• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

International Mud Day: मड थेरेपी से आपको मिलेंगे ये 4 अद्भुत फायदे

इंटरनेशनल मड डे के मौके पर हम आपको मड थेरेपी के हेल्‍थ से जुड़े 4 फायदों के बारे में बता रहे हैं। 
author-profile
Published -28 Jun 2022, 18:01 ISTUpdated -28 Jun 2022, 18:52 IST
Next
Article
mud therapy benefits

Verified by Ayurvedic Expert Dr Abrar Multani

कभी-कभी समस्‍या को दूर करने के लिए प्राकृतिक चीजों को चुनना सबसे अच्छा विकल्‍प होता है। यह बिना किसी साइड-इफेक्ट के समस्याओं को जड़ से हल करने की शक्ति रखता है। पृथ्वी बहुत सारे मिनरल्‍स और पोषक तत्वों से भरपूर है जो हमारे शरीर को समग्र रूप से ठीक कर सकती है और आपको बेहतर जीवन शैली जीने में मदद कर सकती है।

आयुर्वेदिक मान्यताओं के अनुसार, हमारा शरीर 5 जरूरी तत्वों- पृथ्वी, जल, वायु, अग्नि और आकाश से बना है। मिट्टी में शरीर को अंदर से ठीक करने और किसी भी असंतुलन को ठीक करने की क्षमता होती है। जी हां, प्राकृतिक चिकित्सा में मिट्टी चिकित्सा में नम मिट्टी का वैज्ञानिक उपयोग उचित तरीके से किया जाता है, ताकि शरीर को भीतर से लाभ मिल सके। 

इसमें बहुत सारे महत्वपूर्ण मिनरल्‍स होते हैं जो शरीर में खराब विषाक्त पदार्थों से लड़ते हैं। चूंकि इसके बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ हैं, यह स्वास्थ्य समस्याओं का भी इलाज कर सकता है और बीमारियों को भी दूर कर सकता है। इन फायदों के बारे में हमें आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट अबरार मुल्‍तानी से बात की है।

मड थेरेपी

मड थेरेपी एक ऐसा अद्भुत इलाज है जिसका इस्‍तेमाल आप कई बीमारियों को हल करने के लिए कर सकती हैं। धीरे-धीरे विश्व स्तर पर लोकप्रियता हासिल करते हुए, मड थेरेपी आपकी कई तरह से मदद कर सकती है- आपकी त्वचा को बेहतर बनाने से लेकर, रैशेज से छुटकारा पाने के साथ-साथ आपको मानसून के दौरान रोग मुक्त भी रखती है। 

जी हां, इंटरनेशनल मड डे हर साल 29 जून को मनाया जाता है। इंटरनेशनल मड डे लोगों को कुदरत से जोड़ने का दिन है। हम आपको इस स्‍पेशल डे के मौके पर मड थेरेपी के अद्भुत फायदों के बारे में बता रहे हैं। 

भारतीय प्राकृतिक चिकित्सा के जनक महात्मा गांधी को प्रकृति के साथ रोगों के उपचार में प्राकृतिक चिकित्सा के दृढ़ विश्वास के रूप में पाया गया था। वह सीधे शरीर के प्रभावित हिस्सों पर मिट्टी लगाते थे और कब्ज दूर करते थे।

डाइजेशन में होता है सुधार

digestion mud therapy

खराब डाइजेशन आपको बीमार कर सकता है। जबकि शरीर से खराब विषाक्त पदार्थों को अवशोषित और पतला करने के लिए मिट्टी का एक शक्तिशाली प्रभाव होता है। पेट के चारों ओर मिट्टी की एक परत लगाने से शरीर में डाइजेशन में सुधार होता है, आपको प्राकृतिक रूप से डिटॉक्स करता है और साथ ही शरीर के मेटाबॉलिज्‍म रेट को बढ़ाता है।

इसे जरूर पढ़ें:इन 5 बीमारियों में मददगार हो सकती है ‘मिट्टी की पट्टी’

तनाव से मिलता है छुटकारा

चूंकि मिट्टी प्रकृति से कूलिंग होती है, इसलिए यह चिकित्सा अक्सर प्राकृतिक चिकित्सक और वैकल्पिक चिकित्सकों द्वारा तनाव, नींद संबंधी विकार, चिंता संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में मदद करती है। यह सतह से खराब विषाक्त पदार्थों को अवशोषित करता है और ब्रेन के चारों ओर अवरुद्ध या तनावपूर्ण रास्ते को साफ करती है।

मिलती है सुंदर त्वचा

glowing skin mud therapy

मड थेरेपी का सबसे बड़ा लाभ त्वचा के लिए होता है। आयुर्वेद के अनुसार, मिट्टी विषाक्त पदार्थों को दूर करती है और यह त्वचा और ब्‍लड पर शीतलन प्रभाव पैदा करता है जिससे शरीर में पित्त के बुरे प्रभावों को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। साथ ही, यह किसी भी अशुद्धियों की त्वचा को डिटॉक्सीफाई करता है, जिससे आपको सॉफ्ट और तरोताजा त्वचा मिलती है। इसके अलावा, मड थेरेपी डिटॉक्सीफिकेशन के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है क्योंकि मिट्टी त्वचा में जमा हानिकारक विषाक्त पदार्थों को अपने छिद्रों के माध्यम से बाहर निकालती है।

वेट लॉस में मददगार

हजारों साल पुरानी मड थेरेपी का उपयोग शरीर से विषाक्त पदार्थों को अवशोषित करने, वजन घटाने और कई अन्य बीमारियों में सहायता के लिए किया जाता है। स्‍टीम और सॉना बाथ शरीर की बेसल मेटाबॉलिज्‍म को तेज करने, चर्बी जलाने और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने और तनाव को कम करने में मदद करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं।

चिकित्सीय उद्देश्य के लिए उपयोग की जाने वाली मिट्टी साफ और संदूषण से मुक्त होनी चाहिए। इसे जमीन की सतह से 60 सेमी की गहराई पर लिया जाना चाहिए। उपयोग करने से पहले, मिट्टी को सूरज की किरणों में सुखाया जाना चाहिए, अशुद्धियों को अलग करने के लिए पाउडर और छलनी करना चाहिए।

Recommended Video

 

अन्‍य फायदे

  • मिट्टी के प्रभाव ताज़ा, स्फूर्तिदायक और जीवन शक्ति देने वाले होते हैं।
  • शरीर को शीतलता प्रदान करता है।
  • यह शरीर के विषाक्त पदार्थों को पतला और अवशोषित करता है और अंततः उन्हें शरीर से निकाल देता है।
  • यह मसल्‍स को आराम देता है, ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार करता है और मेटाबॉलिज्‍म को विनियमित करने में मदद करता है।
  • सूजन की स्थिति में उपयोगी और दर्द से राहत देता है।
  • एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-एजिंग प्रभाव प्रदान करता है। 

आप भी यह सारे फायदे पाने के लिए मड थेरेपी ले सकती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Shutterstock & Freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।