कहा जाता है कि मां बनाना किसी भी महिला के जीवन का सबसे कठिन, लेकिन सुंदर सफर होता है। और जीवन की इस सबसे बड़ी जिम्मेदारी को उसे बहुत ही धैर्य और अच्छे से निभानी होती हैं। इसलिए बच्चे के लिए एक आदर्श नींव बनाने के लिए वह हर संभव कोशिश करती हैं। जी हां नई मां उन 9 महीनों के कठिन सफर और पेरेंटिंग की लगभग सभी जानकारी लेने के लिए कोई भी कसर नहीं छोड़ती हैं। क्योंकि वह चाहती हैं कि उनका बच्चा सबसे सुंदर और तेज दिमाग वाला हो।      

और तो और बच्चे के मानसिक और शारीरिक विकास से जुडी जानकारी लेने का प्रयास करने के लिए कोई भी राशि उनको ज्यादा नही लगती हैं। यही वजह है कि मां बनने वाली महिलाओं का बच्चे के विकास और intelligence के बारे में चर्चा करना महत्वनपूर्ण होता है। जाहिर है प्रेग्‍नेंसी के दौरान कुछ फूड्स को खाने से आपके बच्चे का मानसिक विकास बढि़या तरीके से होता है। 

Read more: ये वो हेल्दी फूड हैं जिन्हें प्रेग्नेंसी में ना खाएं, प्रेग्नेंट वुमेन हो सकती हैं बीमार

फैटी फिश 

fish for child brain

बच्चों के ब्रेन के विकास के लिए प्रेग्नेंसी के दौरान, wild-caught oily (fatty) fish खाना सबसे अच्छा होता है। फैटी फिश ओमेगा-3 फैटी एसिड के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक है। यह फैट आपके बच्चे की बुद्धि के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि 60% मानव ब्रेन फैट है और इसके 20% डीएचए और एआरए हैं। ये फूड्स ना केवल ब्रेन के टिश्यु  के निर्माण में हेल्प करते हैं बल्कि इसमें जीन की अभिव्यक्ति पैदा करने और एक मजबूत इम्यूनिटी के निर्माण करने में भी हेल्प करते हैं।


क्या कहती है रिसर्च 

फिश के सामान्य स्वास्थ्य लाभ के साथ प्रदूषक की संभावित हानि को संतुलित करने के प्रयास में, U.S. Food and Drug Administration's 2014 guidelines के दिशानिर्देश प्रेग्नेंट महिलाओं को मछली खाने को प्रोत्साहित करते हैं, लेकिन हर हफ्ते 12 औंस से ज्यादा नहीं।

Read More: अगर चाहती हैं कि आपका बच्चा exam में करें top तो उसे ये 5 चीजें खिलाएं

हालांकि वेजिटेरियन के लिए ये बुरी खबर है। जब तक हम वेजिटेरियन के लिए कोई हेल्दी विकल्प लेकर आये तब तक के लिए हमें माफ कर दीजिए। लेकिन जो महिलाएं नॉन वेजिटेरियन हैं और चाहती हैं कि उनके बच्चे का ब्रेन तेज हो तो आज से ही अपनी डाइट में फैटी फिश को शामिल करें।

Recommended Video