• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

टेस्‍ट के लिए हेल्‍थ से समझौता सही नहीं: ये 7 फूड्स बढ़ाते हैं कैंसर का खतरा, तुरंत लेना बंद कर दें

खान-पान की गलत आदतों के कारण कैंसर जैसी बीमारियां भी तेजी से फैल रहीं हैं। आइए ऐसे फूड्स के बारे में जानें जिन्‍हें लेने से आपको बचना चाहिए।
author-profile
Published -13 Dec 2018, 13:41 ISTUpdated -13 Dec 2018, 14:01 IST
Next
Article
cancer causing foods main

हम सभी जानती हैं कि कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसके मूल कारण के बारे में हम अभी तक नहीं जानते हैं। ज्‍यादातर लोगों का मानना हैं कि कैंसर स्‍मोकिंग और अल्‍कोहल के कारण होता है, लेकिन यह पूरी तरह से सच नहीं है। क्‍या आप जानती हैं कि कुछ अनहेल्‍दी फूड्स भी कैंसर का मेन कारण हो सकते हैं। कुछ बहुत से फेमस और कम्फर्टेबल फूड्स जिन्‍हें खाने के आप आदी हो चुके हैं, वह भी कैंसर का कारण हो सकते हैं। हमारे डॉक्‍टरों को इस बात की जानकारी हैं कि कुछ फूड्स या ड्रिंक्‍स ऐसे है जो कैंसर का कारण बनते हैं। जी हां खान-पान की गलत आदतों की वजह से कैंसर जैसी बीमारियां भी तेजी से फैल रहीं हैं। आइए आज ऐसे फूड्स के बारे में जानें जिन्‍हें लेने से आपको बचना चाहिए।

Read more: कैंसर मरीजों को ज्‍यादा जिंक लेने से बचना चाहिए नहीं तो कम हो सकती हैं उनकी ताकत

माइक्रोवेव पॉपकॉर्न
cancer causing microwave popcorn inside

पॉपकॉर्न जो बच्‍चों से लेकर बड़ों तक सभी को पसंद होता है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि माइक्रोवेव में 3 मिनट में तैयार होने वाले रेडीमेडी पॉपकॉर्न भी हेल्‍थ  के लिए नुकसानदेह हैं। जी हां परेशानी दरअसल, दिक्कत पॉपकॉर्न से नहीं बल्कि उस पैकेट से है जिसमें पॉपकॉर्न रखा जाता है ताकि वे एक दूसरे से चिपके नहीं। जब आप उस पॉपकॉर्न वाले बैग को माइक्रोवेव में डालती हैं तो पैकेट में मौजूद केमिकल्स पॉपकॉर्न तक पहुंच जाते हैं, जो कैंसर बनाने के लिए जाना जाता है। इसके अलावा इसमें कॉर्न कर्नेल से लेकर बटर और ऑयल का इस्‍तेमाल किया जाता है, इसमें मौजूद सारे घटक कैंसर को प्रभावित करने के लिए काफी है। लेकिन अगर आपको पॉपकॉर्न खाने हैं तो किसी बर्तन में पकाए। जो आपके लिए हेल्‍दी और टेस्‍टी होगा।

डिब्बा बंद फूड
cancer causing can foods inside

डिब्‍बा बंद फूड जिसे आप बहुत ही चाव से खाती हैं। क्‍या आप जानती हैं कि इसमें मौजूद बिस्फेनॉल-ए (बीपीए) कैंसर पैदा करने वाले एजेंट का काम कर सकता  है। और टिन और डिब्बे इस घटक के साथ लिंक होते हैं।

डाइट फूड

डाइट फूड हेल्‍दी नहीं है। अगर उनपर लेबल ऐसा कह रहे है तो एक बार फिर से जांच करें। डाइट फूड्स आपके रेगुलर फूड्स से ज्‍यादा अन्‍हेल्‍दी होते हैं। आप इतना आलसी क्‍यों हैं? अगर आप अपनी वजन कम करने के लिए डाइट फूड्स ले रही हैं तो डाइट फूड्स की बजाय घर में कुछ ऐसा बनाये जो आपके बॉडी को नुकसान पहुंचाए बिना आपको वजन कम करने में हेल्‍प करें।

कार्बोनेटेड ड्रिंक्स
cancer causing foods inside

हालांकि इससे पूरी तरह से बचा नहीं जा सकता है। ये कार्बोनेटेड ड्रिंक्‍स हाई फ्रक्टोज कॉर्न सिरप, केमिकल और डाई से भरपूर होत हैं। इसमें मौजूद आर्टिफिशल स्वीटनर की वजह से सिर्फ कैंसर ही नहीं बल्कि स्ट्रोक और मोटापे का खतरा भी बढ़ जाता है। इस बारे में हम और क्‍या कह सकते हैं?

Read more: 16 से 30 साल तक की ladies को cervical cancer का ज्यादा खतरा

रिफाइंड शुगर
cancer causing foods inside

हाई फ्रूटोज कॉर्न सिरप और रिफाइंड शुगर के अन्‍य रूप भी कई तरह से कैंसर का कारण बनता है। वैसे हम आपको बात दें कि आपकी ब्राउन शुगर भी इसी ट्रैक पर है। ब्राउन शुगर भी मूल रूप से व्‍हाइट शुगर का ही रिफाइंड रूप है जिसमें कलर और टेस्‍ट के लिए गुड़ का इस्‍तेमाल किया जाता है। यह फूड्स कैंसर सेल्‍स को बढ़ावा देने के लिए जिम्‍मेदार ठहराए जाते हैं। इसके इसकी जगह आर्गेनिक शहद, मेपल शुगर और कोकोनेट शुगर को चुनें।

फ्राइड स्नैक्स

जब भी हम डिपार्टमेंटल स्‍टोर मे जाते हैं तो अक्‍सर स्‍नैक्‍स सेक्‍शन में खूबसूरत चिप्‍स को देखकर मन ललचाने लगता है। हालांकि ये खाने में बहुत टेस्‍टी लगते हैं लेकिन कैंसर का कारण बन सकते हैं। ऐसे इसमें बनाने की प्रक्रिया के दौरान होता है। जी हां जब इन फूड्स को फ्राई किया जाता है, तो कैंसर पैदा करने वाले तत्व फूड के साथ रहते हैं।

तो देर किस बात की अगर आप भी खुद को हेल्‍दी और कैंसर से दूर रखना चाहती हैं तो इन फूड्स से दूरी बनाकर रखें और अपनी डाइट में हेल्‍दी ऑप्‍शन को चुनें।

Recommended Video

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।