मां बनना स्त्री के लिए इतना भी आसान नहीं होता। इस दौरान तेजी से हो रहे हार्मोनल बदलवों के कारण महिलाओं को कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं और उनके साथ निपट पाना महिला के लिए इतना भी आसान नहीं होता। उदाहरण के तौर पर, पहली तिमाही अर्थात् गर्भधारण के शुरूआती तीन महीनों में महिला को उल्टी होना या मतली व चक्कर आना आदि कई तरह की समस्याएं होती है। जिसके कारण महिला के आहार पर काफी गहरा असर पड़ता है।

वास्तव में, गर्भधारण के बाद महिला के शरीर में हार्मोन्स का स्त्राव 100 गुना अधिक तेजी से होता है। इतना ही नहीं, ऐसे कुछ हार्मोन्स भी होते हैं, जो महिला के डाइजेस्टिव ट्रैक की मसल्स को कमजोर करते हैं। जिससे उसे खाना पचाने में समस्या होती है और बार-बार उल्टी होती है। साथ ही इस समय खाली पेट गैस की समस्या भी बढ़ जाती है और महिला को कमजोरी, हार्ट बर्न या फिर चक्कर आदि आते हैं। अगर आप भी अपने गर्भधारण के शुरूआती महीनों में इन समस्याओं का सामना कर रही हैं तो चलिए आज वुमन हेल्थ रिसर्च फाउंडेशन की प्रेसिडेंट डॉ नेहा वशिष्ट आपको कुछ आयुर्वेदिक उपाय बता रही हैं, जिन्हें अपनाकर आप इन समस्याओं को काफी हद तक मैनेज कर सकती हैं-

रात में भिगोएं नट्स

nuts soaked atnight

रात में एक कटोरी पांच बादाम, चार किशमिश, दो अंजीर और दो अखरोट भिगोकर रखें और अगली सुबह चबा-चबाकर खाएं और पानी पीएं। यह एक कार्बोहाइड्रेट रिच डाइट है और इस आयुर्वेदिक उपाय को अपनाने से आपको चक्कर आने की समस्या से काफी हद तक राहत मिलेगी।

इसे जरूर पढ़ें:पीरियड्स से पहले सिरदर्द करता है परेशान, ये जबरदस्‍त नुस्‍खा अपनाएं

पीएं अदरक का रस

ginger juice pregnancy

लगातार उल्टी के कारण अगर आप परेशान रहती हैं तो ऐसे में आप सुबह उठकर एक चम्मच अदरक के रस का सेवन कर सकती हैं। इस रस का सेवन आपको खाली पेट ही करना है। अगर आप सुबह भीगे हुए नट्स ले रही हैं तो अदरक के रस का सेवन करीबन आधे से एक घंटे पहले करें।

हरा धनिया है गुणकारी

coriender leaves

डॉ निशा बताती हैं कि हरे धनिए का पानी या फिर हरे धनिए को चबा-चबाकर खाने से भी आपको प्रेग्नेंसी के दौरान उल्टी व चक्कर की समस्या से काफी हद तक निजात मिलती है। आप किसी ना किसी रूप में कच्चे हरे धनिए का सेवन अवश्य करें।

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips : प्रेग्‍नेंसी से बचना है, तो इन घरेलू उपायों को अपनाएं

लें नींबू का रस 

lemon juice pregnancy

अगर आपको गर्भावस्था की पहली तिमाही में बार-बार जी मचलाने या उल्टी आने की शिकायत होती है तो आप ऐसे में इस उपाय को अपनाएं। नींबू का रस आपको बार-बार जी मचलाने की समस्या से मुक्ति दिलाएगा। इसके लिए आप थोड़ा सा नींबू का लेकर उसमें काला नमक व चीनी मिलाकर लें। आप दिन में किसी भी समय इसका सेवन कर सकती हैं। जल्द ही आपको अपनी समस्या से राहत मिलेगी।

Recommended Video

नारियल पानी है गुणकारी

coconut water pregnancy

यूं तो नारियल पानी का सेवन बच्चों से बूढ़ों तक के लिए लाभकारी माना गया है, लेकिन गर्भवती महिला के लिए यह किसी रामबाण की तरह काम करता है। इसकी महत्ता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इसे मदर मिल्क का दर्जा दिया गया है। खासतौर से, गर्भवती स्त्री को उल्टी व चक्कर आने पर नारियल पानी अवश्य पीना चाहिए। यूं तो आप इसे ऐसे भी पी सकती हैं। इसके अलावा, नारियल पानी में थोड़ा सा नींबू का रस डालकर भी पिया जा सकता है। वहीं, आप एक साथ पूरा गिलास नारियल पानी पीने से बचें। बल्कि इसके स्थान पर आप हर दस-दस मिनट बाद सिप-सिप करते हुए नारियल पानी का सेवन करेंगी तो इससे आपको अधिक लाभ मिलेगा।

हम आशा करते हैं कि यह आयुर्वेदिक उपाय आपकी गर्भावस्था को अधिक आरामदायक बनाने में मदद करेंगे। हम आगे भी आपकी सेहत से जुड़े लेख व एक्सपर्ट जानकारी आपसे शेयर करते रहेंगे। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।