गर्भावस्था में महिलाएं खुद का ध्यान रखने के लिए हरसंभव प्रयास करती हैं ताकि वह एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दे सके। इसके लिए गर्भवती स्त्री को सिर्फ अपने खाने का ही ख्याल नहीं रखना होता, बल्कि उसे व्यायाम के जरिए खुद को एक्टिव भी रखना होता है, ताकि उसके गर्भस्थ शिशु की ग्रोथ व मूवमेंट अच्छी तरह से हो सके। गर्भावस्था में वैसे तो कई तरह की एक्सरसाइज की जा सकती हैं, लेकिन योग को सबसे अधिक प्रभावशाली व सुरक्षित माना गया है। यह गर्भवती महिला को सिर्फ मेंटली ही नहीं, बल्कि फिजिकली फिट रखने में भी सहायक है। हालांकि गर्भावस्था में भी योगाभ्यास करते समय महिला को कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत है, ताकि उसे किसी भी तरह की समस्या का सामना ना करना पड़े। तो चलिए आज इस लेख में योगा गुरू इंस्टिट्यूट व वुमन हेल्थ रिसर्च फाउंडेशन की फाउंडर व प्रेसिडेंट योगा गुरू नेहा वशिष्ट कार्की गर्भावस्था में योगा करते समय ध्यान रखी जाने वाली कुछ सावधानियों के बारे में बता रही हैं। योगा गुरू नेहा कार्की ने योगा फॉर प्रेग्नेंसी नामक किताब भी लिखी है, जो हिन्दी व इंग्लिश दोनों भाषाओं में अवेलेबल है-

कार्बोहाइड्रेट रिच फूड को रखें पास

inside  ,Yoga In Pregnancy

जब भी आप योगाभ्यास शुरू करें तो अपने पास कुछ कार्बोहाइड्रेट रिच फूड व नट्स जैसे अखरोट, किशमिश, बादाम, मूंगफली, आदि को जरूर रखना चाहिए। इसके साथ-साथ आप शुगर के कुछ छोटे-छोटे क्यूब्स व विटामिन सी युक्त खट्टी-मीठी गोलियां भी अपने पास रखें। साथ ही पानी की बोतल या नींबू पानी को भी जरूर कैरी करें। दरअसल, गर्भावस्था की पहली व दूसरी तिमाही में अक्सर योगाभ्यास करते समय महिला का शुगर लेवल डाउन हो जाता है, जिससे उससे dizziness या थकान जैसे अनुभव होते हैं। ऐसे में अगर महिला को इनमें से कुछ ना कुछ अवश्य खिलाना चाहिए, इससे शुगर लेवल ठीक हो जाता है। साथ ही महिला को योगाभ्यास करते समय किसी तरह की हेल्थ प्रॉब्लम नहीं आती है।

इसे ज़रूर पढ़ें-टीवी एक्ट्रेस किश्वर मर्चेंट ने सोशल मीडिया में बेबी बम्प फ्लॉन्ट करते हुए कही ये बात

हवादार हो जगह

inside  , Pregnancy yoga precaution

भले ही आप किसी योगा सेंटर में जाकर योगाभ्यास कर रही हैं या फिर घर पर। आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप ऐसी जगह पर योगाभ्यास करें, जहां पर क्रॉस वेंटिलेशन पर्याप्त मात्रा में हो। साथ ही वह जगह हवादार हो। एक गर्भवती स्त्री को कभी भी किसी बंद कमरे या छोटी सी जगह पर योगाभ्यास करने से बचना चाहिए। इससे महिला को जी मचलाने से लेकर कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

 

Recommended Video

सही हों कपड़े

inside  , health tips for lady

जब आप प्रेग्नेंसी में योगा कर रही हैं तो यह जरूरी है कि आप अपने कपड़ों पर भी पूरा ध्यान दें। आपके कपड़े थोड़े ढीले ही होने चाहिए। खासतौर से, आपके कपड़े ऐसे हों, जो योगाभ्यास के दौरान पेट के एरिया पर किसी तरह का अतिरिक्त प्रेशर ना डालें। आजकल प्रेग्नेंसी योगा के लिए अलग से कपड़े मार्केट में अवेलेबल हैं, आप उन्हें पहनकर भी बेहद कंफर्टेबल तरीकों से योगाभ्यास कर सकती हैं। आप ट्रैक पैंट व टीशर्ट पहन सकती हैं। आजकल ऐसी ट्रैक पैंट आती हैं, जो टमी को थोड़ा सपोर्ट देती है। इससे बॉडी की मूवमेंट में कोई प्रॉब्लम नहीं होती। साथ ही गिरने के चांसेस भी नहीं होते। 

खाली पेट ना करें योगाभ्यास

inside  ,  summer health Tips

आमतौर पर यह कहा जाता है कि योगाभ्यास खाली पेट ही करना चाहिए। लेकिन अगर आप गर्भवती है तो आपको कभी भी खाली पेट योगाभ्यास नहीं करना चाहिए। हालांकि आपको इस बात पर भी ध्यान देना है कि आप खाना खाने के तुरंत बाद योग करने लग जाएं। मसलन, आपको योगाभ्यास से पहले कुछ ना कुछ अवश्य खा लेना चाहिए, लेकिन पेट को फुल लोडेड नहीं करना चाहिए। हमेशा हल्का कुछ खाकर ही योगाभ्यास करें। 

इसे ज़रूर पढ़ें-बस दिन में 10 मिनट करें ये एक्सरसाइज, मक्खन की तरह पिघलेगा Belly Fat

ना करें एक्सपेरिमेंट

inside  women safty in pregnancy

गर्भावस्था में ध्यान रखा जाने वाला यह एक बेहद महत्वपूर्ण पहलू है। एक गर्भवती स्त्री को कभी भी योगाभ्यास के दौरान एक्सपेरिमेंट नहीं करना चाहिए। मसलन, अगर आपने कभी भी पहले योग नहीं किया है तो गर्भावस्था में कठिन आसन या बहुत अधिक स्ट्रेचिंग आदि नहीं करनी चाहिए। क्योंकि प्रेग्नेंसी के दौरान बॉडी में कुछ ऐसे हार्मोन्स का स्त्राव होता है, जिससे बॉडी की मसल्स लूज हो सके और वह गर्भावस्था में अच्छी तरह बढ़ सके। ऐसे में अगर आप उसे बहुत अधिक खींचती है तो इससे मसल्स टियर या लिगामेंट टियर होने के चांसेस काफी बढ़ जाते हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik.com