दूध हेल्‍थ के लिए बहुत अच्‍छा माना जाता है। जी हां दूध में कैल्शियम भरपूर मात्रा में होता है जो बढ़ते बच्‍चों की ग्रोथ और हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जरूरी होता है। साथ ही दूध पीने से वह एनर्जी से भरपूर रहते हैं क्‍योंकि इसमें विटामिन ए, के और बी-12 थाइमिन और मिनरल जैसे- फास्‍फोरस, सोडियम और पोटैशियम पाए जाते है। इसलिए मैं रोजाना अपने बच्‍चों को दूध पीने के लिए देती हूं। सिर्फ बच्‍चों को ही नहीं मेरा मानना है कि महिलाओं को भी अपनी डाइट में दूध को शामिल करना चाहिए। क्योंकि एक उम्र के बाद महिलाओं की बॉडी में कैल्शियम की कमी होने लगती है, और रोजाना दूध पीने से इसकी कमी को पूरा किया जा सकता है। मुझे लगता है कि अधिकांश लोग हेल्‍थ को दुरुस्‍त रखने के लिए दूध पीते हैं। लेकिन दूध पीने के कुछ नियम होते हैं, अगर उसे अमल नहीं किया गया तो दूध पीने से आपको फायदे की जगह नुकसान हो सकता है। 

जी हां कुछ लोग दूध पीते हुए ऐसी गलतियां जैसे, खाने के तुरंत बाद दूध पीना, नॉनवेज के साथ दूध पीना आदि करते हैं, जिससे दूध आपको फायदा पहुंचाने की बजाय नुकसान पहुंचाने लगता है। ऐसा ही कुछ मैं भी करती थीं। बच्‍चों को दूध देने के कुछ देर बाद ही खाना दे देती थी। लेकिन जब मेरी दादी ने मुझे ऐसा करते हुए देखा तो उन्‍होंने मुझे बताया कि इससे बच्‍चों को नुकसान हो सकता है। इसके साथ ही दूध पीने के कुछ नियम भी उन्‍होंने मुझे बताये और आज दूध पीने के ये नियम मैं आपके साथ भी शेयर कर रही हूं ताकि आप भी दूध सही तरीके से पीकर इसका फायदा उठा सकें। तो देर किस बात की आइए दादी मां के ऐसे ही 5 नियम के बारे में आप भी जानें।

इसे जरूर पढ़ेें: रात को पीएं या दिन में, क्‍या है दूध पीने का सही समय एक्‍सपर्ट से जानिए

rules to drink milk inside

दूध पीने का नियम नंबर-1

कई लोगों की खाने से कुछ देर पहले या खाने के कुछ देर बाद दूध पीने की आदत होती है। अगर आपको भी ऐसी ही आदत हैं तो इस आदत को तुरंत छोड़ दें।  क्‍योंकि इससे पचने में समय लगता है और आपको भारीपन महसूस होता है। इसके अलावा दूध के साथ कभी भी नमक का सेवन नहीं करना चाहिए। जो आपको बॉडी के लिए नुकसान पहुंचाता है। जी हां खट्टी या नमकीन चीजों का सेवन दूध पीने के 1 घंटे पहले या दूध पीने के 1 घंटे बाद ही करें। अगर ऐसा नहीं किया तो ब्लोटिंग या डकार आने की समस्या हो सकती है।

Recommended Video

दूध पीने का नियम नंबर-2

प्याज और बैंगन के साथ कभी दूध का सेवन नहीं करें। इनमें मौजूद केमिकल आपस में क्रिया करके त्वचा संबंधी रोग पैदा कर सकते हैं। इसलिए इनके सेवन में कुछ समय का अंतर रखें। साथ ही फिश या नॉनवेज के साथ क‍भी दूध न लें। इससे आपको त्वचा पर सफेद धब्बे या ल्यूकोडर्मा की परेशानी हो सकती है। इसके अलावा इन दोनों में ही प्रोटीन होता है, जिससे इसे डाइजेस्‍ट करने में बहुत समय लगता है।

rules to drink milk inside

दूध पीने का नियम नंबर-3

दादी मां का कहना हैं कि अगर आप ताकत और ज्‍यादा पोषण चाहती हैं तो आपको गाय का दूध पीना चाहिए। लेकिन आप अपना वजन बढ़ाने के लिए दूध पीना चाहती हैं तो भैंस का दूध लें। लेकिन भैंस का दूध कफ बढ़ाने का काम भी करता है। और भैंस के दूध के मुकाबले गाय का दूध ज्‍यादा हेल्‍दी होता है। गाय के दूध में कैल्शियम, प्रोटीन, एंटी-ऑक्सीडेंट्स के साथ-साथ विटमिन ई, सेलेनियम, जिंक आदि भी पर्याप्त मात्रा में होते हैं। ये तत्व हमारी बॉडी की इम्‍यूनिटी को बढ़ाते हैं। जिससे हम छोटी-छोटी बीमारियों से बचे रह सकते हैं। बच्‍चों के ब्रेन के विकास के लिए उन्‍हें रेगुलर गाय का दूध पिलाना चाहिए।

इसे जरूर पढ़ेें: नहीं पसंद है दूध तो मिलाएं ये 5 चीजें, टेस्‍ट और हेल्‍थ दोनों पाएं

दूध पीने का नियम नंबर-4

अगर आपको रात को खाने के बाद दूध पीने की आदत हैं तो खाने और दूध पीने के दौरान कम से कम 1 घंटे का अंतर रखें और खाना थोड़ा कम ही खाएं। वर्ना डाइजेशन संबंधी समस्‍या आपको परेशान कर सकती हैं। यानि इससे आपका पेट खराब हो सकता है। इसके अलावा आपको ठंडा दूध पीने से बचना चाहिए, ना ही इसमें चीनी का इस्तेमाल करें। ठंडा दूध धीरे पचता है जिससे पेट में गैस बन सकती है। और चीनी पोषक तत्वों को दूर करती है और डाइजेशन में समस्या पैदा करती है।

अगर आप भी दूध से जुड़े ये 4 दादी मां के नियम याद रखेंगी तो दूध पीने से आपको बहुत ज्यादा फायदा मिलेगा।