शरीर के सही विकास के लिए खाने में पोषक तत्‍वों का होना बेहद जरूरी है। इसके अभाव से शरीर का सही तरीके से विकास नहीं हो पाता है और आपको कई तरह की बीमारियां घेर लेती है। माना जाता है कि वेजिटेरियन डाइट की तुलना में नॉन-वेजिटेरियन डाइट में पोषक तत्‍व भरपूर मात्रा में होते हैं। इसलिए वेजिटेरियन महिलाओं को प्रोटीन, विटामिन डी और विटामिन बी-12 की सही मात्रा नहीं मिल पाती हैं और उनकी डाइट में पोषण अधूरा रह जाता है। जिससे वह जल्‍दी बीमार होने लगती हैं। लेकिन ऐसी सोच बिल्‍कुल भी सही नहीं है क्‍योंकि कई ऐसे वेजिटेरियन डाइट है जिनसे आप सही अनुपात में इन सभी पोषक तत्‍वों को आसानी से हासिल कर सकती हैं। आइए जानें कौन से ये डाइट। 

विटामिन डी
vitamin d diet in

शरीर को तंदुरूस्त रखने के लिए कैल्शियम और प्रोटीन की तरह विटामिन डी भी अहम भूमिका निभाता है। मसल्‍स और हड्डियों के साथ-साथ इम्‍यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए विटामिन डी बहुत जरूरी होता है, लेकिन माना जाता है कि विटामिन डी आपको वेजिटेरियन डाइट में आसानी से नहीं मिलता है। लेकिन ऐसा नहीं हैं आप अपनी डाइट में सोयाबीन, ओट्स, सोया मिल्‍क, संतरा, फोर्टिफाइड अनाज जैसी फूड्स को शामिल कर इसे आसानी से पा सकती हैं। इसके अलावा विटामिन डी का सबसे अच्‍छा स्रोत सूर्य की रोशनी है। आप हल्‍की-हल्‍की धूप में बैठकर आप इसे आसानी से पा सकती हैं।

Read more: रात को ये 5 चीजें खाने से मक्‍खन की तरह पिघलेगी आपके पेट की चर्बी

प्रोटीन
protien diet inside

प्रोटीन की आवश्यकता हर किसी को होती है। यह भूख को कंट्रोल, स्‍ट्रेस को कम, मसल्‍स की मजबूती, वेट लॉस, इम्‍यूनिटी की मजबूती, हड्डियों, लिंगामेंट्स और टिश्‍यु को हेल्‍दी रखने में सहायक होने के साथ-साथ बाल, नाखुन और स्किन के लिए  भी बहुत जरूरी होता है। इसके अलावा शरीर में पाए जाने वाले केमिकल, जैसे हार्मोन, न्यूरोट्रांसमीटर और एंजाइम में भी प्रोटीन है। यूं तो महिलाओं को रोजाना 46 ग्राम प्रोटीन लेना चाहिए। लेकिन इसकी मात्रा उम्र, हाइट और वजन पर भी निर्भर करता है। सही अनुपात में प्रोटीन का सेवन करने से सेहत अच्छी रहती है। प्रोटीन आपको साबुत अनाज, टोफू और बींस में पाया जाता है। इसके अलावा दही, साबुत दालें, काबुली चने, मटर भी प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं।

विटामिन बी-12
Vitamin B

मेरी तरह शायद ज्‍यादातर महिलाओं का यह मनाना है कि विटामिन बी-12 सिर्फ नॉन-वेजिटेरियन फूड्स से ही पाया जा सकता है। लेकिन ऐसा नहीं हैं आप दही,फोर्टिफाइड अनाज, ड्राई फ्रूट्स, नट्स, पनीर आदि से भी इसे पा सकती हैं। जी हां शरीर में ऐसे लक्षण दिखने जैसे स्मरणशक्ति का कमजोर होना, एनीमिया, नर्व सिस्टम डैमेज होना और थकान आदि शरीर में विटामिन बी 12 की कमी दर्शाता है। विटामिन बी 12 जिसे कोबाल्मिन के नाम से जाना जाता है पानी में घुलनशील विटामिन है जो बॉडी और ब्रेन के लिए जरूरी होता है। विटामिन बी 12 नर्वस सिस्‍टम को सही तरीके से चलाने और रेड ब्‍लड सेल्‍स के निर्माण के लिए जरूरी है। यह विटामिन आपके दिल, मूड, त्वचा, बाल, डाइजेशन और एनर्जी लेवल को सही रखता है। विटामिन बी 12 की कमी से कई तरह के रोगों के होने का खतरा बना रहता है।

Read more: सर्दियों में खाएं ये 5 सब्जियां, रहेंगी हेल्‍दी और सर्दी का एहसास भी होगा कम



अगर आप भी वेजिटेरियन हैं और आपको लगता है कि वेजिटेरियन डाइट से आपको ये सारे पोषक तत्‍व नहीं मिल पाएंगें तो आप गलत हैं आप यहां दिए गए फूड्स को अपनी डाइट में शामिल कर ये सभी पोषक तत्‍व पा सकती हैं।
All Image Courtesy: Shutterstock.com

Recommended Video