फूड पॉइजनिंग एक ऐसी बीमारी है, जो किसी भी मौसम में और किसी को भी हो सकती हैं। इसके कई कारण होते हैं। खाने-पीने की चीजों में लापरवाही , साफ-सफाई में कमी और भूख से अधिक भोजन करने पर आपको फूड पॉइजनिंग का सामना करना पड़ सकता है। अगर आप इससे बचना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले अपने खाने-पीने की आदतों में सुधार लाना होगा। यदि फिर भी आपको फूड पॉइजनिंग हो जाए तो कुछ घरेलू नुस्‍खों को आजमा कर आप इस समस्‍या में राहत पा सकते हैं। 

आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू नुस्‍खे बताएंगे, जो आपको फूड पॉइजनिंग में राहत देने के साथ ही आपके पाचन तंत्र को मजबूत बनाएंगे।

विटामिन-सी युक्‍त भोजन करें 

फायदा- विटामिन-सी युक्‍त भोजन में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्‍सीडेंट्स होते हैं। यह पेट में मौजूद बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करते हैं और पाचन क्रिया को दुरुस्‍त बनाते हैं। 

क्‍या खाएं- 

विटामिन-सी युक्‍त फ्रूट्स जैसे- पपीता, पाइनएप्‍पल, संतरा, मोसंबी, अनानास, स्‍ट्रॉबेरी आदि। आप चाहें तो नींबू का रस पानी में मिला कर भी पी सकती हैं। 

टिप- कोशिश करें कि जिस दिन आपको फूड पॉइजनिंग की दिक्‍कत हुई है, उस दिन किसी भी तरह से ठोस पदार्थ खाने से बचें। जितना हो सके तरल पदार्थ का ही सेवन करें और थोड़ी-थोड़ी देर में पानी पीते रहें। 

इसे जरूर पढ़ें: धूल-मिट्टी से हो जाती है एलर्जी तो अपनाएं ये घरेलू उपचार

ood poisoning treatment at home,

अदरक और शहद का घोल 

फायदा- अदरक में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। अगर आपके पेट में दर्द हो रहा है या बार-बार जी मिचला रहा है तो अदरक का सेवन करने से आपको फायदा मिलेगा। 

सामग्री 

  • 1 इंच अदरक का टुकड़ा 
  • 1 बड़ा चम्‍मच शहद 
  • 1/2 छोटा चम्‍मच काला नमक 
  • 1 छोटा चम्‍मच नींबू का रस 

विधि 

  • अदरक को कद्दूकस करके उसका रस निकाल लें। 
  • अब एक कप पानी में इस रस को मिक्‍स करें। 
  • इस पानी में 1 बड़ा चम्‍मच शहद और 1 छोटा चम्‍मच नींबू का रस मिक्‍स करें। 
  • इस मिश्रण में थोड़ा सा काला नमक डालें और इस पानी को पी जाएं। 

टिप- आप अदरक का रस निकालने की जगह अदरक का छोटा सा टुकड़ा मुंह में डाल सकते हैं और उसे धीरे-धीरे चूसते रहें। इससे भी आपको फायदा मिलेगा। 

इसे जरूर पढ़ें: Expert Tips: बदहजमी के लिए अपनाएं ये 10 रामबाण घरेलू उपचार

Recommended Video


लहसुन 

फायदे- लहसुन एंटीबैक्‍टीरियल होता है। यह खाने का स्‍वाद बढ़ाने के साथ-साथ सेहत को भी दुरुस्‍त रखता है। 

सामग्री 

  • 4-5 कलियां लहसुन 
  • 1 बड़ा चम्‍मच शहद 

विधि 

  • बेस्‍ट होगा कि आप लहसुन की कलियां छीलें और पानी से निगल जाएं, मगर कई लोग ऐसा नहीं कर पाते हैं। 
  • इसलिए आप शहद के साथ लहसुन के छोटे-छोटे टुकड़े काटें और निगल जाएं। 

टिप- लहसुन को चबाकर खाना और भी फायदेमंद होता है। अगर आप सुबह उठ कर सबसे पहले लहसुन चबाकर खाते हैं तो पेट से जुड़ी हर तरह की शिकायत दूर रहेगी। लहसुन दांतों की सेहत के लिए भी अच्‍छा होता है। 

how to treat food poisoning

तुलसी 

फायदा- तुलसी में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं। इसका सेवन करने से पेट का इंफेक्‍शन दूर होता है और दूसरी समस्‍याएं भी कम होती हैं। 

तुलसी का सेवन कैसे करें: 

आयूर्वेदिक एक्सपर्ट डॉक्टर प्रमोद की माने तो, 'तुलसी को कभी भी चबा कर नहीं खाना चाहिए। इस तरह तुलसी को खाने से वह नुकसान करती है क्‍योंकि तुलसी में पारा होता है। तुलसी को उबालकर भी न खाएं। तुलसी की 8 से 10 पत्तियों को पानी से निगल जाएं।'

टिप- पेट की समस्‍या के साथ-साथ तुलसी में मौजूद एंटीबायोटिक प्रॉपर्टीज बुखार और कफ जैसी दिक्‍कतों को ठीक कर देती है। मगर एसिडिटी की परेशानी हो तो तुलसी का सेवन भूल से भी न करें। 

अगली बार अगर घर में किसी को फूड पॉइजनिंग की समस्‍या हो तो इन आसान घरेलू नुस्‍खों को जरूर आजमा कर देखें। साथ ही इस आर्टिकल को शेयर और लाइक करें। इसी तरह और भी घरेलू नुस्‍खे पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिदंगी से। 

Image Credit: Freepik