकर ज्यादा रिसर्च भी नहीं किया जाता है।

पार्सले को अधिकतर गार्निशिंग के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन आपको ये समझना होगा कि ये एक बहुत ही जरूरी इंग्रीडिएंट साबित हो सकता है। तो चलिए आज आपको इसके बारे में और जानकारी देते हैं।

क्या है पार्सले का हिंदी नाम?

पार्सले को हिंदी में अजमोद कहते हैं और हो सकता है कि अब आपको ये थोड़ा जाना-पहचाना लग रहा हो। ये अजवाइन की तरह ही खुशबू और फ्लेवर देने वाला एक हर्ब होता है जिसे खाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। हमारे यहां अक्सर इसे गार्निशिंग के लिए ही रखा जाता है, लेकिन विदेशों में इसके आधार पर ही कई डिशेज भी बनाई जाती हैं।

इसमें कई तरह की हीलिंग प्रॉपर्टीज भी होती हैं जिनके बारे में भी हम आपको बताएंगे।

parsley in hindi

इसे जरूर पढ़ें- एक्सपर्ट टिप्स: हीमोग्लोबिन लेवल ठीक रखने के लिए काम की साबित हो सकती है ये ड्रिंक

कितनी तरह के होते हैं पार्सले?

पार्सले में नॉर्मल पार्सले (जो काफी हद तक धनिया जैसा दिखता है) और कर्ली पार्सले होता है। हालांकि, इटालियन हर्ब फ्लैट लीफ पार्सले भी एक तरह से धनिया का ही दूसरा रूप होता है।

हममे से कई लोगों को ये अंदाज़ा नहीं होता है कि इसकी कितनी खूबियां हो सकती हैं।

parsley vs coriander

पार्सले के सेहत से जुड़े फायदे-

अब बात करते हैं पार्सले से जुड़े हेल्थ बेनेफिट्स की। अलग-अलग रिसर्च इस हर्ब को लेकर की जा चुकी है और इसे स्वास्थ्य से जुड़े फायदों की बात की जा सकती है। 

इसमें कई तरह के न्यूट्रिएंट्स होते हैं-

पार्सले में कई तरह के न्यूट्रिएंट्स होते हैं जो शरीर को काफी हेल्दी बनाने में मदद कर सकते हैं। अगर इसकी न्यूट्रिटिव वैल्यू के बारे में बात करें तो इसमें ये सब होता है- 

  • 11 कैलोरी
  • 2 ग्राम कार्ब्स
  • 1 ग्राम प्रोटीन
  • 1 ग्राम फैट
  • 1 ग्राम फाइबर
  • विटामिन-ए
  • विटामिन-सी
  • विटामिन-के
  • फोलेट
  • पोटेशियम 

ये हर्ब खासतौर पर विटामिन-के से भरपूर होती है जो ब्लड क्लॉटिंग और बोन हेल्थ को लेकर ज्यादा जरूरी साबित होती है। 

parsley meaning in hindi

इसे जरूर पढ़ें- होने वाली दुल्‍हन को खाने के साथ जरूर खानी चाहिए 'हरी मिर्च', जानें फायदे 

एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर-

पार्सले में बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो हमारे शरीर से टॉक्सिन्स निकालने में मदद कर सकते हैं। ये काफी हेल्दी एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो शरीर में हेल्दी बैलेंस बनाकर रखते हैं। इसमें फ्लेवोनॉयड्स, करॉटिनाइड्स, विटामिन-सी जैसे एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं। 

स्टडी की मानें तो फ्लेवोनॉयड्स की मदद से टाइप 2 डायबिटीज, हार्ट डिजीज, कोलन कैंसर आदि समस्याओं का रिस्क कम होता है।

हड्डियों के विकास के लिए भी है जरूरी- 

एक रिसर्च के मुताबिक हड्डियों के विकास के लिए जिस तरह के विटामिन और मिनरल्स की जरूरत होती है वो अजमोद में बहुतायत में मिलते हैं। 

Recommended Video

अजमोद का इस्तेमाल आप भी उसी प्रकार से कर सकते हैं। दरअसल, इसमें मौजूद विटामिन-के और कैल्शियम हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है। 

आंखों के लिए फायदेमंद- 

अजमोद में ऐसे कई कंपाउंड होते हैं जो आंखों की सेहत के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। बेटा कैरोटीन नामक एक और कंपाउंड है जो आंखों के लिए अच्छा होता है और ये पार्सले में मौजूद होता है। 

तो अगर आप पार्सले का इस्तेमाल करना चाहें तो इसे जरूर करें। साथ ही आप ये भी ध्यान रखें कि कई लोगों को इससे एलर्जी हो सकती है। अगर आपको ये अपनी डाइट में शामिल करना है तो एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।