• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

ये 4 फूड्स कैंसर के मरीजों को खाना हमेशा के लिए बंद कर देना चाहिए

आज हम आपको कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बता रहे हैं जो कैंसर के जोखिम को कई गुणा बढ़ा सकते हैं। 
author-profile
Published -02 May 2022, 16:28 ISTUpdated -03 May 2022, 10:14 IST
Next
Article
foods for cancer patients to avoid

अच्छी जीवनशैली ट्यूमर को कम कर सकती है और कैंसर से लड़ सकती है।
जी हां, हम वास्तव में नहीं जानते हैं कि कैंसर का कारण क्या होता है और ऐसे कई संगठन हैं जो डाइट, फिजिकल एक्टिविटी और कैंसर पर साक्ष्य के शरीर की निरंतर समीक्षा और मूल्यांकन करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। जबकि कुछ फूड्स कैंसर से बचा सकते हैं, अन्य फूड्स आपके जोखिम को बढ़ा सकते हैं जैसे, निम्नलिखित फूड्स और ड्रिंक्‍स का सेवन कम करना या उनसे पूरी तरह से बचना सबसे अच्छा रहता है। 

आइए आज हम आपको ऐसे ही 4 फूड्स के बारे में बता रहे हैं जिसे कैंसर के मरीजों को पूरी तरह से लेना बंद कर देना चाहिए। इन फूड्स की जानकारी हमें न्यूट्रिशनिस्ट मेघा मुखीजा जी दे रही हैं। मेघा मुखीजा 2016 से Health Mania में चीफ डा‍इटीशियन और फाउंडर हैं।

which foods are not good for cancer patients

1. अल्‍कोहल

जब आप अल्‍कोहल का सेवन करते हैं, तब आपका लिवर अल्कोहल को एसिटालडिहाइड, एक कार्सिनोजेनिक यौगिक में तोड़ देता है। 2017 की समीक्षा के अनुसार, एसीटैल्डिहाइड डीएनए डैमेज और ऑक्सीडेटिव तनाव को बढ़ावा देता है। यह आपके इम्‍यून फंक्‍शन में भी हस्तक्षेप करता है, जिससे आपके शरीर के लिए पूर्व कैंसर और कैंसर कोशिकाओं को लक्षित करना मुश्किल हो जाता है।2015 के एक अध्ययन के अनुसार, महिलाओं में अल्‍कोहल शरीर में एस्ट्रोजन के लेवल को बढ़ाता है। यह एस्ट्रोजन रिसेप्टर पॉजिटिव ब्रेस्‍ट कैंसर के लिए एक हाई जोखिम से जुड़ा हुआ है।

अल्‍कोहल न लेना ही सबसे अच्छा है। यदि आप पीती हैं तो मात्रा को महिलाओं के लिए प्रति दिन 1 ड्रिंक और पुरुषों के लिए 2 ड्रिंक तक सीमित करना चाहिए।  अल्‍कोहल एक ज्ञात कैंसर पैदा करने वाला एजेंट है।

इसे जरूर पढ़ें:ये 7 फूड्स बढ़ाते हैं कैंसर का खतरा, तुरंत लेना बंद कर दें

2. अधिक पका हुआ भोजन

अधिक खाना पकाने, विशेष रूप से मीट, कार्सिनोजेन्स का उत्पादन कर सकते हैं। 2020 के एक लेख के अनुसार, हाई हीट के साथ मीट पकाने से कार्सिनोजेनिक पीएएच और हेट्रोसायक्लिक एमाइन (एचसीए) बनते हैं।

ये पदार्थ आपकी कोशिकाओं के डीएनए को बदलकर कैंसर के खतरे को बढ़ा सकते हैं।

जब आप हाई तापमान पर या खुली आंच में पकाते हैं तो आपके भोजन को अधिक पकाने की संभावना अधिक होती है। इसमें खाना पकाने के तरीके शामिल हैं जैसे: ग्रिलिंग, बारबेक्यूइंग, पैन-फ्राइंग।

खाद्य एवं औषधि प्रशासन यह भी बताता है कि आलू जैसे स्टार्चयुक्त खाद्य पदार्थों को अधिक मात्रा में पकाने से एक्रिलामाइड का निर्माण बढ़ जाता है।

हाई हीट में खाना पकाने से कार्सिनोजेन्स के अपने जोखिम को कम करने के लिए, खाना पकाने के स्वास्थ्यप्रद तरीकों का उपयोग करने का प्रयास करें, जैसे कि अवैध शिकार, प्रेशर कुकिंग, बेकिंग या कम तापमान पर भूनना, क्रॉक पॉट या धीमी कुकर में धीमी गति से खाना बनाना।

3. प्रोसेस्ड मीट

Processed meats

प्रोसेस्ड मीट किसी भी प्रकार का मीट है जिसे स्‍मोकिंग, सॉल्टिंग, क्यूरिंग या डिब्बाबंदी द्वारा प्रिजर्व किया जाता है। ज्यादातर प्रोसेस्ड मीट रेड मीट होते हैं। प्रोसेस्‍ड किए गए रेड मीट के कुछ उदाहरणों में शामिल हैं: हॉट डॉग, सलामी, सॉसेज, हैम आदि।

प्रोसेस्ड मीट बनाने के लिए जिन तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है, वे कार्सिनोजेन्स बना सकते हैं। उदाहरण के लिए, 2018 के एक लेख के अनुसार, नाइट्राइट के साथ मीट की क्यूरिंग करने से एन-नाइट्रोसो यौगिक नामक कार्सिनोजेन्स बन सकते हैं। कोलोरेक्टल और पेट के कैंसर के लिए प्रोसेस्ड मीट एक प्रमुख जोखिम कारक है।

4. शुगर और रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट

Sugar and refined carbohydrates

शुगरी फूड्स और रिफाइंड और प्रोसेस्ड कार्ब्स अप्रत्यक्ष रूप से आपके कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

अधिक मात्रा में मीठा, स्टार्चयुक्त फूड्स खाने से आपको टाइप 2 डायबिटीज और मोटापे के विकास का खतरा बढ़ सकता है। 2020 के एक अध्ययन के अनुसार, दोनों स्थितियां सूजन और ऑक्सीडेटिव तनाव को बढ़ावा देती हैं। यह कुछ प्रकार के कैंसर के लिए आपके जोखिम को बढ़ा सकता है।

इसे जरूर पढ़ें:कैंसर के खतरे को कम करती हैं खाने की ये 5 आदतें, जरूर अपनाएं

Recommended Video

2019 की समीक्षा के अनुसार, टाइप 2 डायबिटीज से ओवरियन, ब्रेस्‍ट और एंडोमेट्रियल (गर्भाशय) कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

साबुत गेहूं की रोटी, ओट्स, ब्राउन राइस या अन्य साबुत अनाज खाएं। इन खाद्य पदार्थों में जटिल कार्बोहाइड्रेट, विटामिन्‍स, मिनरल्‍स और फाइबर की आवश्यकता होती है। 

कैंसर से जूझ रहे लोगों को इन फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करने से बचना चाहिए। डाइट से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Shutterstock.com

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।