संडे हो या मंडे रोज खाएं अंडे, यह बात लगभग सभी जानते हैं। लेकिन फिर भी इस सुपरफूड को डाइट में शामिल नहीं कर पाते हैं। जबकि प्रोटीन हर मसल्‍स का निर्माण खंड है। पोषण विज्ञान कहता है कि अगर आपका वजन 60 किलोग्राम है तो आपको हर दिन 60 ग्राम प्रोटीन की आवश्यकता होती है। हम में से अधिकांश लोग कैलोरी के प्रति जागरूक आहार करने की कोशिश करते हैं, लेकिन क्या हम इस बात से अवगत हैं कि हम कितनी मात्रा में प्रोटीन का सेवन करते हैं?

एग्गोज के कोफाउंडर अभिषेक नेगी ने हर जिंदगी को बताया, 'मैं एक ऐसा व्यक्ति हूं जिसकी फिटनेस एक्टिविटी जैसे रनिंग और ट्रेकिंग, और प्रोटीन युक्त डाइट में बहुत रुचि है और मैंने व्यक्तिगत रूप से अपनी मां को 40 की उम्र के बाद बहुत सारे बदलावों से गुजरते हुए देखा है। जबकि ऐसी महिलाओं की एक अच्छी संख्या है जो अपने फिटनेस रूटीन के साथ पूरे कबीले को प्रेरित करती हैं, दुख की बात है कि वह सिर्फ अल्पसंख्यक हैं ज्यादातर महिलाओं के लिए, पुरुषों के विपरीत, उनके शरीर में उम्र के साथ बहुत सारे हार्मोनल परिवर्तन होते हैं।'

'प्रमुख परिवर्तन पोस्‍ट-नेटल के बाद होते हैं और इस उम्र में उनके शरीर की पोषण संबंधी ज़रूरतें और मेटाबॉलिज्‍म भी बदल जाते हैं। दैनिक आहार में प्रोटीन, विशेष रूप से अंडे के प्रोटीन को शामिल करना फिट और हेल्‍दी रहने के लिए सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है। अंडा एक सुपरफूड है और उनके पास सभी आवश्यक पोषक तत्व और विटामिन्‍स हैं और प्रोटीन की हाई बायोउपलब्धता भी है। अब इन दिनों आमतौर पर अनुभव की जाने वाली कुछ कमियों में विटामिन-बी 12, बी 9 और विटामिन डी की कमी है।'

यहां उनके द्वारा बताए गए कुछ महत्वपूर्ण फायदे हैं जो हमें बताते हैं कि 40 की उम्र के बाद अंडे में मौजूद प्रोटीन क्यों महत्वपूर्ण है?

विटामिन्‍स से भरपूर होते हैं अंडे

egg benefits for  plus women

इन दो महत्वपूर्ण विटामिन्‍स की कमी से थकान और मसल्‍स में कमजोरी, हड्डी और जोड़ों में दर्द, फ्रैक्चर, डिप्रेशन और घाव का धीमा उपचार हो सकता है। एक दिन में 2 अंडे आपको विटामिन-बी 12 और विटामिन डी की दैनिक अनुशंसित मात्रा दे सकते हैं। विटामिन की कमी आमतौर पर धीरे-धीरे दिखाई देती है।

आजकल, यह देखा गया है कि जिन लोगों में विटामिन-डी की कमी होती है, उन्‍हें डायबिटीज होने की संभावना अधिक होती है, चाहे उनका वजन कुछ भी हो।

इसे जरूर पढ़ें:सर्दियों में रोजाना 1 उबला अंडा खाने से दूर होंगी ये 5 समस्‍याएं

मसल्‍स का निर्माण

built muscles

प्रोटीन हर मसल्‍स का निर्माण खंड है और जितनी अधिक मसल्‍स, उतनी ही बेहतर ताकत। इसमें कोई संदेह नहीं है कि अंडे सबसे अधिक पौष्टिक खाद्य पदार्थों में से हैं और 40 से ऊपर की महिलाओं को एक दिन में 2-3 अंडे का सेवन करना चाहिए और नियमित रूप से एक्‍सरसाइज करना चाहिए।

हर भोजन में प्रोटीन जोड़ना आपकी मसल्‍स को कोमल बनाए रखने का सीक्रेट है। एक और मिथक, वजन कम करने की कोशिश कर रही महिलाओं में यह है कि जर्दी में कोलेस्ट्रॉल अधिक होता है और इसलिए अंडे खराब होते हैं। वास्तव में, एक पूरे अंडे में एक कोशिका को पूरे चिकन में बदलने के लिए आवश्यक सभी पोषक तत्व होते हैं। लेकिन कोलेस्ट्रॉल इतना नहीं होता है।

Recommended Video

मेटाबॉलिज्‍म को बढ़ाते हैं अंडे

egg for health

महिलाओं में 40 साल की उम्र के बाद मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है। विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि 40 साल की उम्र के आस-पास महिलाएं प्रति वर्ष लगभग 0.22 किलोग्राम मसल्‍स को खो देती हैं। इससे वजन कम करना बहुत चुनौतीपूर्ण हो जाता है। सब्जियों से भरपूर आहार में अंडे को शामिल करना पोषक तत्वों की कमी से निपटने का सबसे प्रभावी तरीका है। अंडे का प्रोटीन अन्य प्रकार के प्रोटीन से बहुत अलग होता है क्योंकि वे अत्यधिक जैवउपलब्ध होते हैं।

इसे जरूर पढ़ें:अंडा महिलाओं के लिए है इतना फायदेमंद, जानें 

हम में से अधिकांश यह नहीं समझते हैं कि सभी प्रोटीन समान नहीं होते हैं। हमें ऐसे प्रोटीनों का चयन करना चाहिए जो शरीर द्वारा पूर्ण अवशोषण के लिए उपलब्ध हों। इसलिए आपके द्वारा उपभोग किए जाने वाले प्रोटीन की बायोउपलब्धता को जानना बहुत महत्वपूर्ण है। भारत एक अत्यधिक प्रोटीन की कमी वाला देश है और प्रति व्यक्ति अंडे की खपत प्रति व्यक्ति प्रति वर्ष 80 अंडे हैं जो बहुत सारी स्वास्थ्य समस्याओं की व्याख्या करता है जिनसे हम निपट रहे हैं।

इस तरह से आप कह सकते हैं कि अंडे का प्रोटीन सबसे अच्छा और हाई बायोउपलब्ध प्रोटीन है जो महिलाओं के पास हो सकता है और विटामिन-डी और बी-12 की कमी से निपटने के लिए सबसे प्रभावी भोजन भी है।

इसलिए अपने आहार में अंडे को शामिल करें और आहार और पोषण पर अधिक जानकारी के लिए हर जिंदगी के साथ जुड़ी रहें।

Image Credit: Freepik & Shutterstock.com