यूरिन से जुड़ी समस्याएं किसी को भी हो सकती हैं और किसी भी उम्र में ये प्रभावित कर सकती हैं। अधिकतर हमें लगता है कि ऐसा बच्चों के साथ होता है, लेकिन ये गलतफहमी है और इस तरह के रोग को सामान्य माना जाना भी एक चिंता का विषय है। यूरिन से जुड़ी समस्याएं अधिकतर पुरुषों की तुलना में महिलाओं में ज्यादा देखने को मिलती हैं और उसके कई कारण हो सकते हैं। पहला तो ये कि महिलाओं को हाइजीन की जरूरत बहुत ज्यादा होती है।

अगर यूरिनरी ट्रैक्ट में थोड़ी सी भी परेशानियां हो जाएं तो शरीर के कई जरूरी अंग प्रभावित हो सकते हैं। इससे शरीर का वेस्ट फिल्टर करने और यूरिन करने के प्रोसेस में भी परेशानी होती है। अगर आपने सही समय पर डॉक्टर से संपर्क नहीं किया तो इससे आगे चलकर काफी समस्याएं हो सकती हैं। पर ऐसे कौन से लक्षण होते हैं जिन पर हमें ध्यान देना चाहिए और डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए?

इस मामले में हमने नोएडा मदरहुड अस्पताल की सीनियर कंसल्टेंट गायनेकोलॉजिस्ट और ऑब्सटेट्रिशियन डॉक्टर तनवीर औज्ला से बात की। डॉक्टर तनवीर ने हमें बताया कि आखिर किस तरह की समस्याओं को नजरअंदाज़ करना खतरनाक साबित हो सकता है। 

इसे जरूर पढ़ें- वो बातें जो अपनी गायनेकोलॉजिस्ट से कभी नहीं छुपानी चाहिए

सबसे पहले तो ये जानते हैं कि यूरिन ट्रैक्ट की समस्याएं क्या असर डालती हैं शरीर पर। 

  • इससे शरीर के वेस्ट और अतिरिक्त तरल पदार्थ के बाहर निकलने की प्रक्रिया प्रभावित होती है
  • सही तरह का इलेक्ट्रोलाइट लेवल नहीं बनता
  • ब्लड प्रेशर नियमित करने और हार्मोन्स को बरकरार रखने में दिक्कत होती है 
issues with most women

महिलाओं को होती है इस तरह की यूरिनरी समस्याएं- 

अब बात करते हैं महिलाओं को होने वाली यूरिनरी समस्याओं की जिनके दिखते ही आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए। 

यूरिन कंट्रोल ना होना- 

अगर आपको यूरिन कंट्रोल नहीं होती है और बार-बार यूरिन लीक हो जाती है। खांसी आने, छींकने पर भी ये समस्या होती है और जब आपको यूरिन आती है तो बाथरूम जाने तक का टाइम नहीं मिलता है तो आपको डॉक्टर से चेकअप करवा लेना चाहिए। इस तरह की चीज़ों को लेकर अधिकतर महिलाएं शर्म महसूस करती हैं, लेकिन ये सब डॉक्टर की सलाह पर ठीक हो सकता है। 

कई बार जरूरत से ज्यादा देर तक यूरिन होल्ड करके रखने के कारण भी इस तरह की समस्याएं हो जाती हैं। इस तरह की समस्या किसी इन्फेक्शन के कारण भी होती है और इसे दवाओं से ठीक किया जा सकता है। इसी के साथ, ये बताना भी जरूरी है कि यूरिन को बहुत देर तक कंट्रोल करने से समस्याएं पैदा हो सकती हैं।  

ऐसा क्यों हो सकता है? 

  • हार्मोनल असंतुलन के कारण
  • बहुत समय तक ब्लैडर में यूरिन रोक कर रखना
  • यूरिन की समस्याओं को नजरअंदाज़ करना
  • यूटीआई का इन्फेक्शन बहुत ज्यादा बढ़ जाना
  • किसी बड़ी बीमारी का रिएक्शन
  • उम्र का असर
  • ब्लैडर पर अतिरिक्त प्रेशर पड़ना 

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन- 

महिलाओं को होने वाली सबसे कॉमन समस्याओं में से एक ये भी है। यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन यानी यूटीआई आपके यूरिनरी सिस्टम के किसी भी हिस्से में हो सकता है। इसमें मूत्रमार्ग, किडनी तक पहुंचे वाला पाइप, ब्लैडर, वॉल्वा आदि बहुत कुछ शामिल होता है। अगर आपको इसमें से कोई भी लक्षण दिखता है तो यूटीआई की संभावना है- 

  • बार-बार यूरिन आना
  • बार-बार यूरिन की इच्छा होना, लेकिन यूरिन पास ना होना
  • यूरिन के दौरान जलन होना
  • यूरिन के दौरान पेट या पीठ के निचले हिस्से में दर्द होना
  • दोनों साइड दर्द का महसूस होना
  • यूरिन में खून आना
  • इंटरकोर्स के दौरान जलन होना आदि
  • यूरिन का रंग बदल जाना
  • यूरिन में बदबू आना 

ये सारी समस्याएं अगर समय पर ठीक नहीं की गई तो आगे चलकर बड़ी गंभीर समस्या बन सकती है। ऐसे में डॉक्टर की सलाह पर सही दवा लेना जरूरी है और एंटीबायोटिक का इलाज जरूरी है।  

leakage of urine issues

इसे जरूर पढ़ें- आखिर क्यों बार-बार हो रहा है कमर, पेट और रीढ़ की हड्डी में दर्द, डॉक्टर से जानें पेल्विक पेन का कारण 

Recommended Video

किडनी स्टोन्स की समस्या- 

यूरिन करते समय कभी आपको जलन महसूस हुई हो, लेकिन आपने इसके बारे में ध्यान ना दिया हो ऐसा हो सकता है। कई बार जब यूरिन में छोटे-छोटे कण क्रिस्टल का रूप लेने लगते हैं तो स्टोन्स का बनना शुरू होता है। ये इतने बड़े हो जाते हैं कि यूरिनरी सिस्टम में गंभीर गड़बड़ी पैदा कर सकते हैं। इस तरह की पथरी किडनी से होते हुए यूरिन और ब्लैडर के पाइप से होते हुए यूरिनरी ट्रैक्ट के अलग-अलग हिस्सों तक पहुंच सकती है।  

issues with urinary tract

इससे आपको यूरिन आने में परेशानी हो सकती है, बेहद दर्द महसूस होगा, यूरिन के समय खून आ सकता है, जलन के साथ आपको परेशानी होगी, किडनी स्टोन होने के कारण दर्द बहुत ज्यादा होने लगता है।  

इस तरह की किसी भी समस्या अगर आपको फील हो रही है तो डॉक्टर से संपर्क करें और यूरिन की जांच करवाएं। ये नॉर्मल यूरिन टेस्ट या यूरिन कल्चर या किसी एडवांस टेस्ट से पता चल सकता है, लेकिन आपको डॉक्टर से खुलकर बात करने की बहुत जरूरत होगी।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।