पीरियड्स आना एक मासिक प्रक्रिया है, जिससे हर महिला हर माह गुजरती है। हालांकि, जिस तरह हर महिला अलग होती है, ठीक उसी तरह उसके पीरियड्स व उससे जुड़ी समस्याएं अलग हो सकती हैं। मसलन, कुछ महिलाओं को पीरियड्स मैनेज करने में परेशानी नहीं होती। वहीं कुछ महिलाएं ऐसी भी होती हैं, जिन्हें पीरियड क्रैम्प, अनियमित पीरियड्स या फिर पीरियड के दौरान हैवी फ्लो की समस्या का सामना करना पड़ता है।

अगर आप हैवी पीरियड्स या फिर पीरियड के दौरान हैवी फ्लो की हो तो यह महिला के लिए बहुत अधिक असुविधा की वजह बनता है। हैवी पीरियड्स के कारण आपको बार-बार बाथरूम जाना पड़ता है और जल्दी-जल्दी पैड चेंज करने की जरूरत महसूस होती है। इतना ही नहीं, हैवी पीरियड्स होने पर महिला को अपने दैनिक कार्य करने में भी असुविधा महसूस होती है और इससे आपको शारीरिक ही नहीं, बल्कि भावनात्मक रूप से भी तनाव का अहसास होता है। तो चलिए आज इस लेख में सेंट्रल गवर्नमेंट हॉस्पिटल के ईएसआईसी अस्पताल की डायटीशियन रितु पुरी आपको कुछ ऐसे आसान उपायों के बारे में बता रही हैं, जिन्हें अपनाकर आप अपने हैवी पीरियड्स की प्रॉब्लम को काफी हद तक मैनेज कर सकती हैं-

आयरन रिच फूड्स का करें सेवन

green vegitables for heavy period

अगर आपको बहुत अधिक हैवी ब्लीडिंग होती है तो आपको विशेष रूप से आयरन रिच फूड्स का सेवन अवश्य करना चाहिए। दरअसल, अगर आपकी बॉडी में आयरन की कमी होगी तो हैवी ब्लीडिंग के दौरान आपको बहुत अधिक दर्द होगा और आप लो फील करेंगे। इसलिए, आप अपनी डाइट में आयरन रिच फूड जैसे हरी पत्तेदार सब्जियां, नट्स, सीड्स, सी फूड, मीट, बीन्स आदि का सेवन अधिक करें। इसके साथ आप विटामिन सी रिच फूड्स जैसे नींबू, संतरा, शिमला मिर्च, अमरूद आदि भी लें।

सीड्स साइकल से भी होगी प्रॉब्लम दूर

seeds for periods

अगर आपको हैवी पीरियड्स की समस्या रहती है तो आपको कई तरह के बीजों को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। खासतौर से, आप कद्दू के बीज और फ्लेक्स सीड्स का सेवन अवश्य करें। दरअसल, यह दोनों ही एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टन को मेंटेन करने में मदद करते हैं। जिसके कारण ना केवल आपके पीरियड्स की अनियमितता दूर होती है, बल्कि इससे ब्लड को फ्लो भी मैनेज होता है। साथ ही इससे पीरियड्स के दौरान दर्द की समस्या भी काफी कम होती है।

इसे आप सीड्स साइकल के रूप में ले सकती हैं। इसके सेवन के लिए जब आपको पीरियड्स हो रहे हैं तो शुरूआती 14 दिनों तक आप एक-एक चम्मच कद्दू के बीज और फ्लेक्स सीड्स का सेवन करें। करीबन 14 दिनों के बाद आप एक-एक चम्मच सनफ्लॉवर सीड्स और तिल के बीजों का सेवन करें। आप इस साइकल को इसी तरह रिपीट करती रहें। इस तरह आपको काफी फर्क नजर आएगा। 

इसे ज़रूर पढ़ें- मेनोपॉज के बाद हर वक्त महसूस करते हैं चिड़चिड़ापन तो ध्यान रखें ये बातें

डॉक्टर से लें परामर्श

dt ritu raj

अगर आपको बहुत अधिक हैवी पीरियड्स होते हैं और आपके लिए उसे मैनेज करना बहुत अधिक कठिन होता है। तो आप एक बार अपने पीरियड्स के बारे में डॉक्टर से एक बार अवश्य कंसल्ट करें। वह आपको ब्लड फ्लो को कम करने और और पीरियड क्रैम्प को शांत करने के लिए कुछ दवाएं दे सकते हैं। जिससे आपको काफी राहत महसूस होगी।

Recommended Video

खुद को रखें हाइड्रेट

drink water in heavy period

यदि आपको बहुत अधिक रक्तस्राव हो रहा है, तो इससे आपके शरीर में ब्लड वाल्यूम बहुत कम हो सकता है। ऐसे में आपको प्रतिदिन 4 से 6 कप पानी अतिरिक्त पीएं, जिससे आपका ब्लड वाल्यूम मेंटेन हो सके। साथ ही आप कोशिश करें कि आप इलेक्ट्रोलाइट सॉल्यूशन पिएं। इससे भी आपको बहुत अधिक लाभ होगा।

इसे ज़रूर पढ़ें- पीरियड्स से पहले सिरदर्द करता है परेशान, ये जबरदस्‍त नुस्‍खा अपनाएं

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (@Freepik)