सर्दियों में गला खराब होना या फिर सर्दी होना किसी बड़ी परेशानी से कम नहीं है। सीजनल बीमारियां जहां हर साल बहुत परेशान करती हैं वहीं दूसरी ओर सीजनल बीमारियों से बचने का तरीका भी हो सकता है। सालों से दादी-नानी के नुस्खे हमें बीमारियों से दूर रखे हुए हैं। कान, नाक, गले के इन्फेक्शन जो सीजनल बहुत ज्यादा होते हैं वो कुछ देसी तरीकों से ठीक भी हो सकते हैं। 

वैसे तो देसी नुस्खे बहुत असर करते हैं, लेकिन आपको ये सुनिश्चित करना जरूरी है कि आपको कहीं कोविड-19 तो नहीं हो गया है। अगर आपने टेस्ट करवा लिया है, सब निगेटिव है और साथ ही साथ किसी बड़ी बीमारी की आशंका नहीं है तो आप ये देसी नुस्खे ट्राई कर सकते हैं। सांस, गले से जुड़ी बीमारियां अगर समय पर ठीक नहीं की गईं तो गले में जकड़न आदि हो सकती है। 

आयुर्वेदिक एक्सपर्ट डॉक्टर दीक्षा भावसार ने अपने इंस्टाग्राम पर कुछ खास टिप्स शेयर की हैं जो गले के दर्द और इन्फेक्शन आदि में मदद कर सकती हैं। ये आयुर्वेदिक नुस्खे आप घर पर आसानी से कर सकते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें- क्या आपके दांतों में सेंस्टिविटी होती है ? जानें इसके कारण और इलाज 

1. हल्दी और नमक के पानी से गरारे

अक्सर हमने ये सुना है कि नमक के पानी से गरारे करने चाहिए, लेकिन क्या आपको ये पता है कि नमक के साथ थोड़ी सी हल्दी मिलाने से भी फायदा हो सकता है। 

सामग्री-

1 छोटा चम्मच हल्दी

1/2 चम्मच नमक

250-300 मिली पानी

- सभी इंग्रीडियंट्स को उबालें और जब ये पानी गुनगुना हो तो उससे गार्गल करें। 

- आपको 4-5 बार गरारे करने हैं ताकि आपके गले का इन्फेक्शन कम हो। 

sore throat remedies

2. मुलेठी 

गले की समस्या के लिए मुलेठी सबसे अच्छा उपाय साबित हो सकती है। बस आपको इसे इस्तेमाल करने का तरीका पता होना चाहिए। 

क्या करें

1 चम्मच मुलेठी पाउडर को थोड़े से शहद के साथ रोज़ाना लें। इसके थोड़ी देर बार आप गुनगुने पानी से गार्गल कर सकते हैं। 

3. मेथी

कई फायदों वाली मेथी गले के लिए भी बहुत अच्छी साबित हो सकती है।  

क्या करें? 

1 चम्मच मेथी दानों को 1 कप पानी में उबालें। इसे छाने और फिर इसी गुनगुने पानी को पी लें। ये गले की परेशानी को दूर कर देगा और आपको दर्द में भी राहत देगा।  

4. दालचीनी 

दालचीनी किचन में मौजूद बहुत ही उपयोगी मसाला है जिसका इस्तेमाल सिर्फ फ्लेवर के लिए नहीं बल्कि बहुत सारी चीज़ों में किया जा सकता है।  

क्या करें? 

आधा चम्मच दालचीनी पाउडर या एक छोटी दालचीनी की स्टिक को 250 मिली पानी में डालें उसे उबालें और फिर छान लें। इसमें थोड़ा सा शहद और नींबू का रस मिलाएं और फिर पी लें। आपका काम हो जाएगा।  

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- फेफड़ों को साफ करने के साथ इम्यूनिटी बढ़ाएगी ये हर्बल टी, जानें इसे बनाने का सही तरीका 

5. तुलसी 

तुलसी और मुलेठी दोनों को ही खराब गले के लिए बहुत ही अच्छा उपाय माना जाता है। तुलसी का इस्तेमाल आप गले की खराश को दूर करने के लिए भी कर सकते हैं।  

क्या करें?  

थोड़े से पानी में 4-5 तुलसी की पत्तियों को उबालें और फिर उसे छानकर पी जाएं। आप चाहें तो इसमें थोड़ा सा शहद और अदरक भी डाल सकते हैं।  

6. हल्दी वाला दूध 

सर्दियों में हल्दी वाला दूध हमारे लिए किसी रामबाण इलाज से कम नहीं होता।  

क्या करें

दूध के साथ थोड़ी सी हल्दी और चुटकी भर काली मिर्च मिलाकर उसे रात में सोत वक्त पिएं।  

7. नींबू पानी 

हो सकता है सिट्रिक फ्रूट इस लिस्ट में देखकर आपको थोड़ा अजीब लगे क्योंकि गले के लिए सिट्रिक फ्रूट ठीक नहीं माने जाते, लेकिन अगर सही तरीके से इसे लिया जाए तो ये फायदेमंद साबित हो सकते हैं। 

क्या करें

थोड़ा सा गुनगुना पानी लें। उसमें आधा नींबू निचोड़ें और थोड़ा सा शहद डालें। इसे पी जाएं।  

आपको सभी नुस्खे आजमाने की जरूरत नहीं है। अगर आपका किसी बीमारी का इलाज चल रहा है या आपको इनमें से किसी इंग्रीडियंट से एलर्जी है तो आप इन नुस्खों को अपने डॉक्टर की सलाह के बाद ही आजमाएं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरीज पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।