नमक किचन में मौजूद सबसे जरूरी मसाला है। बिना नमक के खाना बेस्‍वाद लगता है दूसरे शब्‍दों में आप कह सकती हैं कि नमक किसी भी खाने के स्वाद को बना या बिगाड़ सकता है। लेकिन नमक को लेकर हमेशा महिलाओं के मन में उलझन रहती है क्‍योंकि कम नमक डालने से खाने का स्‍वाद बिगड़ सकता है, ज्‍यादा नमक हेल्‍थ के लिए बुरा होता है। हालांकि कुछ तरह के नमक हेल्‍थ के लिए अच्‍छे होते हैं, लेकिन कुछ को हेल्‍थ का दुश्‍मन माना जाता है। अगर आप भी नमक के इस्‍तेमाल को लेकर हमेशा उलझन में रहती हैं तो इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें क्‍योंकि इसमें न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर द्वारा इंस्‍टाग्राम पर नमक को लेकर बताए टिप्‍स शेयर किए हैं।  

रुजुता दिवेकर ने अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट में बताया कि ''नमक वैसा नहीं है जैसा आपको लगता है और नमक के विभिन्न प्रकारों का विभिन्न तरीके से इस्‍तेमाल किया जा सकता है।'' 

उन्‍होंने कैप्‍शन में लिखा, "आयुर्वेद के अनुसार, हम 6 अलग-अलग स्वादों का आनंद ले सकते हैं - मीठा, खट्टा, कड़वा, कसैला, तीखा और निश्चित रूप से नमकीन। नमक खाना पकाने में सबसे प्रसिद्ध सामग्री में से एक है, विशेष रूप से इंडियन कुकिंग में। आयुर्वेद में मुख्य योगदानकर्ताओं सुश्रुत, चरक, वाग्भट ने विभिन्न प्रकार के नमक के उपयोग और उनके औषधीय महत्व के बारे में बहुत कुछ लिखा है।'' 

"योगी, योगासन के अभ्यास में प्रगति के लिए अपनी दिनचर्या में कम से कम 5 अलग-अलग प्रकार के लवण या नमक का उपयोग करने के लिए जाने जाते हैं। ये पंच लवण हैं - सेंधा, समुद्री, सुवर्चला, विदा और रोमक।"

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Rujuta Diwekar (@rujuta.diwekar)

रुजुता ने इन विभिन्‍न प्रकार के नमक के फायदों के बारे में बताया

  • नसों को मजबूत रखें।
  • इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखें।
  • ऐंठन और सूजन को कम करें
  • पाचन समस्याओं में मदद करता है, जिसमें IBS भी शामिल है।

विभिन्‍न प्रकार के नमक का इस्‍तेमाल कैसे करें, यहां एक छोटी लिस्‍ट है जिसे आपको याद रखना चाहिए:

इसे जरूर पढ़ें: खाने में नमक का इस्‍तेमाल करते वक्‍त न करें ये 4 गलतियां

विभिन्न प्रकार के नमक का इस्‍तेमाल कैसे करें? 

salt uses by rujuta inside

  • सेंधा नमक का उपयोग खाना पकाने में किया जाता है, खासकर उपवास के दौरान, जैसे अर्बी, सूरन, राजगिरा, कुट्टू, आदि।
  • समुद्री नमक दाल को भिगोने के लिए और स्नान में भी इस्तेमाल किया जाता है।
  • शर्बत और कुछ तरह की चटनी और गरारे करने के लिए काला नमक का इस्‍तेमाल करें।
  • चिकित्सीय समस्‍याओं के लिए विदा और रोमक अधिक उपयोग किया जाता है।
  • इसके अलावा, उन्होंने बताया कि खाद्य पदार्थों पर पर्याप्त गलत जानकारी है।

Recommended Video

"पिछले कुछ वर्षों में, नमक के आसपास गलत सूचना के कारण, हम में से अधिकांश अब न केवल नमक का कम उपयोग करते हैं, बल्कि हम पारंपरिक रूप से खाना पकाने में भी उपयोग करते हैं, लेकिन विविधता को भी खो चुके हैं। इसके कारण न केवल पाचन संबंधी समस्याएं होने लगती हैं बल्कि मलत्याग करने में भी परेशानी होती है। यही वजह है कि अगर आपको कब्ज़ है तो आपको नमकीन खाने की इच्‍छा होती है। दिलचस्प बात यह है कि आयुर्वेद के अनुसार नमक का अंतिम स्वाद मधुर या मीठा माना जाता है और इसलिए कम नमक वाले आहार आपको शुगर की क्रेविंग को बढ़ाते हैं।'' 

salt uses by rujuta inside

"क्या इसका मतलब यह है कि आपको आयोडीन युक्त नमक का उपयोग करना छोड़ना चाहिए? तो नहीं। इसका उपयोग जारी रखें, लेकिन क्या आप जानती हैं कि सभी लवणों में आयोडीन सहित मिनरल्‍स होते हैं और जब खुद को विविधता से वंचित करती हैं, तो आप अपने भोजन में पूर्ण स्वास्थ्य लाभ पाने से खुद को वंचित करती हैं।'' 

इसे जरूर पढ़ें: 5 तरह के नमक में कौन सा है आपकी हेल्‍थ के लिए बेस्‍ट, जानिए

संक्षेप में: नमक खलनायक नहीं है। हमारे भोजन में नमक का होना जरूरी है। अपने जीवन में नियमित रूप से कम से कम 4 तरह के नमक जैसे काला, समुद्री काला और टेबल सॉल्‍ट का उपयोग करें।

प्रिय पाठकों, यह सलाह दी जाती है कि अगर आपको किसी फूड से एलर्जी या परेशानी है जो आपको उपभोग नहीं करना चाहिए, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें और इन विभिन्न प्रकार के नमक के बारे में विस्‍तार से जानें। अगर आप आहार और पोषण से जुड़ी और जानकारी पाना चाहती हैं तो हरजिंदगी से जुड़ी रहें।