बढ़ती उम्र के साथ-साथ याद्दाशत कमजोर बहुत ही आम हैं। खासतौर पर यह समस्‍या महिलाओं में बहुत ज्‍यादा पाई जाती है। जी हां उम्र बढ़ने के साथ-साथ कई महिलाओ में याद्दाश्त कमजोर होने की शिकायत बढ़ने लगती है, अक्सर महिलाएं छोटी-बड़ी जरूरी बातें भूल जाती हैं और घंटो उसी बात को याद करने में व्यर्थ कर देती हैं। आप उन महिलाओं में शामिल ना हो इसलिए आज से ही इन 2 चीजों को अपनी डाइट में शामिल कर लें।   

जिन महिलाओं की डाइट में संतरा और ग्रीन वेजिटेबल शामिल होता हैं उनमें बुढा़पे में याद्दाश्‍त खोने का खतरा बहुत कम होता है यह बात हम नहीं कह रहे बल्कि एक नई रिसर्च से समाने आई हैं। रिसर्च के अनुसार जो महिलाएं हरी पत्तेदार सब्जियां, गहरे नारंगी और लाल रंग वाली सब्जियां, बेरीज (स्ट्रॉबेरी, ब्लैकबेरी, ब्लूबेरी) खाती हैं और संतरे का जूस पीती हैं, उनके बुढ़ापे में याद्दाश्त खोने का खतरा कम हो जाता है। एक रिसर्च से यह जानकारी मिली है। रिसर्च के निष्कर्षो से पता चलता है कि जो महिलाएं बुढ़ापे से 20 साल पहले ज्यादा मात्रा में फल और सब्जियां खाती हैं, उनमें सोच और याद्दाश्त से जुड़ी परेशानियां कम होती हैं, चाहे वे बाद में अधिक मात्रा में फल और सब्जियां खाएं या नहीं।

Read more: बॉलीवुड की ये 5 एक्‍ट्रेस 40 पार में भी दिखती हैं 20 साल जैसी हॉट, जानिए उनका फिटनेस सीक्रेट

orange for brain inside

तेज रहेगा दिमाग

जो महिलाएं अधिक सब्जियों का सेवन करती हैं उनमें कमजोर सोच कौशल विकसित होने की संभावना उन महिलाओं की तुलना में 34 फीसदी कम होती है, जो कम मात्रा में सब्जियों का सेवन करती हैं। शोधकर्ताओं ने पाया कि जो महिलाएं रोजाना संतरे का जूस पीती हैं उनमें कमजोर सोच कौशल विकसित होने की संभावना उन महिलाओं की तुलना में 47 फीसदी कम होती है, जो महीने में कम से कम एक बार भी संतरे के जूस का सेवन नहीं करती हैं।

Read more: इस '1 एंटी एजिंग विटामिन' से झुर्रियां ही दूर नहीं होगी

food for brain inside

क्‍या कहती है रिसर्च

हावर्ड यूनिवर्सिटी के बोस्टन स्थित टी. एच. चान स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के चांगझेंग यूआन ने कहा, "इस शोध की सबसे खास बात यह थी कि हमने प्रतिभागियों का 20 साल की अवधि तक अध्ययन किया। हमारी रिसर्च से इस संबंध में और पुख्ता सबूत सामने आए हैं कि ब्रेन को हेल्‍दी रखने के लिए सही डाइट महत्वपूर्ण है।" यह शोध न्यूरोलॉजी जर्नल में प्रकाशित किया है।



यह शोध कुल 27,842 पुरुषों पर किया गया, जिनकी औसत उम्र 51 साल थी। इनमें 55 फीसदी प्रतिभागियों की अच्छी याददाश्य देखी गई, जबकि 38 फीसदी की ठीकठाक याददाश्त थी और केवल 7 फीसदी प्रतिभागियों की याददाश्त कमजोर थी।

 

  • Pooja Sinha
  • IANS