Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    Expert Tips: बार-बार लीक होती यूरिन को रोकने के लिए अपनाएं ये टिप्स

    अगर खांसते और हंसते हुए यूरिन निकलने की समस्या आपको भी है तो एक्सपर्ट के बताए ये टिप्स जरूर आजमाएं।
    author-profile
    Updated at - 2023-01-24,17:22 IST
    Next
    Article
    urinary leakage  treatment by expert

    प्रेग्नेंसी के बाद अक्सर हम महिलाओं को यूरिन लीकेज की समस्या का सामना करना पड़ता है। यही समस्या उम्र के साथ भी बढ़ जाती है। हालांकि आज यह एक आम समस्या हो गई है। इसे मेडिकल की भाषा में यूरिनरी इनकॉन्टिनेंस कहा जाता है।

    यूरिनरी इनकॉन्टिनेंस को मूत्राशय पर नियंत्रण की हानि भी कहा जाता है। जब आप खांसती या छींकती हैं तो अक्सर यूरिन करने तीव्र इच्छा होती है और कई बार यूरिन लीक भी हो जाता है। 

    यह ऐसी समस्या नहीं है जिसमें आपको बहुत ज्यादा घबराना पड़े। अगर यह आपके साथ होता है तो अपने डॉक्टर से मिलने में संकोच न करें। 

    गायनोकॉलोजिस्ट और लैप्रोस्कोपी सर्जन डॉ. गरिमा श्रीवास्तव अक्सर अपने सोशल मीडिया हैंडल पर वीमेन हेल्थ पर चर्चा करती हैं। उन्होंने अपने ऐसे ही एक पोस्ट के जरिए बताया है कि यह समस्या कई महिलाओं को शर्मिंदा करती हैं। साथ ही उन्होंने इसका सही ट्रीटमेंट भी बताया है। वह कहती हैं, 'अधिकांश लोगों के लिए, सरल जीवन शैली और आहार परिवर्तन या मेडिकेशन से इस समस्या का समाधान हो सकता है।'

    आइए आप और हम इस आर्टिकल में यूरिन लीकेज जैसी समस्या के बारे में और इसके समाधान के बारे में विस्तार से जानें। 

    क्या है यूरिनरी इनकॉन्टिनेंस के कारण?

    causes urinary incontenance

    यह कई कारणों से हो सकता है, जिनमें यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन, वेजाइनल इंफेक्शन या जलन और कब्ज शामिल हैं। कुछ दवाएं इसे कुछ समय तक कंट्रोल करने में आपकी मदद कर सकती हैं। हालांकि यूरिनरी इनकॉन्टिनेंस लंबे समय तक रहता है, तो इसके कमजोर ब्लैडर और पेल्विक फ्लोर मसल का कमोजर होना इसका कारण हो सकती है।

    इसे भी पढ़ें: यूरिन लीकेज की समस्‍या से परेशान हैं तो करें ये 4 योग

    वेट लॉस है समस्या का हल

    महामारी विज्ञान के अध्ययन से पता चला है कि आपका बढ़ा हुआ वजन यूरिनरी इनकॉन्टिनेंस का मुख्य कारण हो सकता है। आपके पेट में अतिरिक्त वजन आपके मूत्राशय पर दबाव डालता है। यह दबाव आपके पेल्विक फ्लोर को कमजोर या क्षतिग्रस्त कर सकता है, इसलिए आपको एक्सेस वेट कम करना चाहिए। वजन कम करने से ब्लैडर और पेल्विक फ्लोर पर दबाव कम हो सकता है, इस प्रकार आपकी समस्या भी हल हो सकती है। 

    पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज करें

    pelvic floor exercise

    एक कमजोर पेल्विक फ्लोर एक ओवरएक्टिव ब्लैडर के लक्षणों में योगदान करता है। ऐसे में आपको बिना किसी चेतावनी के पेशाब करने की जरूरत महसूस होती है। पेल्विक फ्लोर मसल ट्रेनिंग एक्सरसाइज गर्भाशय, मूत्राशय और बड़ी आंत के नीचे की मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद कर सकती है। जिन लोगों को यह समस्या है, उन्हें इस एक्सरसाइज से काफी राहत मिल सकती है। यह वो मसल होती हैं जिसे आप यूरिन करते हुए मिड-स्ट्रीम में टॉयलेट करते हुए रोकते हैं। इसे कीगल एक्सरसाइज कहते हैं। 

    इसे भी पढ़ें: खांसते या छींकते समय लीक हो जाता है यूरिन तो ये 3 एक्‍सरसाइज करें

    लेज़र ट्रीटमेंट

    कई अध्ययनों से पता चलता है कि स्ट्रेस यूरिनरी इनकॉन्टिनेंस के इलाज के लिए लेजर उपचार एक अच्छा और प्रभावी उपचार विकल्प है। कुछ इनकॉन्टिनेंस स्ट्रेस यूरिनरी इनकॉन्टिनेंस द्वारा होता है। लेजर ट्रीटमेंट से इसे ठीक करना आसान है। 

    अगर आप भी इस समस्या से जूझ रही हैं तो पहले अपने डॉक्टर से संपर्क करें और उनके बताए मेडिकेशन से इस समस्या को हल करने की कोशिश करें। 

    हमें उम्मीद है यह जानकारी आपको पसंद आएगी। अगर आपको यह लेख पसंद आया तो इसे लाइक और शेयर करें और ऐसे ही लेख पढ़ने के लिए जुड़े हरजिंदगी के साथ।

    Image Credit: Freepik

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।