हम सभी पेपरमिंट के स्वाद और फ्लेवर से वाकिफ होंगे। इसकी चाय या फिर तेल से होने वाले असंख्य लाभों के बारे में भी जानते हैं, लेकिन इसी के परिवार के एक अन्य हर्ब को शायद कम ही लोग जानते हैं। इसे पहाड़ी पुदीना कहते हैं और यह ऐसी जड़ी बूटी है, जो औषधि के रूप में काम करती है। इसे भोजन के स्वाद को बढ़ाने के लिए भी उपयोग में लाया जाता है।

पहाड़ी पुदीने के अंदर भरपूर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसी के कारण इसके उपयोग से कई समस्याएं दूर हो सकती हैं। महिलाओं की कुछ समस्याओं के लिए तो यह रामबाण साबित हो सकता है।इसकी पत्तियां पेपरमिंट से थोड़ी बड़ी होती हैं और इसकी और पेपरमिंट की खुशबू में भी अंतर है। चीफ क्लीनिकल न्यूट्रिशनिस्ट डॉ. सीमा सिंह से जानें इसके अन्य लाभों के बारे में।

पाचन शक्ति में सुधार

spearmint tea helps in digestion

पुदीना आमतौर पर अपच, मतली, उल्टी और गैस के लक्षणों को दूर करने में मदद करने के लिए प्रयोग किया जाता है। इसमें मौजूद कार्वोन कंपाउंड डाइजेस्टिव ट्रैक्ट के मसल कॉन्ट्रैक्शन को रोकता है, जिससे पेट दर्द, और मरोड़ आदि की समस्या दूर होती है। कुछ अध्ययनों में भी पाया गया है कि इसके सेवन से तेज पेट दर्द में राहत मिलती है। पहाड़ी पुदीने के तेल को सूंघने भर से मतली और उल्टी बंद हो सकती है।

बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचाए

स्पियरमिंट की चाय और तेल न केवल जीवाणुओं से मुंह की रक्षा करता है, बल्कि इससे सांसों की बदबू भी दूर होती है और मुंह के बैक्टीरिया भी खत्म हो जाते हैं। इसमें मौजूद रोगाणुरोधी और जीवाणुरोधी गुण बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं और मुंह के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हैं। 

फेशियल हेयर से दिला सकता है निजात

spearmint tea helps in facial hair

कई महिलाओं को चेहरे के साथ-साथ हाथों, पेट और पीठ के हिस्सों में भी बाल आते हैं। एक रिपोर्ट में यह पाया गया है कि पहाड़ी पुदीना की नियमित रूप से चाय पीने वाली महिलाओं में चेहरे पर हेयर ग्रोथ कम हुई थी।  एक दिन में दो कप पुदीने की चाय महिलाओं में चेहरे के बालों के विकास को कम करने में मदद कर सकती है। अध्ययनों से पता चला है कि यह टेस्टोस्टेरोन को कम करने में मदद कर सकता है, जो चेहरे के बालों के विकास से जुड़ा है।

इसे भी पढ़ें :Expert Tips: कलौंजी से बने इस ड्रिंक से वजन कम करने के साथ करें पाचन में सुधार

स्ट्रेस को रखे दूर

इस पौधे की पत्तियों में मेन्थॉल होता है, जो शरीर को रिलैक्स और मन को शांत करता है। इसी कारण इसका सेवन करने से आप तनाव, चिंता, और अवसाद आदि को दूर कर सकती हैं। ऐसा माना जाता है कि यह आपके मस्तिष्क में GABA रिसेप्टर्स संपर्क में आकर रिलैक्शेन को बढ़ावा देता है और तनाव को कम करता है। GABA एक न्योरोट्रांसमीटर है, जो नर्व एक्टिविटी को कम करने में मदद करता है।

इसे भी पढ़ें :एनर्जी बार और सीजनल फ्रूट्स से अपनी डाइट को बनाएं बेहतर

हार्मोन असंतुलन को संतुलित करे

spearmint tea helps in hormone imbalance

हार्मोन असंतुलन वाली महिलाओं के लिए, पुदीने की चाय राहत प्रदान कर सकती है। एक अध्ययन में जो 30 दिनों तक किया गया था, उसमें पाया गया कि पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम (पीसीओएस) वाली 42 महिलाओं ने दिन में दो बार पुदीने की चाय पी थी, उनमें टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम और एलएच और एफएसएच का स्तर उन महिलाओं की तुलना में अधिक था, जिन्होंने प्लेसबो चाय पी थी।

Recommended Video

कैसे बनाएं पहाड़ी पुदीने की चाय

सामग्री

  • पहाड़ी पुदीने की 4-5 पत्तियां
  • दो कप पानी
  • नींबू का रस

विधि

  • सबसे पहले एक पतीले में दो कप पानी उबाल आने तक पकाएं।
  • अब इसमें पुदीने की पत्तियां डालकर 1-2 मिनट के लिए पकाएं और फिर गैस बंद कर दें।
  • अब इसे ढक कर कम से कम 5-7 मिनट के लिए यूं ही रहने दें।
  • आपकी पहाड़ी पुदीना वाली चाय तैयार है। नींबू का रस डालकर पी लें।

यह चाय कैलोरी और कैफीन मुक्त होती होती है। आपकी जैसी इच्छा हो इस चाय को गर्म या ठंडा वैसे ही पी सकती हैं। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें। ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

 

Image Credit : freepik.com