सोया बड़ी, सोया चंक या फिर सोयाबीन में पाए जाने वाले पोषक तत्व एक समान होते हैं, लेकिन इनके साइज में थोड़ा फर्क होता है। बता दें कि सोया बड़ी एक प्रकार की फसल है, जिससे तेल निकाला जाता है। तेल निकालने के बाद बचा हुआ पदार्थ जब सूख जाता है तो यह खुरदुरा नजर आता है, जिसका इस्तेमाल बाद में आटा, सोयाबड़ी या फिर चंक्स बनाने में किया जाता है। 
 
सोयाबीन को कुछ लोग वेजिटेबल मीट भी कहते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इसका स्वाद भी बिल्कुल नॉन वेज की तरह होता है। सोयाबीन को जब हम गर्म पानी में मिक्स करते हैं या फिर ग्रेवी में डालते हैं तो यह तुरंत सॉफ्ट और स्पंजी हो जाती है। खास बात है कि इसे नॉन वेज की तरह ही पकाया जाता है। विटामिन्स और मिनरल्स से भरपूर होने की वजह से इसे डाइट में शामिल करने के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। 

मेटाबॉलिज्म को करती है बूस्ट

soyawadi

डाइट में शामिल करने से मांसपेशियां मजबूत होती है, यही नहीं यह मेटाबॉलिज्म एक्टिविटी में भी सुधार करने में मदद करता है।  दरअसल सोया बड़ी प्रोटीन का प्रमुख सोर्स होता है, जो कोशिकाओं के निर्माण और मरम्मत के लिए मददगार माना जाता है। इसके अलावा अगर आपकी मांसपेशियों में हमेशा दर्द की शिकायत रहती है तो सोयाबीन का सेवन करना फायदेमंद साबित हो सकता है। इन्हीं सब समस्याओं से निजात पाने के लिए ज्यादातर लोग वर्कआउट के बाद ब्रेकफास्ट में सोया बड़ी खाना पसंद करते हैं।

त्वचा और बालों के लिए भी है फायदेमंद

सोया बड़ी में पर्याप्त मात्रा में विटामिन ई पाई जाती है, जो डेड स्किन की समस्या को दूर कर नई कोशिकाओं को बनने में मदद करती हैं। इसके कारण त्वचा हमेशा जवां और निखरी नजर आती है। त्वचा की खूबसूरती को बनाए रखने के लिए सोया बड़ी अलग-अलग तरीके से इस्तेमाल की जाती है। अगर आप इसे डाइट में शामिल करते हैं तो त्वचा के साथ-साथ यह बालों को भी पोषण देने का काम करेगी।
 

हड्डियों को बनाता है मजबूत

for strong bones

समय के साथ ज्यादातर लोगों में हड्डियों की समस्या देखने को मिल रही है। हालांकि, सोया बड़ी को डाइट में शामिल करने से आपको फायदा मिल सकता है, क्योंकि हड्डियों को स्वस्थ बनाए रखने में यह मददगार होती है। सोया बड़ी में पाए जाने वाले विटामिन, मिनरल्स, कैल्शियम, मैग्निशियम और कॉपर जैसे पोषक तत्व हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। बढ़ते हुए बच्चें और बुजुर्ग अपनी डाइट में सोया बड़ी को शामिल कर फायदा उठा सकते हैं।

वेट लॉस में भी करती है मदद

रिसर्च के अनुसार, सोया चंक्स अंगों के आसपास एक्स्ट्रा फैट को जमा होने से रोकती है, जिसकी वजह से वजन( वजन करेगी कम) नहीं बढ़ता। इसमें पाए जाने वाले प्रोटीन और फाइबर की वजह से पेट अधिक समय तक भरा रहता है, जिससे ओवरइटिंग की समस्या नहीं रहती है। यह उन लोगों के लिए बेस्ट फूड है जो वजन कम करना चाहते हैं।
 

Recommended Video

बढ़ते कोलेस्ट्रॉल को करेगी कंट्रोल

heart risk

रिसर्च में पाया गया है कि सोयाबड़ी या फिर सोया चंक खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को प्रभावी रूप से कम कर सकती है। साथ ही यह दिल से जुड़ी बीमारियों के खतरे को कम करने में भी मददगार होती है। दिल की बीमारी के खतरे को कम करने के अलावा यह डायबिटीज की रोकथाम में भी मददगार है।
 
उम्मीद है कि आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी। साथ ही, आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।