आज के समय में रूटीन खाना खाने से सभी महिलाएं बहुत जल्दी बोर हो जाती हैं। ऐसे में अपनी डाइट को स्वाद से भरपूर बनाने के लिए जूस, स्नैक्स और स्मूदीज लेने का चलन बढ़ता जा रहा है। अगर स्मूदी की बात करें तो इनके जरिए आसानी से शरीर को फायदा पहुंचाने वाले पौष्टिक तत्व लिए जा सकते हैं। लेकिन बाजार से मिलने वाली स्मूदीज हेल्दी हों, ऐसा जरूरी नहीं है। बाजार से लाई गई स्मूदी में चीनी और जूस आवश्यकता से कहीं अधिक हो सकते हैं। अगर आप पौष्टिक और whole food ingredients लेबल वाली स्मूदी भी खरीदती हैं तो उनमें भी कैलोरीज की मात्रा बहुत ज्यादा हो सकती है। ऐसे में घर पर स्मूदी बनाना ज्यादा बेहतर विकल्प है। स्मूदीज में फ्रूट्स और सब्जियों को मिलाकर लेने से ना सिर्फ रूटीन खाने से ब्रेक मिलता है, बल्कि फूड आइटम्स का पूरा फायदा भी शरीर को मिल पाता है। अगर स्मूदी बनाते हुए इसकी सामग्री का ध्यान से चुनाव किया जाए तो इससे प्रोटीन, फैट, कार्बोहाइड्रेट्स जैसे तत्व आसानी से शामिल किए जा सकते हैं। अपनी स्मूदी को बैलेंस और हेल्दी बनाने के लिए इन 5 बातों का ध्यान रखें-

आर्टिफिशियल स्वीटनर्स का इस्तेमाल कम करें

smoothie healthy with fruits

स्मूदी को मीठा बनाने के लिए चीनी या मैपल सीरप का इस्तेमाल करने के बजाय नेचुरल स्वीटनर्स जैसे कि फ्रूट्स या शहद का इस्तेमाल करना सही रहेगा। फ्रूट्स में कुदरती मिठास के साथ फाइबर, विटामिन्स, मिनरल्स और दूसरे फाइटोन्यूट्रिएंट्स भी होते हैं, जिनसे हेल्दी रहने में मदद मिलती है। स्मूदी में केला, आम, पाइनेप्पल जैसे फ्रूट्स का इस्तेमाल किया जा सकता है। लेकिन फिर भी इस बात का ध्यान रखें कि स्मूदी बहुत ज्यादा मीठी ना हो। स्मूदी को बैलेंस बनाने के लिए आप उसमें दही या दूध मिला सकती हैं। स्मूदी सर्व करने से पहले टेस्ट करके देखें। अगर मीठा करने की जरूरत महसूस हो तो अलग से 1-2 चम्मच चीनी से ज्यादा ना मिलाएं। 

इसे जरूर पढ़ें: खाना खाने से वजन नहीं बढता, ये आदतें अपनाएं मोटापा घटाएं 

सब्जियों से बढ़ाएं स्मूदी की पौष्टिकता

अपनी डाइट में विटामिन्स और मिनरल्स बढ़ाने के लिए अपनी स्मूदी में थोड़ी सी सब्जियां मिला लेना भी अच्छा रहेगा। इसके लिए आप इसमें पालक, गाजर, लौकी या कद्दू मिला सकती हैं। आप चाहें तो इसमें खीरा भी मिला सकती हैं। सब्जियों की पौष्टिकता आपकी स्मूदी की गुणवत्ता को और भी ज्यादा बढ़ा देगी। इससे आपकी इम्यूनिटी मजबूत होगी और आप कई तरह की बीमारियों और इन्फेक्शन्स से सुरक्षित रहेंगी। 

इसे जरूर पढ़ें: डायबिटीज से बचाव के लिए खाएं whole grain food

प्रोटीन से भरपूर हो स्मूदी

smoothie healthy natural sweetness

अगर आप अपनी स्मूदी में प्रोटीन युक्त तत्व भी मिला लें तो सोने पर सुहागा हो जाता है। इससे आपका ब्रेकफास्ट पूरी तरह से कंप्लीट माना जाता है। इसके लिए आप अपनी स्मूदी में लो फैट योगर्ट, सोया मिल्क या टोफू मिला सकती हैं। इस बात का भी ध्यान रखें कि बहुत से नॉन डेयरी मिल्क जैसे कि आल्मंड मिल्क या कोकोनट मिल्क में प्रोटीन की मात्रा बहुत कम होती है। 

Recommended Video

ड्राई फ्रूट्स बढ़ाएंगे एनर्जी लेवल

smoothie healthy with nuts

अगर आप स्मूदी का स्वाद और भी ज्यादा टेस्टी बनाना चाहती हैं तो उसमें ड्राई फ्रूट्स, नट बटर्स, अवोकाडो, चिया या फ्लेक्स सीड्स, कोकोआ पाउडर, ओट्स, व्हीट जर्म जैसे तत्व भी मिला सकती हैं। ये तत्व ना सिर्फ आपके शरीर के लिए जरूरतों को पूरा करेंगे, बल्कि इससे आपको दिनभर एनर्जेटिक भी फील होगा। नट बटर का इस्तेमाल करते हुए इस बात का ध्यान रखें कि हर एक चम्मच नट बटर में 100 कैलोरी होती हैं। इसीलिए ऐसे तत्वों का इस्तेमाल नापकर करना बेहतर रहता है।

 

वेट लॉस के लिए कैलोरी इनटेक का रखें ध्यान 

healthy smoothie gives energy

अगर आप वेट लॉस को लेकर काफी सजग हैं और एक्स्ट्रा कैलोरीज नहीं लेना चाहती हैं तो आपको स्मूदी बनाते वक्त भी इस बात का ध्यान रखने की जरूरत है। अगर आप ब्रेकफास्ट में स्मूदी ले रही हैं तो 400 कैलोरी तक स्मूदी में लेना ठीक है। लेकिन इससे ज्यादा कैलोरीज लेने पर आपका वजन बढ़ सकता है। अगर आपने स्मूदी थोड़ी ज्यादा बना ली है तो उसे एक ही बार में पी जाने के बजाय एक्स्ट्रा स्मूदी की आइस क्यूब बना सकती हैं और अगली बार फ्रोजन डेजर्ट के तौर पर उसका मजा ले सकती हैं। 

इस आसान टिप्स को फॉलो करते हुए आप अपनी स्मूदी को टेस्टी और न्यूट्रिशन से भरपूर बना सकती हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे जरूर शेयर करें। न्यूट्रिशन से जुड़ी अन्य अपडेट्स के लिए विजिट करती रहें हरजिंदगी।

All Image Courtesy: Freepik