क्या आप चिंतित हैं कि आपके बच्‍चे को पर्याप्त कैल्शियम नहीं मिल रहा है? यह मजबूत हड्डियों के विकास के लिए जरूरी है। लेकिन परेशान न हो क्‍योंकि बच्चों के लिए कई कैल्शियम युक्त फूड्स हैं जिन्हें आप उनकी डेली डाइट में शामिल कर सकती हैं।

क्या आप जानती हैं कि मछली, अंडे और नट्स जैसे कैल्शियम युक्त भोजन बढ़ते बच्चों में मजबूत और हेल्‍दी हड्डियों के निर्माण के लिए जरूरी हैं? लेकिन, अधिकांश बच्चों को अपनी डाइट में कैल्शियम की अनुशंसित मात्रा नहीं मिल पाती है। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि बच्‍चे दूध का सेवन कम और डिब्‍बाबंद जूस और सॉफ्ट ड्रिक्‍स का सेवन जरूरत से ज्‍यादा करते हैं। अपने बच्चे को कैल्शियम युक्त फूड्स खाने की आदत डालना जरूरी है क्योंकि कैल्शियम की कमी हड्डियों की ग्रोथ में हस्तक्षेप कर सकती है और इसका असर उसके संपूर्ण विकास पर पड़ता है।

विभिन्न आयु समूहों के लिए आवश्यक कैल्शियम

1-3 वर्ष की आयु के बच्चों को रोजाना 700 मिलीग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती है। जबकि 4-8 वर्ष की आयु के बच्चों को प्रतिदिन 1,000 मिलीग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती है।

बच्‍चों के लिए कैल्शियम के फायदे 

calcium rich foods inside

हड्डियों का निर्माण: बच्चों में हड्डियों का विकास होता है और कैल्शियम हड्डियों के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कैल्शियम युक्त फूड्स हड्डियों के निर्माण में मदद करते हैं और हड्डी संरचना में परिवर्तन होते हैंं क्योंकि आपका बच्‍चा बढ़ता है।

मजबूत दांतों के लिए: अध्ययन कहता है कि मानव शरीर में 99 प्रतिशत कैल्शियम अकेले दांतों और हड्डियों में पाया जाता है। तो, सुनिश्चित करें कि आपके बच्चे को कैल्शियम और विटामिन डी फूड्स की आवश्यक मात्रा मिल रही है। ऐसा करने का एक तरीका कैल्शियम युक्त व्यंजनों को बनाना है जो हेल्‍दी और स्वादिष्ट दोनों हैं।

इसे जरूर पढ़ें:हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाना चाहती हैं तो इन 9 कैल्शियम रिच फूड्स से दोस्ती कर लें

बच्चों के लिए कैल्शियम के स्रोत

यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपके बच्चे के हेल्‍दी विकास के लिए पर्याप्त कैल्शियम मिले, इन फूड्स को बच्‍चे की डाइट में शामिल करें:

डेयरी प्रोडक्‍ट

दूध, पनीर और दही कैल्शियम जैसे डेयरी प्रोडक्‍ट के सबसे अच्छे प्राकृतिक स्रोत हैं। सुनिश्चित करें कि आप इन्हें अपने बच्चे की डाइट में जरूर शामिल करें। बढ़ती उम्र के साथ बच्‍चे दूध पीने में आना-कानी करते हैं, लेकिन वह पनीर और दही जैसे अन्य डेयरी प्रोडक्‍ट्स से अपने कैल्शियम का सेवन प्राप्त कर सकते हैंं। लैक्टोज-इन्टॉलरेंस बच्चों को कैल्शियम से भरपूर नॉन-डेयरी फूड्स दिए जा सकते हैं।

संतरे

calcium rich orange inside

अगर आपका बच्चा दूध का गिलास पीने में उधम मचाता है तो उसे एक गिलास ताजा संतरे का जूस देने की कोशिश करें। इंटरनेशनल ऑस्टियोपोरोसिस फाउंडेशन के अनुसार, 150 ग्राम आकार के संतरे में 60 मिलीग्राम कैल्शियम होता है।

अंडे

एक उबले हुए अंडे में 50 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। अंडे आपके बच्चे के लिए एक बढ़िया नाश्ता विकल्प हो सकता है। हालांकि उसे रोजाना अंडा देना आदर्श नहीं हो सकता है क्योंकि इसमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होती है।

हरी मटर

calcium rich peas inside

हरी मटर कैल्शियम का एक समृद्ध स्रोत है। एक कप हरी मटर में लगभग 45 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। हड्डी के उचित विकास के लिए आप अपने बच्चे की डाइट में इसे शामिल कर सकती हैं। हरी मटर में विटामिन के भरपूर मात्रा में होता है जो बोन डेंसिटी को बनाए रखने में मदद कर सकता है।

Recommended Video

मछली

अगर आपके बच्‍चे को नॉन-वेजिटेरियन फूड पसंद है तो मछली सालमन, सार्डिन और टूना कैल्शियम के अच्छे स्रोत हैं। यहां तक कि थोड़ी मात्रा में मछली भी आपके बच्चे के लिए कैल्शियम का अच्छा स्रोत प्रदान करती है। हालांकि आपको हड्डियों के बारे में सावधान रहना चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें:महिलाओं की हेल्‍थ का सबसे अच्‍छा दोस्‍त है कैल्शियम, जानिए इसके 10 फायदे

बादाम

calcium rich almond inside

यह स्वादिष्ट नट कैल्शियम से भरपूर होता है। एक कप में लगभग 264 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। अगर आपका बच्चा पीनट बटर पसंद करता है, तो उसे कैल्शियम की जरूरत को पूरा करने के लिए अलमंड बटर देने की कोशिश करें।

लैक्टोज-इन्टॉलरेंस बच्चों के लिए कैल्शियम के स्रोत

अगर आपका बच्चा लैक्टोज-इन्टॉलरेंस है और आप कैल्शियम की उसकी दैनिक आवश्यकता को पूरा करने के तरीकों की तलाश कर रहे हैं तो इन चीजों को उनकी डाइट में शामिल करें, जैसे

  • कैल्शियम फोर्टिफाइड जूस
  • सब्जियां और फल जैसे सब्‍जी, पालक और अंजीर
  • सोया के बीज और टोफू
  • तिल और बादाम

अगर आप अपने बच्चे के लिए कैल्शियम की खुराक का विकल्प चुनना चाहते हैं, तो पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

इन फूड्स को खाने से आपके बच्‍चे में कैल्शियम की कमी को पूरा किया जा सकता है। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com