एक पुरानी कहावत है, एप्पल ए डे कीप्स दी डॉक्टर अवे यानी हर रोज एक सेब खाने से डॉक्टर के पास नहीं जाना पड़ता है। जी हां इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि सेब को स्वास्थ्यप्रद फलों में से माना जाता है। सेब पोषक तत्वों से भरपूर होता है और इनका सेवन करने से हमारे स्वास्थ्य को कई तरह से फायदा हो सकता है। सेब विटामिन्‍स और मिनरल्‍स से भरपूर होता है जो इम्‍यूनिटी को बढ़ाने, शरीर के मेटाबॉलिज्‍म लेवल को बढ़ाने, हार्ट रेट में सुधार करने, ब्‍लड शुगर के लेवल नियमित करने और अन्य स्वास्थ्य लाभों के साथ स्वस्थ हड्डियों को बढ़ावा देने में मदद करता है।

इतना ही नहीं, सेब फाइबर का एक समृद्ध स्रोत है जो हमारे संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा है। लेकिन क्या आप जानती हैं, सेब एक ऐसा फल है जो कब्ज पैदा कर सकता है और इसे दूर भी कर सकता है? शायद आपको हमारी बात पर यकीन नहीं हो रहा होगा। अगर ऐसा है तो इस बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए आर्टिकल को जरूर पढ़ें। 

जी हां न्यूट्रिशनिस्ट पूजा मखीजा अपने इंस्टाग्राम के माध्‍यम से पोषक तत्‍वों से जुड़े हैक्स और आसान हेल्दी रेसिपीज शेयर करती रहती हैं। इस बार, उन्होंने शेयर किया कि कैसे एक सेब पाचन संबंधी दो समस्याओं - कब्ज और दस्त के इलाज में मदद कर सकता है। उन्होंने अपनी पोस्ट को कैप्शन दिया, "प्रकृति के पास हर समाधान है। सही खाओ। सही जियो।"

सेब में अघुलनशील और घुलनशील फाइबर

पोषण विशेषज्ञ ने इंस्टाग्राम पर अपने वीडियो में शेयर किया कि सेब अघुलनशील (64%) और घुलनशील (36%) फाइबर से बना होता है।

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by PM | Nutritionist (@poojamakhija)

डाइजेस्टिव हेल्‍थ के लिए सेब

कई सालों से, सेब को हमारे डाइजेशन के लिए सबसे अच्छे फलों में से एक माना जाता है। इसके पीछे एक कारण सेब में मौजूद फाइबर की मात्रा है। पेक्टिन सेब में पाया जाने वाला एक घुलनशील फाइबर है जो डाइजेस्टिव सिस्‍टम से पानी खींचता है, आंतों में जेल बनाता है और डाइजेशन को धीमा कर देता है। यह आगे आंतों के माध्यम से मल को धकेलने में मदद करता है। 

पेक्टिन फाइबर न केवल डाइजेशन में मदद करता है बल्कि यह मल त्याग को भी स्‍मूथ करता है। सेब में मैलिक एसिड नाम का एसिड भी होता है। यह डाइजेशन में मदद करने के लिए जाना जाता है।

इसे जरूर पढ़ें:कब्ज की समस्या को जन्म दे सकते हैं यह फूड्स, रहें जरा बचकर

दस्त के लिए सेब

पूजा मखीजा ने बताया, 'इसमें मौजूद घुलनशील फाइबर मल में एक जेल की तरह स्थिरता बनाता है और इसलिए डाइजेशन को धीमा कर देता है जो फल के अंदर गूदे में मौजूद होता है। अत: दस्त होने पर बिना छिलके वाले फल के गूदे का सेवन करना चाहिए।

कब्ज के लिए सेब

constipation remedy

सेब का अघुलनशील फाइबर सेब की त्वचा में मौजूद होता है। यह मल के थोक को बढ़ाता है और इसलिए आंतों के माध्यम से जल्दी से गुजरता है और कब्ज को दूर करने में मदद करता है।

सेब का सेवन नाश्ते के रूप में किया जा सकता है या आपके सलाद, स्मूदी, डेसर्ट और अन्य रेसिपीज में जोड़ा जा सकता है। कुरकुरे और स्वस्थ सेब की अच्छाइयों का आनंद लेने के लिए, आपको उन्हें अपने दैनिक आहार में शामिल करना चाहिए। यहां कुछ आसान तरीके दिए गए हैं जिनसे आप रोजाना सेब का सेवन कर सकती हैं।

Recommended Video

सेब के स्लाइस पर नाश्ता

सेब को आप दिन में कभी भी नाश्ते के रूप में खा सकते हैं लेकिन आप इसे स्वादिष्ट नाश्ते में भी बदल सकते हैं। सेब के गोल स्लाइस काटकर एक ट्रे पर रख दें। सभी स्लाइस पर थोड़ा सा पीनट बटर फैलाएं और ऊपर से कटे हुए बादाम, अखरोट या जामुन डालें। इसका पूरा मजा लें।

इसे जरूर पढ़ें:सर्दियों में कब्‍ज से हैं परेशान तो इन 10 नेचुरल चीजों से करें इलाज

apple for constipation

नाश्ते के ओट्स में सेब शामिल करें

अगर आप रोज सुबह नाश्ते में एक कटोरी ओट्स खाना पसंद करती हैं, तो इसमें सेब के कुछ टुकड़े डालें। इसे मिलाएं और आनंद लें। यह न केवल आपके ओट्स के कटोरे में बहुत अच्छा स्वाद जोड़ देगा बल्कि फाइबर सामग्री भी जोड़ देगा और आपको पूरे दिन एनर्जी से भरपूर बनाए रखेगा।

हमें उम्मीद है कि यह उपाय आपके डाइजेस्टिव संबंधी समस्याओं का इलाज करने में आपकी मदद करेगा। यदि आप अपने डाइजेस्टिव के लिए चिकित्सा उपचार से गुजर रहे हैं, तो सेब को अपनी डाइट में शामिल करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें। ऐसे ही और आर्टिकल पढ़ने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।