भारतीय भोजन में मसालों का इस्तेमाल भरपूर किया जाता है। इन मसालों में सेहत का खजाना छिपा हुआ है जो कई स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों को दूर करने की क्षमता रखते हैं। कुछ मसालों को रोजाना आपके खानों में इस्तेमाल किया जाता है, खासकर इन पांच मसालों के मिश्रण को। इन पांच मसालों के मिश्रण को पंचफोरन कहते हैं जिसे पांच मसालों को मिलाकर तैयार किया जाता है।

देश के पूर्वी भाग में पंचफोरन का इस्तेमाल खूब किया जाता है। सब्जी से लेकर दाल में छौंका तक के लिए इन मसालों का उपयोग खूब किया जाता है। पंचफोरन मेथी, राई/सरसों, जीरा, सौंफ, कलौंजी को मिलाकर तैयार किया जाता है। यह स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद है। यह न सिर्फ आपके शरीर को पोषण देता है बल्कि वेट लॉस और पाचनतंत्र को स्वस्थ बनाए रखने में भी मदद करता है। 

जीरा

Cumin seeds

एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी कैंसर के गुणों से भरपूर जीरा हेल्दी मसालों में से एक है। यह यूरिक एसिड के मरीजों के लिए काफी फायदेमंद हैं। इसके अलावा यह यूरिक एसिड के कारण होने वाले जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करता है। अगर आप सर्दी-जुकाम जैसी समस्याओं से परेशान हैं तो जीरे का इस्तेमाल कर सकती हैं। यह कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखता है। वहीं पाचन, मेटाबॉलिज्म और वजन कम करने के लिए भी काफी फायदेमंद है।

राई/सरसों

राई या सरसों का उपयोग ज्यादातर तड़के के लिए किया जाता है और अन्य पकवानों में भी बिना किसी वजह के इस्तेमाल किया जाता है। यह अपने एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों के लिए जाना जाता है और पाचन के लिए अच्छा है। यह शरीर के मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करता है और अस्थमा, ब्लड प्रेशर और माइग्रेन की समस्याओं को दूर करने के लिए लाभकारी होता है।

 

मेथी

Fenugreek seeds

मेथी पाचन समस्याओं जैसे अपच, ऐंठन और पेट दर्द आदि के इलाज के लिए बेहद फायदेमंद है। यह किडनी और लिवर के साथ अन्य महत्वपूर्ण अंगों को बूस्ट करने का काम करता हैं। सुबह-शाम मेथी का रस पीने से डायबिटीज में लाभ होता है। इसके अलावा वेट लॉस के लिए अपनी डाइट में मेथी के पत्तों को शामिल कर सकती हैं। इससे आपको काफी लाभ मिलेगा।

 

सौंफ

Fennel Seeds

चर्बी घटाने के लिए सौंफ या सौंफ के बीज का सेवन करना एक नैचुरल तरीका है। मोटापे या फिर वजन कम करने के लिए यह बेहद कारगर है। वजन कम करने के अलावा सौंफ कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी के खतरे को कम करता है। साथ ही, सौंफ सांसों की बदबू को खत्म करने में मदद करता है और मसूड़ों की सेहत के लिए अच्छा होता है। वजन कम करने के लिए सुबह-सुबह सौंफ के पानी का सेवन कर सकती हैं, इससे आपको काफी फायदा मिलेगा।

इसे जरूर पढ़ें : वेट लॉस से लेकर एनर्जी बढ़ाने तक ये 6 मसाले जरूर खाएं, थकान भी होती है दूर

कलौंजी

कलौंजी में एंटीऑक्सीडेंट के गुण होते हैं जो कैंसर के खतरे को कम कर सकता है, क्योंकि ये शरीर के फ्री रेडिकल को खत्म करने की क्षमता रखता हैं। कलौंजी के नियमित सेवन से लीवर सही तरीके से काम करता है और शरीर को विषाक्त पदार्थों से मुक्त रखता है। वहीं माना जाता है कि कलौंजी वजन कम करने के लिए भी काफी लाभकारी होते हैं। वहीं कलौंजी के बीजों को सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ खाएं तो एसिडिटी और डायबिटीज से राहत मिल सकती है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।