लगातार खराब हो रही हवा की गुणवत्ता आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा रही है। ऐसे में बहुत जरूरी है कि आप अपनी डाइट का खास ख्याल रखें। वायु प्रदूषण एक ग्लोबल समस्या बन गई है और यह दुनियाभर में हो रहीं मौतों के प्रमुख कारणों में से एक है। प्रदूषित हवा में मौजूद पदार्थ, धूल मिट्टी के कण और हानिकारक कैमिकल शरीर को न सिर्फ नुकासन पहुंचा रहे हैं बल्कि इससे स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं जैसे अस्थमा, फेफड़ों का कैंसर, और हृदय रोग आदि को जन्म भी दे रहे हैं।

प्रदूषण के हानिकारक प्रभाव सिर्फ बुजुर्गों या फिर बीमार व्यक्तियों पर ही नहीं बल्कि बच्चों पर भी देखने को मिल रहा है। अधिक देर तक जहरीली हवा के संपर्क में आने से आंखों में जलन, खुजली, थकान, सिर दर्द या फिर सांस लेने में समस्या आदि जैसी परेशानी शुरू हो सकती हैं। वहीं मौजूदा हालात में प्रदूषण घटने के बजाय लगातार बढ़ता जा रहा है, जिससे शारीरिक समस्याएं भी बढ़ती चली जाएंगी, हालांकि अगर हेल्दी डाइट को फॉलो करें तो इन परेशानियों से निपटने के लिए इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत किया जा सकता है। आइए जानते हैं प्रदूषण के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए किस तरह की डाइट को फॉलो किया जा सकता है।

खट्टे फलों का करें सेवन

citrus fruits

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर खट्टे फल शरीर में फ्री रेडिकल को नुकसान होने से बचाते हैं। विटामिन सी, फोलेट और फास्फोरस से भरपूर फल कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी के खतरे को कम करते हैं और शरीर में रक्त के प्रवाह का सुधार करते हैं। यही नहीं अगर आप विटामिन सी का सेवन करती हैं तो त्वचा में भी निखार आता है। सर्दियों के मौसम में ऐसे कई फल हैं, जैसे संतरा, आंवला, नींबू, और अमरूद आदि जिसका आप सेवन कर सकती हैं। इन मौसमी फलों में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

गाजर का जूस

carrot juice

वैसे तो कई हेल्दी ड्रिंक है जिसका सेवन आप कर सकती हैं, लेकिन बढ़ते प्रदूषण से बचने के लिए गाजर का जूस पी सकती हैं। लो कैलोरी और पोषक तत्वों से भरपूर गाजर के जूस में कई स्वास्थ्य लाभ छिपे हुए हैं, जिसका सेवन करने से फेफड़ों के कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है। विटामिन ए, बी-6 और सी से भरपूर गाजर एक इम्यूनिटी बूस्टर है, जो शरीर को कई बीमारियों और वायरस से बचाता है। आप चाहें तो गाजर का सेवन कच्चा या पका दोनों रूप में कर सकती हैं। सेहत के साथ-साथ यह स्किन के लिए भी काफी फायदेमंद है। ऐसे में आप चाहें तो अपनी डाइट में एक ग्लास गाजर का जूस शामिल कर सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: जानिए क्यों डाइट में शामिल करना चाहिए शतावर जूस, वेट लॉस समेत मिलेंगे ये 7 फायदे

Recommended Video

फेफड़ों को साफ रखें ये नेचुरल हर्ब

Natural herbs

कोरोना काल में काढ़ा और मसालों की अहमियत बढ़ गई है। ऐसे में प्रदूषण से बचने के लिए प्राकृतिक जड़ी बूटी जैसे तुलसी, नीम, हल्दी, गिलोय, अश्वगंधा, और सौंफ आदि जैसी चीजों का सेवन जरूर किया जाना चाहिए। रोजाना इन नेचुरल जड़ी बूटियों से बने हेल्दी ड्रिंक को पीने से प्रदूषण की वजह से होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं से लड़ने के लिए फायदेमंद साबित होगा। 

इसे भी पढ़ें: सर्दियों में अपनी डाइट में शामिल करें ये हेल्दी जूस, सर्दी-जुकाम से रहेंगी हमेशा दूर

ग्रीन टी का करें सेवन

green tea for immunity

ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा भरपूर होती है। इसके साथ ही यह गले में खराश, खांसी या फिर अन्य तरह की एलर्जी जैसी समस्याओं से निपटने में मदद कर सकती है। इसके अलावा फेफड़ों में जलन कम करने ,शरीर को हाइड्रेट रखने या फिर वायुमार्ग को साफ रखने के लिए ग्रीन टी पीना फायदेमंद साबित हो सकता है। इसलिए आम चाय को छोड़ कर ग्रीन टी का सेवन जरूर करें।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।