देशभर में मकर संक्रांति का त्योहार धूम-धाम से मनाया जा रहा है। इस दिन कई जगहों पर लोग सुबह-सुबह गंगा में डुबकी लगाते हैं और दही-चिवड़ा भोज का आयोजन करते हैं। बात करें दही-चिवड़ा की तो इससे धार्मिक मान्यताएं जुड़ी हुई हैं, हालांकि इसे एक हेल्दी नाश्ता भी माना जाता है। सुबह-सुबह आप इसे हेल्दी नाश्ते के रूप में अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं। इसके लिए चिवड़े को सबसे पहले धो लें और उसमें दही और गुड़ मिक्स कर सर्व कर सकती हैं।

एक तरफ जहां मॉर्डन समय में लोग दलिया, ओट्स जैसी चीजों से ब्रेकफास्ट करना पसंद करते हैं, लेकिन आप चाहें तो दही-चिवड़ा को भी शामिल कर सकती हैं। देसी और पौष्टिक आहार होने के साथ-साथ इस हेल्दी मील को खाने के कई फायदे भी हैं। अगर आपको बहुत तेज भूख लगी है तो एक कटोरी दही-चिवड़ा खाने से पेट भर जाएगा। उत्तर प्रदेश, बिहार, और झारखंड जैसे राज्यों में इस हेल्दी आहार को खूब पसंद किया जाता है। आज हम इस आर्टिकल में बताएंगे नाश्ते में दही-चिवड़ा खाने के क्या-क्या फायदे हैं।

  • पचाने में आसान

dahi chiwda recipe

दही-चिवड़ा हैवी मील है, लेकिन यह आसानी से और जल्दी पच जाता है। सुबह-सुबह नाश्ते में शामिल करने से आपका पेट लंबे समय तक भरा हुआ रहता है। इसे खाने से आपके शरीर में एनर्जी बनी रहेगी। हालांकि अगर बच्चों को सर्व कर रही हैं तो गुड़ की जगह चीनी मिक्स कर सकती हैं, क्योंकि कई बच्चों को गुड़ पसंद नहीं आता है। इसे और हेल्दी और टेस्टी बनाने के लिए ऊपर से ड्राई फ्रूट्स भी शामिल कर सकती हैं।

  • फाइबर से भरपूर है दही-चिवड़ा

dahi chivda healthy food

चिवड़ा फाइबर से भरपूर होता है क्योंकि यह चावल से बना होता है। चपटा चिवड़ा जब दही के साथ मिक्स होता है तो यह और भी हेल्दी हो जाता है। आंतों को हेल्दी रखने के लिए यह परफेक्ट डाइट है। अगर आप वजन कम करना चाहती हैं तो अपनी डाइट में दही-चिवड़ा को शामिल कर सकती हैं। गुड़ और दही दोनों ही वेट लॉस की जर्नी में मददगार साबित हो सकते हैं।

  • कैलोरी होती है कम

dahi chiwda food

फाइबर होने के साथ-साथ दही-चिवड़ा में कैलोरी की मात्रा भी कम होती है। विशेषज्ञों की माने तो इसमें सभी आवश्यक पोषक तत्व हैं, और सिर्फ 300 कैलोरी मौजूद होती है। इसलिए वेट लॉस के लिए आप इसे अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं। कई लोग इसे ब्रेकफास्ट के अलावा लंच में भी शामिल करते हैं। 

इसे भी पढ़ें: डायरिया से निजात पाने के लिए कारगर हैं ये घरेलू नुस्खे, जल्द मिलेगा आराम

 

  • आयरन से है भरपूर

iron rich food dahi chiwda

अगर आपके शरीर में आयरन की कमी है तो अपनी डाइट में दही-चिवड़ा शामिल करें। विशेषज्ञों के अनुसार गर्भवती महिलाएं भी दही-चिवड़ा खा सकती हैं, ताकी शरीर में आयरन की कमी ना हो। इसके अलावा एनीमिया जैसी बीमारी के खतरे को भी कम कर सकती हैं। हालांकि अगर आपको दही-चिवड़ा खाने पर किसी तरह की समस्या है तो डॉक्टर से जरूर परामर्श लें।

इसे भी पढ़ें: जानिए क्यों सर्दियों में नमक का सेवन करना चाहिए कम, सेहतमंद रहने के लिए फॉलो करें ये जरूरी ट्रिक्स

  • खराब पेट को करें ठीक

दस्त या फिर आपका पेट खराब है तो दही-चिवड़ा खाएँ, लेकिन ध्यान रखें कि दही-चिवड़े के साथ गुड़ ही मिक्स करें चीनी नहीं। इसके लिए चिवड़े को धोकर एक बर्तन में छान लें और उसमें दही और गुड़ को अच्छी तरह मिक्स करें। अब इसमें केले को मैश कर दें और इसे खाएं। हालांकि कई लोगों को चिवड़ा खाने से दस्त होने लगते हैं, ऐसे में अगर आपको यह समस्या हो रही है तो इसे खाने से बचें।

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।